सेना संयुक्त अभ्यास में हिस्सा लेने के लिए सेशेल्स रवाना

नई दिल्ली। भारतीय सेना और सेशेल्स के रक्षा बलों के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘लामितीय 2024’ के दसवें संस्करण में भाग लेने के लिए भारतीय सेना की टुकड़ी रविवार को सेशेल्स के लिए रवाना हो गई। संयुक्त अभ्यास 18 से 27 मार्च तक सेशेल्स में आयोजित किया जाएगा। क्रियोल भाषा में ‘लामितीय’ का अर्थ ‘दोस्ती’ है। यह एक द्विवार्षिक प्रशिक्षण कार्यक्रम है जो 2001 से आयोजित किया जा रहा है।

इस अभ्यास का उद्देश्य शांति स्थापना संचालन पर संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अध्याय सात के तहत अर्ध-शहरी वातावरण में अंतरसंचालनीयता को बढ़ाना है। यह अभ्यास शांति स्थापना अभियानों के दौरान दोनों पक्षों के बीच सहयोग और अंतरसंचालनीयता को बढ़ाएगा। इससे दोनों सेनाओं के बीच कौशल, अनुभव और सर्वश्रेष्ठ प्रथाओं के आदान-प्रदान के अलावा द्विपक्षीय सैन्य संबंधों में मजबूती आएगी।

दोनों पक्ष नई पीढ़ी के उपकरणों और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल और प्रदर्शन करते हुए, अर्ध-शहरी वातावरण में आने वाले संभावित खतरों को बेअसर करने के लिए अच्छी तरह से विकसित सामरिक अभ्यासों की एक श्रृंखला को संयुक्त रूप से प्रशिक्षित, योजना और निष्पादित करेंगे। दस दिनों तक चलने वाले संयुक्त अभ्यास में फील्ड प्रशिक्षण अभ्यास, युद्ध चर्चा, व्याख्यान और प्रदर्शन शामिल होंगे, जो दो दिनों के सत्यापन अभ्यास के साथ समाप्त होगा। यह अभ्यास दोनों सेनाओं के बीच आपसी समझ विकसित करने और एकीकरण को बढ़ाने में योगदान देगा। यह अभ्यास सहयोगात्मक साझेदारी को भी बढ़ावा देगा और दोनों पक्षों के बीच सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने में मदद करेगा। (वार्ता)

Delhi

लोकसभा चुनाव में हार के बाद उत्तर प्रदेश में बढ़ी योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें, नेतृत्व परिवर्तन की लगी अटकलें

नौकरशाही पर निरंकुश और अराजक होने का आरोप नया लुक ब्यूरो, नयी दिल्ली : लोकसभा चुनाव में उत्तरप्रदेश में भाजपा को तगड़ा झटका लगने के बाद अब राज्य की सियासत गर्मा गई है। नतीजों के बाद भाजपा के अंदरखाने की राजनीति में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विरोध के सुर बुंलद हो गए है। योगी […]

Read More
Delhi

बिम्सटेक सम्मेलन: भारत का ‘पड़ोसी प्रथम’ और ‘एक्ट ईस्ट’ नीति पर जोर

नई दिल्ली। बिम्सटेक के विदेश मंत्रियों के दो दिवसीय सम्मेलन का यहां शुक्रवार को समापन हुआ, जिसमें भारत ने अपनी ‘पड़ोसी प्रथम’ और ‘एक्ट ईस्ट’ नीति के साथ ही सागर दृष्टिकोण पर फोकस किया। विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने 7 पड़ोसी देशों के संगठन बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी […]

Read More
Delhi

कोलंबो सुरक्षा सम्मेलन: बांग्लादेश का 5वें सदस्य के रूप में हुआ स्वागत

नई दिल्ली। कोलंबो सुरक्षा सम्मेलन (सीएससी) की 8वीं उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (डीएनएसए) स्तर की बैठक बुधवार को मॉरीशस द्वारा वर्चुअली आयोजित की गई। इस दौरान भारत सहित मॉरीशस, मालदीव और श्रीलंका ने बांग्लादेश का सीएससी के पांचवें सदस्य राष्ट्र के रूप में स्वागत किया। विदेश मंत्रालय के मुताबिक बैठक में सेशेल्स ने पर्यवेक्षक स्टेट […]

Read More