Analysis

Analysis

हिंदुत्व के नाम पर बनी नई सरकार

शिवसेना के दो फाड़ क्या मिलेंगे? महाराष्ट्र की कमान शिंदे के हाथ में भाजपा के देवेंद्र फड़नवीस बने डिप्टीसीएम सत्ता अभी भी शिवसेना के पास ऊद्धव संभालेंगे शिवसेना या एकनाथ? बलराम कुमार मणि त्रिपाठी महाराष्ट्र में एकनाथ संभाजी शिंदे  CM और देवेंद्र फणनवीस ने डिप्टी CM का शपथ लिया बधाई बालासाहब के सुपुत्र ऊद्धव  ठाकरे […]

Read More
Analysis

नोबेल विजेता दिमित्री मुरातोफ़ की अद्भुत पहल

नोबेल पुरस्कार विजेता दिमित्री मुरातोफ़ का नाम सुना होगा आपने, हो सकता है उनको भूल भी गए होंगे। लेकिन दुनिया के जो लोग दिमित्री को भूल गए हों, उन्हें पुनः उनके नाम को जान लेने और उनको हृदय में बैठा लेने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने अपने नोबेल पदक की नीलामी करा दी और उससे […]

Read More
Analysis

महाराष्ट्र मे सत्ता संघर्ष, असली शिवसेना कौन?

हिंदुत्व के नाम पर अलग हुए एकनाथ शिंदे सीएम अपने विधायकों से मिलते नहीं- आरोप बागी विधायकों को  लेकर गौहाटी मे बैठे शिंदे राज्यपाल और कोर्ट पर‌ निगाहें टिकीं क्या सरकार अल्पमत मे आजाएगी? बीजेपी सक्रिय हुआ.. परंतु “वेट एंड सी” की मुद्रा मे बलराम कुमार मणि त्रिपाठी मैं असली शिव सेना कहने वाले दो […]

Read More
Analysis

मोदी का बाल यदि बांका हो जाता तो ?

अरब सागरतटीय मुंबई में जुहू क्षेत्र के तारा रोड पर धन्नासेठों की दैत्याकार कोठियां हैं। वहीं फिल्मी सितारे अमिताभ बच्चन का भी घर है। इस भीमाकाय बंगले से कई गुना प्रशस्त है तीस्ता सीतलवाड का बंगला, जिसका बगीचा ही चार एकड़ वाला है। यही से वंचितों, पीड़ितों, गरीबों, शोषितों, झुग्गी—झोपड़ी वालों के नाम पर विदेशों […]

Read More
Analysis

मोदी का बाल यदि बांका हो जाता तो ?

फर्ज कीजिये यदि उच्चतम न्यायालय (शुक्रवार, 24 जून 2022) को पत्रकार तीस्ता सीतलवाड द्वारा पेश श्रीमती जाकिया अहसान जाफरी की याचिका को स्वीकार कर लेता तो? आरोपी नरेन्द्र दामोदरदास मोदी 2002 के गुजरात दंगों के दोषी माने जाते और दण्ड के भागी बन जाते। अत: उसी दिन राष्ट्रपति पद के लिये द्रौपदी मुर्मू के नामांकन […]

Read More
Analysis

दो टूक : कब सबक लेगा विपक्ष

राजेश श्रीवास्तव लखनऊ।  राष्ट्रपति पद के लिए इस बार देश में पहली बार किसी आदिवासी महिला का नाम आया है। इससे पहले भी देश नये व अभिनव प्रयोग कर चुका है। पहले देश में मुस्लिम राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और दलित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रह चुके हैं। पहले मुस्लिम, फिर दलित और अब आदिवासी। लेकिन […]

Read More
Analysis

महाराष्ट्र मे सत्ता संघर्ष

 उद्धव और शिंदे कानूनी दांवपेंच मे जुटे  इतना आसान नहीं है सत्ता परिवर्तन शिवसेना के अस्तित्व पर पड़ा संकट सरकार ही नहीं पार्टी भी बचाने की शुरु है मुहिम बलराम कुमार मणि त्रिपाठी गोहाटी मे शिवसेना के तीन दर्जन से अधिक विधायकों लेकर उन्हें सहेजते एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र की एक सशक्त पार्टी को दो फाड़ […]

Read More
Analysis

शिवसेना के अस्तिव की लड़ाई

पहलीबार शिवसेना की थी सरकार  अघाड़ी गठबंधन से सीढ़ी का था खेल शिंदे ने सांप-सीढ़ी के खेल मे मौका ढूंढ़ा बीजेपी मौके की तलाश में पंवार का पावर गेम पीक पर बलराम कुमार मणि त्रिपाठी अपने परिवार की लड़ाई कैसी होती है? शिव सेना की मौजूदा हालत देखिये। बाकी पड़ोसी(Antagonist) तमाश बीन हैं। कभी कभी […]

Read More
Analysis

मुम्बई में पर्दे के पीछे किसकी किरदारी ?

आजकल मानवी रुचिवाली (human interest) खबरें कम दिखतीं हैं। शायद इसीलिये कि सियासत रुखी हो गयी है। वर्ना महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी की त्रिकोणीय सरकार की अंतिम लौ पर पाठकों को दिलचस्प किस्से मिल सकते थे। इस एमबीए गठबंधन को भाजपायी नेता महालूट अघाडी नामित कर चुके है। यहां का गृहराज्यमंत्री (अनिल देशमुख) ही उत्कोच का […]

Read More
Analysis

मुखिया पद के लड़ैय्या ! सम्पन्न बनाम सर्वहारा !!

मगर सिन्हा का बाल बांका भी नहीं हो पाया। उनका कम्युनिस्ट मंत्रियों के सामने दावा था कि : ”मैं मिनिस्टर बन सकता हूं। आप मेरी भांति आईएएस नहीं बन सकते।” तो ऐसे हैं जनाब अगले होने वाले राष्ट्रपति महोदय। इस प्रतीक्षारत पन्द्रहवें राष्ट्रपति (यशवंत सिन्हा) की समता करें प्रथम राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद से। वे आधा […]

Read More