ग्लोबल रीच वाले सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के साथ पर्यटन विभाग ने शुरू की तैयारी

  • योगी सरकार सोशल मीडिया कॉन्क्लेव से करेगी महाकुंभ की ब्रांडिंग
  • CM योगी के निर्देश पर पर्यटन विभाग ने तैयार किया रोड मैप
  • महाकुंभ के आयोजन को देखते हुए स्वच्छता अभियान के लिए नगर निगम भी ले रहा है सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर की मदद

प्रयागराज । योगी सरकार प्रयागराज में अगले साल होने वाले महाकुंभ की ग्लोबल ब्रांडिंग करने और उसे समावेशी रूप देने के लिए बड़े फैसले ले रही है। सरकार महाकुंभ से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिए सरकारी एजेंसियों के साथ गैर-सरकारी एजेंसियों का भी सहयोगी लेगी। इसके लिए सोशल मीडिया कॉन्क्लेव का आयोजन किया जाएगा।

महाकुम्भ से पहले समावेशी महाकुम्भ का आयोजन

महाकुम्भ के आयोजन में अभी तक सरकारी एजेंसियों के विचार ही समाहित होते थे लेकिन अब योगी सरकार इससे एक कदम आगे जाकर गैर सरकारी एजेंसियों को भी इसमें शामिल करना चाहती है। प्रयागराज की क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अपराजिता सिंह बताती हैं कि पर्यटन विभाग अधिक से अधिक लोगों को महाकुम्भ से जोड़ना चाहता है। उनका यह भी कहना है कि हर किसी के पास एक बहुत बेहतर आइडिया होता है और हो सकता है कि वह अब तक सरकार तक न पहुंच पाया हो। ऐसे लोगों के महाकुम्भ से जुड़े आइडिया को सरकार के साथ साझा करने के लिए पर्यटन विभाग एक प्रतियोगिता का आयोजन करेगा जिसमें लोगों के कुम्भ के आयोजन से जुड़े आईडिया मांगे जायेंगे। इस प्रतियोगिता में सबसे अलग आइडिया देने वाले लोगों को पर्यटन विभाग प्रोत्साहित करेगा। उनका यह आइडिया महाकुम्भ के आयोजन का अंग भी बनेगा।

ग्लोबल रीच बढ़ाने के लिए “सोशल मीडिया कॉन्क्लेव ” का होगा आयोजन

महाकुम्भ के आयोजन से पूर्व प्रयागराज में पर्यटन स्थलों की ब्रांडिंग और पब्लिसिटी के लिए पर्यटन विभाग कई तरह की तैयारियां कर रहा है । इसके लिए “सोशल मीडिया कॉन्क्लेव” का आयोजन किया जा रहा है । मार्च में दो दिवसीय कॉन्क्लेव का आयोजन किया जाएगा, जिसके लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। इसमें सबसे पहले स्थानीय सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के साथ कॉन्क्लेव किया जाएगा, जिसके बाद ग्लोबल रीच वाले इन्फ्लुएंसर के साथ कॉन्क्लेव होगा। साथ ही देश भर के पर्यटन केन्द्रों से टूर ऑपरेटरों को भी इसमें आमंत्रित किया जा रहा है। उनसे महाकुम्भ में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए उनके विचार मांगे जायेंगे। होटल उद्यमियों को भी इसमें आमंत्रित किया गया है। इन सभी आगंतुकों से एक तरफ जहां पर्यटकों के लिए आवश्यक सुविधाओं के प्रस्ताव मांगे जायेंगे, वहीं इसकी आपूर्ति में अभी तक की कमियों की समीक्षा भी की जायगी ।

महाकुंभ से पहले सोशल मीडिया के जरिये शहर को दिलाएंगे स्वच्छता की बेहतर रेटिंग

जन सरोकार से जुड़े अभियानों की पहुंच जन-जन तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया की उपयोगिता सर्व विदित है । स्वच्छ सर्वेक्षण में प्रयागराज की स्थिति में सुधार की बात हो या फिर अगले वर्ष महाकुम्भ से पहले शहर की स्वच्छता को दुरुस्त करना, इसके लिए स्थानीय नागरिकों को भी जागरूक करना आवश्यक है। नगर निगम प्रयागराज के नगर आयुक्त चंद्र मोहन गर्ग बताते हैं कि इसी आवश्यकता को देखते हुए नगर निगम स्वच्छता अभियान के लिए सोशल मीडिया का सहयोग लिया जा रहा है। दो दर्जन से अधिक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के साथ उनकी एक बैठक भी हो चुकी है, जिसके बाद शहरवासी जल्द ही सोशल साइट्स पर शहरी गतिविधियों के साथ शहर की सफाई व्यवस्था को देख सकेंगे। सोशल मीडिया साइट्स पर सक्रिय युवा शहरवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करेंगे। रील और सोशल साइट्स के अन्य माध्यमों से शहरवासियों को जागरूक किया जाएगा ताकि महाकुंभ के पहले शहर की स्वच्छता में रेटिंग बेहतर किया जा सके।

Raj Dharm UP

महराजगंज में विपक्ष पर गरजीं वित्तमंत्री निर्मला, कहा-‘टूट चुका है इंडिया गठबंधन’

किसानों के दिलों तक पहुँच चुके हैं प्रधानमंत्री मोदी, विपक्ष केवल रोना रो रहा… उमेश चन्द्र त्रिपाठी महराजगंज। केंद्र में वित्त राज्य मंत्री और कई बार के सांसद पंकज चौधरी के इलाक़े में उनकी सीनियर और देश की वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि BJP की सरकार पिछले […]

Read More
Raj Dharm UP

परिवारवादी दल दलित, पिछड़ों को आगे नहीं बढ़ना देना चाहते : मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि देश को जाति के नाम पर उकसाने और लड़ाने में भरोसा रखने वाले इंडी गठबंधन के लोग दलितों वंचितों के लिए हर योजना का विरोध करते हैं और जाति के नाम पर अपने परिवार के स्वार्थ के लिए राजनीति करते हैं। सीर गोवर्धनपुर स्थित गुरु रविदास […]

Read More
Raj Dharm UP

काशी की तर्ज पर सीरगोवर्धन का दिख रहा नया स्वरूप : योगी

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सीरगोवर्धनपुर में नया स्वरूप काशी की तर्ज पर देखने को मिलता है। संत रविदास की 647वीं जयंती समारोह को संबोधित करते हुये उन्होने कहा कि दस वर्ष पहले यह कल्पना थी, विवाद थे। भव्य समागम की जगह नहीं मिल पाती थी। सड़कें संकरी थी, लेकिन […]

Read More