साहस, पराक्रम और नकारात्मक शक्तियों से बचने के लिए घर के इस दिशा में लगाएं शमी

  • शमी का पौधा आप ऐसे लगाएंगे और रखेंगे ध्यान तो जीवन में आएगी सुख, शांति और समृद्धि
  • क्या शमी के पौधे को दक्षिण दिशा में रखा जा सकता है?

ज्योतिषाचार्य डॉ. उमाशंकर मिश्र

वास्तु के अनुसार घर में किसी भी पौधे को सही दिशा में लगाने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर जब हम शमी के पौधे को घर में रखने की बात करते हैं तब इसके कुछ वास्तु नियम होते हैं। वास्तु शास्त्र में दक्षिण दिशा अग्नि तत्व से जोड़ा जाता है और इस पर मृत्यु के देवता भगवान यम का शासन होता है। मृत्यु से जुड़े होने के बावजूद, दक्षिण दिशा को कई कारणों से शुभ माना जाता है और इसे प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा और शक्ति का भी प्रतीक माना जाता है।

ऐसा माना जाता है कि दक्षिण दिशा की ऊर्जा का उचित उपयोग करने से व्यक्तियों में साहस, शक्ति और जीवन शक्ति को बढ़ावा मिल सकता है। याम की दिशा होने के साथ इसे पितरों की दिशा भी कहा जाता है और वास्तु में मान्यता है कि इस दिशा में कोई भी वस्तु रखने से पहले आपको उसकी दिशा और क्षेत्र का सही ज्ञान होना चाहिए।

वास्तु की मानें तो घर की दक्षिण दिशा में कुछ पौधों को रखना शुभ माना जाता है और कुछ पौधों को इस स्थान पर रखने की मनाही होती है। जब हम बात शमी के पौधे की करते हैं तब इसे दक्षिण दिशा में रखना ठीक है या नहीं इसके बारे में जानें।

ऐसा माना जाता है कि शमी का पौधा शनिदेव का प्रतीक है और यह भगवान शिव का प्रिय पौधा भी है। इसी वजह से घर में शनि देव की कृपा पाने और भगवान शिव का आशीर्वाद बनाए रखने के लिए शमी का पौधा लगाने की सलाह दी जाती है। भारतीय संस्कृति और पौराणिक कथाओं के अनुसार शमी का पौधा घर के लिए बहुत शुभ माना जाता है। इसे एक पवित्र पौधे के रूप में पूजा जाता है और इसे भगवान शिव और माता पार्वती का प्रतीक भी माना जाता है। महाकाव्य महाभारत में, पांडवों ने अपने निर्वासन के दौरान अपने हथियार शमी के पेड़ में छिपा दिए थे और तभी से इस पौधे को साहस और शक्ति से जोड़ा जाने लगा।

जानिए… तंत्र ज्योतिष में चन्द्रमा का महत्व, जीवन में सुख-शांति का कारक होता है चन्द्रमा

क्या शमी का पौधा घर की दक्षिण दिशामें लगाया जा सकता है?

जहां एक तरफ कुछ पवित्र पौधों को दक्षिण दिशा में लगाने की पूरी तरह से मनाही होती है और इस दिशा में रखने से घर पर नकारात्मक प्रभाव होते हैं, उसी तरह शमी के पौधे को आप घर की दक्षिण दिशा में भी रख सकते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर की दक्षिण दिशा में शमी का पौधा लगाने से कई लाभ मिलते हैं। शमी का पौधा कठोर वातावरण में भी फैलने-फूलने की क्षमता रखता है, जो लचीलेपन, ताकत और सहनशक्ति का प्रतीक है। ऐसा माना जाता है कि इसे दक्षिण दिशा की उग्र ऊर्जाओं के साथ जोड़कर इसकी सभी ऊर्जाओं को बढ़ाने में मदद मिलती है।

शमी के पौधे को दक्षिण दिशा में रखने से क्या फायदे होते हैं?

दक्षिण दिशा साहस और आत्म-आश्वासन जैसे गुणों को नियंत्रित करती है। ऐसा माना जाता है कि इस दिशा में शमी का पौधा रखने से व्यक्तियों में ये गुण बढ़ने लगते हैं। जिस घर में शमी का पौधा इस दिशा में लगा होता है वहां से बाधाएं दूर रहती हैं। इस पौधे को दक्षिण दिशा में लगाने से घर के स्वामी को चुनौतियों का सामना करने का साहस मिलता है। किसी भी समस्या का समाधान खोजने में भी मदद मिलती है।

घर में घेर के आ रही हो परेशानी तो समझें यह विकार हो गया शुरू, जानें परेशानी की वजह, निशानी और उपाय

समृद्धि को बढ़ावा देता है दक्षिण दिशा में लगा हुआ शमी का पौधा

चूंकि दक्षिण दिशा समृद्धि और प्रचुरता से जुड़ी है। इसलिए ऐसा माना जाता है कि इसे दक्षिण दिशा में रखने से घर में धन और वित्तीय स्थिरता आती है। यही नहीं इसे इस दिशा में रखने से घर की सुरक्षा और कल्याण की भावना बढ़ती है। वास्तु शास्त्र में दक्षिण दिशा को बुरी शक्तियों और नकारात्मक ऊर्जाओं से सुरक्षा से भी जोड़ा जाता है। ऐसा माना जाता है कि दक्षिण दिशा में लगा शमी का पौधा एक ढाल के रूप में कार्य करता है और बुरे प्रभावों को दूर करता है। यह पौधा घर में सुरक्षा की भावना को बढ़ावा देता है।

सामंजस्यपूर्ण संबंधों को बढ़ावा देता है दक्षिण दिशा में लगा शमी का पौधा

ऐसा माना जाता है कि दक्षिण दिशा में शमी के पौधे की उपस्थिति परिवार के सदस्यों के बीच सद्भाव और समझ को बढ़ावा देती है। इस दिशा में लगा पौधा खुले संचार और आपसी सम्मान को प्रोत्साहित करता है, पारिवारिक बंधनों को मजबूत करता है और शांतिपूर्ण माहौल को बढ़ावा देने में मदद करता है।

कड़ा, ब्रेसलेट या लॉकेट पहनें सोच-समझकर, इससे हो सकता है नुकसान

शमी का पौधा दक्षिण दिशा में लगाने के नियम

यदि आप शमी के पौधे को घर की दक्षिण दिशा में लगा रहे हैं तो हमेशा ऐसे स्थान का चुनाव करें जहां इसे पर्याप्त धूप मिलती हो। इसके आस-पास के क्षेत्र को अव्यवस्थित करने से बचें और इस पौधे के आस-पास प्रकाश बनाए रखें। शमी के पौधे को अच्छी तरह से पोषित रखें और नियमित रूप से काट-छांट करें। इसे पर्याप्त रूप से पानी दें। मान्यता है कि शमी के पौधे का अचानक सूखना किसी अशुभ घटना का संकेत हो सकता है। यदि आप घर की दक्षिण दिशा में शमी का पौधा लगा रहे हैं तो इसके नियमों का पालन करना भी जरूरी है जिससे घर की खुशहाली बनी रहे और समृद्धि आए।

 

Religion

जानिए हवन को पूर्ण करने की विधि, क्या होता है दशांश हवन?

जयपुर से राजेंद्र गुप्ता यदि आप किसी मंत्र का जाप कर रहे हैं या उसे सिद्ध करना चाहते हैं तो आपको यह भी जानना होगा कि किसी भी मंत्र को पूर्ण करने के लिए उसके दशांश हवन की आवश्यकता पड़ती है। हवन करना शास्त्रों में बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। भारतीय परम्पराओ में हवन […]

Read More
Religion

किन-किन राशियों के लिए शुभ है आज का दिन, पढ़ें आज का राशिफल और जानें आज का पंचांग

आज का राशिफल व पंचांगः 24 मई, 2024, शुक्रवार कई राशियों के लिए भाग्योदय लेकर आ रहा है आज का दिन राजेन्द्र गुप्ता, ज्योतिषी और हस्तरेखाविद आज और कल का दिन खास 24 मई 2024 : नारद जयंती / वीणा दान आज। 24 मई 2024 : नौतपा आज से। 24 मई 2024 : राष्ट्र मंडल दिवस […]

Read More
Religion

जानिए देवियों में शक्ति की सबसे उग्र देवी छिन्नमस्ता के बारे में, कब है जयंती, कथा और महत्व

देवी छिन्नमस्ता जयंती, देवी पार्वती का यह सबसे उग्र रूप तंत्र पूजा में सबसे ज्यादा होती है देवी के इस रूप की साधना और आराधना  राजेंद्र गुप्ता हिन्दू धर्म में देवी छिन्नमस्ता तांत्रिक विद्याओं की साधना की देवी मानी जाती हैं। उनका नाम सामने आते हैं, एक शीश (सिर) विहीन देवी का दिव्य स्वरुप आंखों […]

Read More