नवरात्रि विशेष: दंडकारण्य में नौ ऋषि करते रहे हैं देवियों की उपासना, महानदी किनारे आज भी मौजूद हैं इनके आश्रम

हेमंत कश्यप/जगदलपुर

बस्तर का पुराना नाम दंडकारण्य है और किसी जमाने में यहां एक दो नहीं पूरे नौ महान ऋषि आश्रम बना कर देवी आराधना करते थे। उनके आश्रम आज भी मौजूद है किंतु जानकारी के अभाव में जन सामान्य इन ऋषियों की तपोस्थली नहीं देख पा रहे हैं। दंडकारण्य क्षेत्र पहले काफी बड़ा था, किंतु अब यह क्षेत्र बस्तर अर्थात दंडकारण्य का पठार के नाम से सीमित हो गया है।

यहां के पहले ऋषि लोमस का आश्रम महानदी और सोंडुर नदी के संगम पर राजिम में स्थित है। इसी तरह दंडकारण्य का अंतिम ऋषि आश्रम इंजरम सुकमा में है।यह हजारों साल पहले इंज ऋषि का आश्रम हुआ करता था। वहां उस काल की पुरानी मूर्तियों आज भी बिखरी पड़ी हैं। इसी तरह नगरी, सिहावा और कांकेर क्षेत्र में श्रृंगी ऋषि, शरभंग ऋषि, कर्क ऋषि, कुंभज ऋषि, अंगिरा ऋषि, मुचकुंद ऋषि और अगस्त ऋषि का आश्रम आज भी मौजूद है। सिहावा आने वाले श्रद्धालु श्रृंगी ऋषि का आश्रम तो देख पाते हैं किंतु जानकारी के अभाव में अन्य ऋषियों के आश्रम का दर्शन नहीं कर पाते।

इन सप्तऋषियों की कहानी बता रही है यह खबर…

राम वन गमन पथ पड़ाव

बस्तर से संदर्भित इतिहास बताते हैं कि महानदी के किनारे यह नौ ऋषि देवी आराधना करते थे। यह भी बताया गया कि भगवान राम अपने वनवास के दौरान इन ऋषियों से आशीर्वाद लेते हुए पंचवटी की तरफ गए थे। इन आश्रमों को राम वन गमन पथ का प्रमुख पड़ाव भी माना जाता है। लंबे समय से सिहावा क्षेत्र के सप्त ऋषियों और राजिम के लोमश तथा सुकमा जिले के इंजरम स्थित इंज ऋषि के आश्रमों को संरक्षित करने की मांग उठती रही है किंतु  इन पौराणिक धरोहरों को सहेजने का प्रयास नहीं किया गया।

Religion

चेतना डेंटल व नंदी इंटरप्राइजेज के भंडारे में उमड़ी भक्तों की भीड़

जेष्ठ माह के अंतिम मंगलवार को आशियाना में जगह जगह लगे भंडारे अधिकांश स्थानों पर सुंदरकांड पाठ के बाद हुआ भंडारा लखनऊ। जेष्ठ माह के अंतिम मंगलवार के अवसर पर आशियाना और आसपास क्षेत्रों में जगह जगह सुंदर कांड पाठ और भंडारे का आयोजन किया गया। इन आयोजनों में श्रद्धालुओ की जमकर भीड़ उमड़ी। बजरंगबली […]

Read More
Analysis Religion

पांच महीने में 2.86 करोड़ भक्तों ने बाबा के दरबार में लगाई हाजिरी

2023 के पांच महीने के सापेक्ष 2024 में लगभग 50 प्रतिशत अधिक भक्त पहुंच दरबार बाबा की आय में भी 33 फीसदी की हुई वृद्धि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था श्री काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण, 16 जून 2024 तक 16.46 करोड़ से अधिक भक्तों ने बाबा के चौखट पर नवाया शीश योगी सरकार […]

Read More
Religion

श्री जन कल्याणेश्वर मंदिर, सैनिक नगर प्रबंध समिति द्वारा मेधावी छात्र/छात्राओं का सम्मान समारोह

सैनिक नगर, लखनऊ स्थित श्री जन कल्याणेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के द्वारा ज्येष्ठ माह के आख़िरी मंगल के शुभ अवसर पर सुंदर काण्ड पाठ के उपरांत 21 मेधावी छात्र/ छात्राओं को उनके उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम के लिये प्रशस्ति पत्र व मेडल के साथ सम्मानित किया गया। मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष कर्नल आदि शंकर ने […]

Read More