प्रयागराज: उमेश पाल के घर बम चलने की अफवाह से इलाके में सनसनी

  • चार संदिग्ध शख्स पुलिस हिरासत में
  • घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद

ए अहमद सौदागर

लखनऊ। यूपी सहित अन्य राज्यों में कई सालों से आतंक का पर्याय बने माफिया अतीक अहमद व उसके परिवार की साजिश से करीब एक साल पहले मौत के घाट उतारे गए अधिवक्ता उमेश पाल के घर पर मंगलवार को बम फेंके जाने की सूचना ने इलाके में सनसनी फ़ैल गई। उमेश पाल के घरवालों वालों ने देसी बम के हमले का शक जताते हुए पुलिस को जानकारी दी और साथ ही एक सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया, लेकिन पुलिस की जांच में बम फेंके जाने के आरोप गलत पाए गए। पुलिस अफसरों का कहना है कि बमबाजी जैसी कोई वारदात नहीं हुई है। बताया जा रहा है कि उमेश पाल के घर के करीब कूड़े के ढेर में आग लगी थी। किसी ने शरारती तत्वों द्वारा कोई ज्वलनशील पदार्थ डाल दिया था। इसी का धुंआ उमेश पाल के घर की गौशाला में देखा गया था. पुलिस ने शरारत करने के आरोप में चार लोगों को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि चारों लोग उमेश पाल के पड़ोसी हैं। पुलिस इस मामले में उमेश पाल के परिवार की तहरीर के आधार पर मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

बताया जा रहा है कि यह मामला उमेश पाल के सुलेम सराय स्थित घर का है। आरोप है कि घर के एक हिस्से में, जहां पर जानवर बांधे जाते हैं, वहां दोपहर करीब तीन बजे कुछ धुंआ निकल रहा था। घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी यह धुंआ कैद हुआ। परिवार वालों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और साथ ही तकरीबन चार घंटे का सीसीटीवी फुटेज मीडिया को जारी करते हुए बम फेंके जाने का शक जताया। पुलिस मामले की गहनता से छानबीन कर रही है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने बमबाजी की घटना से साफ इंकार कर रही है। पुलिस के मुताबिक उमेश पाल के घर के पास रहने वाले संजय पटेल से कुछ विवाद चल रहा है। उमेश पाल के परिवार की शिकायत पर संजय पटेल और उसके तीन सहयोगियों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस अफसरों ने यह भी जानकारी दी है कि उमेश पाल और दो सरकारी गनर शूटआउट के बाद परिवार वालों की सुरक्षा में एक कंपनी पीएसी तैनात की गई है। जया पाल और उनके भतीजे को चार-चार गनर दिए गए हैं. पुलिस के मुताबिक उमेश पाल के परिवार की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

बदमाशों ने उमेश पाल को उतारा था मौत के घाट

सनद रहे कि पिछले साल 24 फरवरी में हुई घटना में उमेश पाल और उनकी सुरक्षा में तैनात दो सरकारी गनर को मौत की नींद सुला दिया गया था। इस मामले में माफिया अतीक अहमद और उसके परिवार पर हत्या किए जाने का आरोप लगा था। अतीक अहमद का एक बेटा असद अहमद सीसीटीवी फुटेज में उमेश पाल पर गोलियां बरसाते हुए भी नजर आया था। इसी मामले में कस्टडी में अतीक और उसका भाई अशरफ मौत के घाट उतारे गए थे। घटना में शामिल अतीक अहमद का एक बेटा पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था।

Raj Dharm UP

राजधानी में बदमाश बेखौफ, अपराध बेकाबू-लखनऊ के गाजीपुर में पूर्व आईएएस की पत्नी की हत्या

लूट के विरोध में महिला की हत्या किए जाने की आंशका  घर में घुसकर बेरहमी से किया कत्ल, गले पर कसाव के निशान पति के घर लौटने पर हुई घटना की जानकारी, इलाके में सनसनी, पुलिस मौके पर ए अहमद सौदागर लखनऊ। राजधानी में बुजुर्ग अपने ही घरों में महफूज नहीं हैं।बदमाशों ने एक बार […]

Read More
Raj Dharm UP

अमीनाबाद में व्यापारियों ने किया योगी का स्वागत

लखनऊ। अमीनाबाद सभा में पहुंचे योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करते अमीनाबाद संघर्ष समिति के सदस्य अमीनाबाद में राजनाथ सिंह के समर्थन में सभा में शामिल हुए उतर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ  से मिले अमीनाबाद संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के अनुसार योगी आदित्यनाथ से मिलकर पदाधिकारियों ने खुशी जाहिर की व अमीनाबाद आने पर […]

Read More
Raj Dharm UP

चार जून की प्रतीक्षा, माफिया की उसके बाद नहीं होगी रक्षा

सीएम योगी का बड़ा ऐलान, कहा- चार जून के बाद माफिया मुक्त राज्य घोषित होगा उत्तर प्रदेश अब मटियामेट करने की कसम खा ली है यूपी के सीएम ने, जो कहते हैं वो कर दिखाते हैं योगी ए. अहमद सौदागर लखनऊ। योगी आदित्यनाथ पर विपक्षी दल लगातार आरोप लगाते रहे कि उन्होंने अपने सजातीय अपराधियों […]

Read More