दूसरे चरण में भी BJP और NDA को मिलेगी भारी बढ़त

  • सभी 8 लोकसभा सीटों पर भाजपा और घटक दल के उम्मीदवारों की दावेदारी मजबूत, विपक्ष होगा चारों खाने चित
  • योगी सरकार ने 2017 से अब तक राज्य और केंद्र की योजनाओं का बिना भेदभाव लोगों तक पहुंचाया है लाभ
  • दूसरे चरण की सभी लोकसभा सीटों पर सीएम योगी कर चुके हैं तूफानी रैलियां, अधिक से अधिक मतदान की अपील

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में भी भाजपा और एनडीए को यूपी में बड़ी बढ़त की उम्मीद है। पहले चरण की तरह ही इस चरण में भी शुक्रवार को प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव संपन्न होने जा रहे हैं। पश्चिम उत्तर प्रदेश की इन 8 सीटों (अमरोहा, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा) पर एनडीए की ओर से भाजपा के 7 और आरएलडी का एक (बागपत) प्रत्याशी मैदान में है। इन उम्मीदवारों के लिए पीएम मोदी और सीएम योगी द्वारा जमकर चुनाव प्रचार किया गया है। इन रैलियों व जनसभाओं में सीएम योगी ने राज्य में केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ पा रहे लोगों से बढ़चढ़कर मतदान की अपील की है। पीएम किसान सम्मान निधि हो या गन्ना मूल्य भुगतान, पीएम स्वनिधि योजना से लेकर उज्ज्वला योजना तक दर्जनों योजनाएं धरातल पर उतरीं, जिनका लाभ सीधा आम लोगों तक पहुंच रहा है। बिना लीकेज जन-जन तक पहुंची योजनाओं के लाभार्थियों का रुझान भी एनडीए की ओर है। शुक्रवार को यह रुझान ईवीएम पर वोट की चोट में तब्दील होगा।

करीब 11.5 लाख शौचालयों का कराया गया निर्माण

यदि सिर्फ इन 8 लोकसभा सीटों की बात करें तो किसानों के लिए शुरू की गई योजनाओं का बड़ी संख्या में लोगों को लाभ मिला है। इसके अंतर्गत पीएम किसान सम्मान निधि के तहत यहां 17,76,105 किसानों के खातों में धनराशि हस्तांतरित की गई है। वहीं, मथुरा को छोड़कर बाकी 7 लोकसभा सीटों पर किसानों को 58,576.94 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है। मथुरा में चीनी पेराई 2008 से बंद है। प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत इन 8 सीटों पर कुल 1,30,811 आवास वितरित किए गए हैं। इसमें बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री आवास भी शामिल हैं। यही नहीं,इन 8 लोकसभा क्षेत्रों में कुल मिलाकर 11,44,391 शौचालयों का निर्माण कराया गया है, जिनमें व्यक्तिगत और सामुदायिक शौचालय सम्मिलित हैं।

3 लाख से ज्यादा महिलाओं को निराश्रित पेंशन का लाभ

प्रदेश में योगी सरकार ने निराश्रित, वृद्धावस्था और दिव्यांग पेंशन के माध्यम से लोगों को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया है। इसी क्रम में इन 8 सीटों पर 3,04,794 महिलाओं को निराश्रित महिला पेंशन का लाभ मिल रहा है, जिसमें एक हजार रुपए प्रतिमाह प्रदान किया जा रहा है। इसी तरह, 4,31,116 वृद्धजनों को सरकार की ओर से इन सीटों पर वृद्धावस्था पेंशन का लाभ भी मिल रहा है। वहीं 90,420 दिव्यांगों को दिव्यांगजन पेंशन प्रदान की जा रही है। इसके अतिरिक्त इन 8 लोकसभा सीटों पर 23,545 बेटियों का सामूहिक विवाह भी संपन्न कराया गया है। इसी तरह, 1,58,447 बेटियों को कन्या सुमंगला योजना का लाभ मिला है, जिसके तहत बेटी के जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई तक विभिन्न चरणो में धनराशि प्रदान की जाती है। अभी तक इस योजना के तहत कुल 15 हजार रुपए मिलते थे, जिसे हाल ही में योगी सरकार ने बढ़ाकर 25 हजार रुपए कर दिया है।

45.5 लाख से ज्यादा को मिल रहा मुफ्त राशन

इसके अतिरिक्त इन 8 सीटों पर योगी सरकार के प्रयासों से केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री जनधन खाता योजना के अंतर्गत 65,13,996 लोगों के बैंक खाते खुलवाने में सफलता मिली है। वहीं, 45,52,134 लोगों के आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। इसी तरह इन 8 लोकसभा क्षेत्रों में 45,53,989 राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है। साथ ही, पीएम स्वनिधि योजना के अंतर्गत 2,32,981 रेहड़ी पटरी वालों को बिना गारंटी लोन की सुविधा प्रदान की गई है। इसके अतिरिक्त, योगी सरकार ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत महिलाओं को 12,02,163 मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए हैं।

Loksabha Ran

संविधान रहेगा तो देश बचेगा : सुप्रिया श्रीनेत

सखी सैयां त नईखे कामत है महगंगाई डायन खाए जात है…..सुप्रिया श्रीनेत सुमित मोहन महराजगंज। कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता व मीडिया सेल की चेयर पर्सन सुप्रिया श्रीनेत ने बुधवार को महराजगंज लोकसभा क्षेत्र के बृजमनगंज कस्बे में एक जनसभा को संबोधित किया।उन्होंने कहा कि मतदाताओं के अपार जन समर्थन से 4 जून को भाजपा […]

Read More
Loksabha Ran

देवरिया लोकसभा: पहले कलराज फिर रमापति ने खिलाया कमल, अब हैट्रिककी जिम्मेदारी शशांक की

देवरिया जनपद कभी गन्ना की खेती के लिए जाना जाता था यहाँ 14 चीनी मिले हुआ करती थी। उस समय देवरिया और कुशीनगर एक ही जिला हुआ करता था। देवरिया जिला सन 199० के पहले सोशलिस्टो और और कांग्रेसियों का गढ़ रहा है।199० के बाद कांग्रेस का इस जिले से लगभग सफाया हो गया और […]

Read More
Loksabha Ran

 घोसी : कभी वामपंथ का रही गढ़,एक बार ही खिला कमल, क्या मुख्तार की मौत से बदलेगा समीकरण?

घोसी लोकसभा सीट पर चुनावी माहौल गरमा गया है। महज एक बार इस सीट पर भाजपा को जीत मिल सकी है। 2०14 में मोदी लहर में यह सीट भाजपा के पाले में गई थी। 2०19 में एक बार फिर इस सीट पर पार्टी को हार मिली। इस बार गठबंधन के तहत यह सीट सुभासपा के […]

Read More