साहिबगंज रुबिका पहाड़न हत्याकांड: ग्रामीणों ने की हत्यारों को फांसी देने की मांग,

हत्यारे की मां ने दी थी अपने भाई को हत्या की सुपारी,

रुबिका के शव के किए 50 टुकड़े, सर काटा और इसके भी किए दर्जन भर टुकड़े,


रंजन कुमार सिंह


रांची/साहिबगंज झारखण्ड के साहिबगंज जिले में रुबिका पहाड़िन हत्या से जहां झारखण्ड में आक्रोश है। वहीं इस मामले में एक जानकारी यह भी सामने आई है कि गोडा पहाड़ की रूबिका पहाड़िन उर्फ रेबिका पहाड़िन पहले से शादीशुदा थी। उसकी पाँच साल की एक बेटी भी है। उसकी शादी करीब छह साल पूर्व बंदरकोला स्थित पथरघट्टा गांव के राजीव मालतो से हुई थी। राजीव आटो चलाता है। उसने रूबिका को छोड़ दिया था। रूबिका की पांच साल की बेटी रिया अपनी नानी के घर गोडा पहाड़ पर रहती है। अभी वह बीमार है।

इधर रूबिका की हत्या की सूचना से गांव में मातम है। मृतका की दादी मैसी पहाड़िन की आंखों में रोशनी नहीं है। पोती की हत्या की खबर से वह जोर-जोर से रो रही थी। वह कह रही थी। मृतका की माँ चांदिन पहाड़िन का भी रो-रोकर बुरा हाल है। इस बीच, शिक्षक गंगा सोरेन ने बताया कि उन्होंने बचपन में रूबिका को पढ़ाया था। वह काफी शांत लड़की थी।

गांव में चरम पर है बेरोजगारी

प्रखंड मुख्यालय से यह गांव करीब 19 किलोमीटर दूर है। पहाड़ पर स्थित गांव तक जाने तक रास्ता नहीं है। इस गांव तक पहुंचने के लिए बरमसिया मैदान से करीब एक किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। गांव का विकास नहीं हो सका है। गांव में बेरोजगारी साफ झलक रही थी। गांव की प्रधान मैसी पहाड़िन के मुताबिक गांव की कुल जनसंख्या 250 के आसपास है। कुल 30 घर है। अधिकतर लोग कमाने महानगरों में गए हैं।

गांव में अधिकांश ईसाई धर्म के अनुयायी

गांव की एक अन्य महिला ने बताया कि बीते पांच साल पहले उसका पति कुडो सूरजा दिल्ली कमाने गया जो आज तक नहीं लौटा। दलाल उसे काम के बहाने दिल्ली ले गया। गांव के कई और लोग भी दिल्‍ली कमाने के खातिर गए हैं। गांव के लोगों का मुख्य पेशा मजदूरी एवं जंगल से लकड़ी काट कर बेचना है। गांव के अधिकतर लोग ईसाई धर्म मानते हैं। गांव में स्कूल व एक चर्च भी है।

गांववालों को नहीं मिल रहा सरकारी योजनाओं का लाभ

मृतका की बहन शीला पहाड़िन के अनुसार उन्‍हें डाकिया योजना के तहत 35 किलो अनाज मिल रहा है। हालांकि, गांव के लोगों को बिरसा मुंडा आवास का लाभ नहीं मिल रहा है। मृतका की दादी मैसी पहाड़िन को दिव्यांग पेंशन या वृद्धा पेंशन का लाभ नहीं मिल रहा है। रूबिका की बहन शीला पहाड़िन ने उसकी बहन के हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की है। मृतक के भाई आरसेन मालतो ने मैट्रिक तक की पढ़ाई की है। उसका कहना है कि हमारे परिवार के एक व्यक्ति को सरकार नौकरी दे। इस दौरान गोडा पहाड़ गांव में रूबिका के परिजनों से पूर्व मंत्री डा. लुईस मरांडी ने मुलाकात की है।

रूबिका के पहले पति ने दी सफाई

पथरघट्टा पहाड़ के राजीव पहाड़िया ने बताया कि 2019 में उसका अलगाव रूबिका उर्फ रेबिता से हो गया था।उसने बताया कि रूबिका ने ही उसे छोड़ दिया था। इसके बाद 2020 में उसने बांझी के टंडोला पहाड़ की सरिता पहाड़िन से शादी की। राजीव ने बताया कि इसके बाद रूबिका से उसका किसी प्रकार का संबंध नहीं था। राजीव के पिता बुद्धिनाथ पहाड़िया ने बताया कि उस परिवार से उनका किसी प्रकार का कोई संबंध नहीं है।

CM हेमंत सोरेन का हत्‍याकांड पर तुष्टिकरण वाला बयान

इधर रूबिका हत्‍याकांड पर झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा है, सिर्फ साहिबगंज की बात क्यों करें? क्या दिल्ली, एमपी और यूपी में ऐसी घटनाएं नहीं घटती हैं? समाज में इस तरह की विकृतियां फैल रही हैं, यह चिंता की बात है। ऐसी बातों का लोकतंत्र में जगह नहीं है। इस तरह की घटना को अंजाम देकर बड़ा बनाने का प्रयास हो रहा है, जो गलत है। इसका समाधान कैसे हो, इसका हल सभी को मिलकर निकालना होगा। रुबिका पहाड़िन हत्या मामले में पुलिस ने आरोपी से पूछताछ के आधार पर कई जानकारियां हासिल की हैं। जांच व पूछताछ में पता चला है कि रुबिका की पहले गला दबाकर हत्या की गई और उसके बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए उसके कई टुकड़े किए गए। शव की पहचान न हो सके, इसके लिए सिर को धड़ से अलग करने के बाद सिर के भी कई टुकड़े किए गए। इनमें कुछ टुकड़े पुलिस बरामद कर चुकी है।

रुबिका हत्याकांड मामले पर पुलिस ने 9 लोगों को किया गिरफ्तार

दारोगा सुषमा कुमारी के बयान पर बोरियो थाने में रुबिका से विवाह करने वाले युवक दिलदार अंसारी, उसकी मां मरियम निशा व उसके मामा मोइनुद्दीन के खिलाफ नामजद प्राथमिकी हुई है। पुलिस ने इस मामले में अब तक नौ लोगों को हिरासत में लिया गया है, जबकि दिलदार का मामा माेइनुद्दीन अब भी फरार है। अबतक की जांच में यह बात सामने आई है कि इस घटना को मोइनुद्दीन के दोस्त मैनुल अंसारी के घर में अंजाम दिया गया। इसके लिए दिलदार की माँ ने उसे 20 हजार रुपये दिए थे।

12 सदस्यीय एसआइटी का किया गया गठन

मामले की जांच के लिए 12 सदस्यीय एसआइटी का गठन किया गया है। इस घटना पर पुलिस मुख्यालय गंभीर है, सीआइडी भी जांच में जुटी है। हत्यारे के विरुद्ध फोरेंसिक साक्ष्य जुटाएगी पुलिस। हत्या में प्रयुक्त हथियार का होगा फिंगर प्रिंट मिलान और बरामद शव के टुकड़ों का डीएनए जांच भी।

कुछ ही दिनों में ऐसी नफरत कि कर दिए 50 टुकड़े…!

पुलिस के मुताबिक, आरोपी दिलदार अंसारी और उसके परिवार के सदस्यों का बीते शुक्रवार की रात 22 वर्षीय रुबिका पहाड़िन से झगड़ा हुआ था। गुस्से में आकर आरोपी पति व उसके परिजनों ने उसकी हत्या कर दी और उसके शरीर के कई टुकड़े कर दिए। आरोपी ने करीब एक महीने पहले पहाड़िन से शादी की थी और वह उसकी दूसरी पत्नी थी। बताया जा रहा है कि बोरियो थाना क्षेत्र अंतर्गत मठियो गोडा पहाड़ की रहनेवाली रुबिका पहाड़िन हाट बाजार आती थी। तीन महीने पहले दिलदार की नजर उस पर पड़ी। उसने धीरे-धीरे बात में फंसाकर रुबिका को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया और शादी कर ली।

एक महीने से दोनों साथ में रह रहे थे। दिलदार ने पहली शादी की बात छुपाकर की थी शादी। वहीं जब कुछ दिनों बाद रुबिका को पता चला कि दिलदार की पहले भी एक पत्नी है तो वह दिलदार को डांटने लगी। फिर रोज-रोज दोनों में झगड़ा होने लगा। लेकिन इस झगड़ा को तब और बल मिल गया जब परिवार वालों ने उसका साथ देना शुरू कर दिया। कहा जाता है कि दिलदार के घरवाले रुबिका के साथ शादी करने से खुश नहीं थे। इसलिए घरवालों ने दिलदार के दिमाग में नफरत का जहर भरना शुरू कर दिया। घरवाले रोजाना उसे रुबिका के खिलाफ भड़काते थे। यहां तक कि उसकी पहली पत्नी ने भी विवाद करना शुरू कर दिया था। जिसके चलते दिलदार दबाव में आने लगा। इसके बाद दिलदार के परिवारवालों ने योजना बना कर रुबिका की हत्या कर दी और शव के 50 टुकड़े कर इधर-उधर फेंक दिया।

रुबिका की हत्या के पीछे कई शैतानी चेहरे, सास ने दी सुपारी

पुलिस सूत्रों की माने तो, मृतका की सास मरियम खातून ने रुबिका की हत्या के लिए अपने भाई यानी दिलदार के मामा मोइनुल हक को 20 हजार की सुपारी दी थी। मरियम ने बीते शुक्रवार को उसे बेला टोला स्थित अपने निजी आवास से अपने भाई मोइनुल हक के बोरियो मांझ टोला स्थित आवास पहुंचाया था। जहां उसकी हत्या कर शव को बोरे में भर कर फेंक दिया गया।

 

दिलदार के परिवार के कई सदस्य हिरासत में,

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मृतका के पति दिलदार अंसारी, ससुर मुस्तकिम अंसारी, सास मरियम खातून, दिलदार की पहली पत्नी गुलेरा, दिलदार के भाई महताब व आमिर और बहन शरेजा खातून को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

शरीर के कटे अंग को कुत्ते घसीट रहे थे

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार महिला का क्षत-विक्षत शव शनिवार की शाम छह बजे बोरियो थाना क्षेत्र के संथाली मोमिन टोला स्थित एक आंगनबाड़ी केंद्र के पीछे 12 टुकड़ों में बरामद किया गया। बताया गया है कि शरीर के कटे अंग को कुत्ते घसीट रहे थे, तब जाकर मामले का खुलासा हुआ और पुलिस को सूचना दी गई। फिर पुलिस की टीम भारी संख्या में दल बल के साथ पहुंची। इस दौरान डॉग स्क्वायड भी साथ में था।

Bihar Jharkhand

राजद ने नीतीश विरोधी बयानों के लिए पार्टी विधायक सुधाकर सिंह को जारी किया नोटिस

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ लगातार बयान देने के कारण राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के निर्देश पर विधायक और पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह को पार्टी ने आज कारण बताओ नोटिस जारी किया है। राजद के प्रधान महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी के हस्ताक्षर से बुधवार को मीडिया में जारी […]

Read More
Bihar Jharkhand

रोहतास में ट्रक और कार की टक्कर में दो लोगों की मौत, तीन घायल

डेहरी आन सोन। बिहार में रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र में बुधवार की सुबह ट्रक और कार के बीच हुयी टक्कर में दो लोगों की मौत हो गयी तथा तीन अन्य घायल हो गये। पुलिस अधीक्षक विनीत कुमार ने यहां बताया कि सबराबाद गांव के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो पर आज सुबह कार […]

Read More
Jharkhand Uttarakhand

Launched in Dehradun : उत्तराखंड में जियो ने शुरू की 5G सेवा, CM धामी ने कहा-राज्य में डिजिटल के क्षेत्र में आएगा नया बदलाव

उत्तराखंड में आखिरकार जियो की 5G सेवा शुरू हो गई है। कई दिनों से देवभूमि में 5G सर्विस शुरू होने के लिए लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। उत्तराखंड में जियो पहली कंपनी है, जिसने 5G की सेवा शुरू की है। कंपनी ने बुधवार को राजधानी देहरादून में 5G सर्विस लॉन्च की है। 5G […]

Read More