UPCIDA के 84 इंडस्ट्रीयल प्लॉट्स की मेगा ई-नीलामी कराएगी योगी सरकार

  • 2426.97 स्क्वेयर मीटर से लेकर 53563 स्क्वेयर मीटर तक के औद्योगिक भूखंडों की ई-निविदा का मार्ग होगा प्रशस्त

लखनऊ । उत्तर प्रदेश को विकास के नए सोपान की ओर अग्रसर कर रही योगी सरकार प्रदेश में औद्योगिक विकास को गति देने पर सबसे ज्यादा फोकस कर रही है। इस क्रम में, उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) द्वारा विभिन्न केटेगरी इंडस्ट्रीयल प्लॉट्स की आवंटन प्रक्रिया सुनिश्चित करते हुए 84 भूखंडों के आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि 29 दिसंबर 2023 को यूपीसीडा द्वारा 106 औद्योगिक, 13 व्यवसायिक व 16 बिल्ड अप हॉल फ्लैटेड फैक्टरी भूखंडों की प्रक्रिया शुरू की थी।

इस प्रक्रिया में शेष रह गए 84 औद्योगिक भूखंडों की ई-निविदा का मार्ग प्रशस्त कर दिया है। इस क्रम में, यूपीसीडा द्वारा जिन भूखंडों की नीलामी की प्रक्रिया शुरू की गई है उनमें उन्नाव ट्रांस गंगा सिटी, कानपुर, प्रयागराज, लखनऊ, झांसी, अयोध्या, आगरा, हरदोई, वाराणसी समेत कई प्रमुख जिलों के औद्योगिक क्षेत्रों में भूखंडों का मार्ग प्रशस्त होगा। इस ई-निविदा प्रक्रिया को यूपीसीडा द्वारा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ई-टेंडरिंग पोर्टल के जरिए पूरा किया जाएगा।

इंडस्ट्रियल, वेयरहाउसिंग व फ्लैटेड फैक्टरी हॉल के तौर पर होगा भूखंडों का इस्तेमाल

योगी सरकार के विजन के अनुसार, जिन भूखंडों के आवंटन के लिए नीलामी प्रक्रिया को UPCIDA  द्वारा शुरू किया गया है उनकी रिजर्व्ड प्राइस, कुल एरिया,EMD प्राइज समेत तमाम जानकारियां भी साझा की गई हैं। इसमें से सबसे छोटा भूखंड 2426.97 स्क्वेयर मीटर तो सबसे बड़ा प्लॉट 53563 स्क्वेयर मीटर का है। इसमें जिस भूखंड को सर्वाधिक कीमती माना गया है उसकी रिजर्व्ड प्राइस 64.69 करोड़ रुपए रखी गई है। वहीं, बिल्ड अप हॉल फ्लैटेज फैक्ट्रीज के लिए रिजर्व्ड प्लॉट्स को 50 हजार रुपए के अर्नेस्ट मनी डिपॉजिट (EMD) पर प्राप्त किया जा सकेगा। इन भूखंडों में इंडस्ट्रियल, वेयरहाउसिंग, कमर्शियल व फ्लैटेड फैक्टरी जैसी गतिविधियों का संचालन किया जा सकेगा।

14 फरवरी है आवेदन का अंतिम दिन

मेगा ई-ऑक्शन के अंतर्गत आवेदन करने की अंतिम तिथि 14 फरवरी निर्धारित की गई है। इस ई-निविदा प्रक्रिया को यूपीसीडा द्वारा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के सहयोग से पूरा किया जाएगा। SBI के ई-टेंडर पोर्टल के जरिए इस प्रक्रिया को पूर्ण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में विकसित हो रहे औद्योगिक परिवेश को गति देने में UPCIDA अहम भूमिका निभा रहा है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 19 फरवरी को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीसी) का आयोजन किया जा रहा है उसमें यूपीसीडा द्वारा 1.4 लाख करोड़ के बिजनेस इंटेंड्स को धरातल पर उतारने की अंतिम प्रक्रिया को भी पूर्ण करने पर फोकस किया जा रहा है।

Raj Dharm UP

महराजगंज में विपक्ष पर गरजीं वित्तमंत्री निर्मला, कहा-‘टूट चुका है इंडिया गठबंधन’

किसानों के दिलों तक पहुँच चुके हैं प्रधानमंत्री मोदी, विपक्ष केवल रोना रो रहा… उमेश चन्द्र त्रिपाठी महराजगंज। केंद्र में वित्त राज्य मंत्री और कई बार के सांसद पंकज चौधरी के इलाक़े में उनकी सीनियर और देश की वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि BJP की सरकार पिछले […]

Read More
Raj Dharm UP

परिवारवादी दल दलित, पिछड़ों को आगे नहीं बढ़ना देना चाहते : मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि देश को जाति के नाम पर उकसाने और लड़ाने में भरोसा रखने वाले इंडी गठबंधन के लोग दलितों वंचितों के लिए हर योजना का विरोध करते हैं और जाति के नाम पर अपने परिवार के स्वार्थ के लिए राजनीति करते हैं। सीर गोवर्धनपुर स्थित गुरु रविदास […]

Read More
Raj Dharm UP

काशी की तर्ज पर सीरगोवर्धन का दिख रहा नया स्वरूप : योगी

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सीरगोवर्धनपुर में नया स्वरूप काशी की तर्ज पर देखने को मिलता है। संत रविदास की 647वीं जयंती समारोह को संबोधित करते हुये उन्होने कहा कि दस वर्ष पहले यह कल्पना थी, विवाद थे। भव्य समागम की जगह नहीं मिल पाती थी। सड़कें संकरी थी, लेकिन […]

Read More