राष्ट्रपति व PM को मेल भेजकर की जा रही पुरानी पेंशन बहाली की मांग

  • अभियान में अर्द्धसैनिक बलों समेत देश के शिक्षक, कर्मचारी शामिल

लखनऊ। NMOPS  के राष्ट्रीय अध्यक्ष व अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बन्धु ने बताया कि पूरे देश मे 19 से 25 फरवरी तक ईमेल के माध्यम से राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से अर्द्धसैनिक बलों समेत देश के शिक्षकों, कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली की मांग कर रहे हैं। प्रत्येक राज्य से प्रतिदिन हजारो की संख्या में ईमेल कर पुरानी पेंशन बहाली की मांग की जा रही है।

बन्धु ने कहा कि आज देश का अर्द्धसैनिक बल का जवान प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति से ईमेल के माध्यम से पुरानी पेंशन बहाली की गुहार लगा रहा है। इसी प्रकार देश का पेंशनविहीन शिक्षक व कर्मचारी भी पेंशन बहाली की लोकसभा चुनाव से पूर्व बहाली की उम्मीद कर रहा है क्योंकि एनपीएस में मिलने वाले ₹700, ₹800 व ₹1200 से बुढ़ापे में उसका गुजारा करना अत्यंत मुश्किल हो रहा है। ईमेल अभियान देश के कन्याकुमारी से कश्मीर तक, उत्तर से दक्षिण तथा पूरब से पश्चिम तक सभी कर्मचारियों में काफी उत्साह देखा जा रहा है और सभी लोग ईमेल कर रहे हैं और औरों से करवा भी रहे। आंदोलन के कई चरण होते हैं समय-समय पर अलग-अलग माध्यम से अपने मुद्दे को शासन – प्रशासन के सामने रखा जाता है।

राष्ट्रीय महासचिव प्रज्ञा ने कहा कि भारत सरकार को अब पुरानी पेंशन बहाली पर सकारात्मक रुख अपनाना होगा क्योकि कोविड में इन्ही सरकारी कर्मचारियों ने अपनी जान की बाजी लगाकर देशवासियों की सेवा की। राष्ट्रीय सचिव व अटेवा के प्रदेश महामंत्री डॉ नीरज पति त्रिपाठी ने कहा कि अब कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के लिये आर-पार की लड़ाई के लिये कमर कस चुका है। इसलिये पुरानी पेंशन बहाल होने से कोई नही रोक सकता। राष्ट्रीय प्रवक्ता NMOPS  व अटेवा के प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ राजेश कुमार ने कहा कि पुरानी पेंशन सरकारी कर्मचारियों की बुढ़ापे की लाठी है इसलिए सरकार सामाजिक सुरक्षा रूपी इस लाठी को मजबूत करने के लिए पुरानी पेंशन बहाली का निर्णय लें।

Raj Dharm UP

सुविधा शुल्क के आगे आईजी जेल के आदेश का कोई मायने नहीं

कैदी स्थानांतरण में भी अफसरों ने की जमकर वसूली! बागपत जेल में कैदियों के स्थानांतरण से हुआ बड़ा खुलासा राकेश यादव लखनऊ । डीजी पुलिस/आईजी जेल का आदेश जेल अधिकारियों के लिए कोई मायने नहीं रखता है। यही वजह है कि कमाई की खातिर जेल अफसर मुखिया के आदेश को दरकिनार कैदियों को स्थानांतरित करने […]

Read More
National Raj Dharm UP

यूपी के 16 हजार मदरसों से संकट टला

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी मदरसा शिक्षा अधिनियम पर HC के फैसले पर लगाई रोक लखनऊ। देश की सर्वोच्च अदालत ने ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के उस आदेश पर शुक्रवार को अंतरिम रोक लगा दी जिसमें उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड अधिनियम 2004 को ‘असंवैधानिक’ और धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत का उल्लंघन करने वाला करार दिया गया था। […]

Read More
Analysis Politics Raj Dharm UP

जौनपुरः BJP के लिए सबसे कठिन डगर, यहां से पं. दीनदयाल उपाध्याय भी चुनाव गए थे हार

आजादी के बाद पहली बार जौनपुर से चुनाव से गायब रहेगा कांग्रेस का ‘हाथ’, छह बार जीत चुकी है कांग्रेस चार बार जौनपुर से जीत पाने वाली BJP का प्रत्याशी अकेले मैदान में, मछलीशहर अभी घोषित नहीं विपक्ष ने नहीं खोला है पत्ता, SP के साथ-साथ BSP ने भी नहीं उतारा है अपना प्रत्याशी, चर्चाएं […]

Read More