कविता: आबाद बालटोली, नवगान माँगती हूँ

अमरनाथ उपाध्याय (कवि उत्तर प्रदेश सरकार में आईएएस अफसर हैं।)
अमरनाथ उपाध्याय

 

उपवनखिले सभी में मुस्कान माँगती हूँ,

आबाद बालटोली,नवगान माँगती हूँ।

सागर से पानी लेके गिरिराज को नहाए,

उमड़घुमड़ के बादल चिरप्यास को बुझाए,

बादल से आज झमझम नहान माँगती हूँ,

आबाद बालटोली,नवगान माँगती हूँ।

 

केसरसुवास लहरों पे झूमझूम आए,

चन्दन की भीनी ख़ुशबू गिरिकन्यका रिझाए,

चन्दनमहक से महका मकान माँगती हूँ,

आबाद बालटोली, नवगान माँगती हूँ।

ये भी पढ़ें

अहंकार के जाने के बाद ही मन में प्रेम के भाव उपजते हैं: ओशो

भट्ठी में आज ख़ंजर तलवार दो गलाए,

हँसियाकुदालहल से लो खेत को बनाए,

खेतों से आज कोठिलाभर धान माँगती हूँ,

आबाद बालटोली,नवगान माँगती हूँ।

 

सूरज के गान गाएँ, चँदा भी याद आए,

चन्दा का शीत भाए, सूरज तपा सिखाए,

सूरज से आज नव नव विहान माँगती हूँ,

आबाद बालटोली नवगान माँगती हूँ।

 

 बगुला भी साथ हंसों के मनहर हो जाए,

हंसों का कुनबा पसरे व हर घर हो जाए

हंसों से आज ऊँची आवाज माँगती हूँ ,

आबाद बालटोली,नवगान माँगती हूँ।

 

गुँजार-कूक-कूजन-रंभाती बोली भाए

परा से बैखरी तक मृदु वात घोली जाए

हर बात में अमर से आह्वान माँगती हूँ।

आबाद बाल टोली नवगान माँगती हूँ।

(कवि उत्तर प्रदेश सरकार में आईएएस अफसर हैं।)

Litreture

लघु-कथाकार नोबेल विजेताः एलिस का चला जाना !

के. विक्रम राव साहित्य के प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार की विजेता एलिस मुनरो का कल (15 मई 2024) कनाडाई नगर ओंतारियों में निधन हो गया। वे 92 वर्ष की थीं। मतिभ्रम से पीड़ित थीं। लघु-कथा लेखिका के रूप में मशहूर एलिस की समता भारतीय लघुकथाकार मुल्कराज आनंद और आरके नारायण से की जाती है। रूसी कथाकार […]

Read More
Litreture

नार्वे के भारतीय लेखक के दो लघु कथाओं की समीक्षा

समीक्षक: डॉ ऋषि कुमार मणि त्रिपाठी प्रेम प्रस्ताव(लघुकथा) कथाकार-सुरेश चंद्र शुक्ल’ शरद आलोक’ समीक्षक- डॉ ऋषि कमार मणि त्रिपाठी लेखक ने ओस्लो के एक चर्च मे मारिया के पति के अंतिम संस्कार के एक दृश्य का वर्णन किया है। किस प्रकार लोग शामिल हुए,फूलों के गुलदस्तों मे संदेश और श्रद्धांजलि देने वालो के नाम लिखे […]

Read More
Litreture

चार लघु कथाओं की समीक्षा

समीक्षक: डॉ ऋषिकुमार मणि त्रिपाठी लेखक सुरेश शुक्ल ‘शरद आलोक’ लघु कथा एक झलक लेखक सुरेश शुक्ल ‘शरद आलोक’ साग्न स्टूडेंट टाउन से मशहूर क्लब सेवेन शहर ओस्लो के मध्य रात ग्यारह बजे आगए। डिस्कोथेक के जीवंन्त संगीत आर्केस्ट्रा सभी नि:शुल्क प्रवेश  मदिरा पीकर अनजान लड़कियो के बांहो मे बाहें डाले रात भर नाचते। मै […]

Read More