समाज कल्याण विभाग का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम…

  • “सच्चा काम-पक्का काम करेंगे, तभी आगे बढ़ेंगे”: असीम अरुण
  • लाभार्थीपरक योजनाओं को कैसे पारदर्शी और प्रभावी बनाएँ, इस पर हुई चर्चा
  • विभागीय मंत्री ने तकनीकी का अधिकाधिक प्रयोग पर दिया ज़ोर
  • दो दिवसीय प्रशिक्षण में प्रदेश भर के समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने लिया हिस्सा

लखनऊ । तकनीकी का अधिक से अधिक उपयोग कर लाभार्थीपरक योजनाओं को कैसे पारदर्शी और प्रभावी बनाया जाए, ऐसी तमाम विषयों पर चर्चा के लिए समाज कल्याण विभाग द्वारा अधिकारियों का दो दिवसीय प्रशिक्षण गुरुवार को भागीदारी भवन, गोमतीनगर में प्रारम्भ हुआ। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए समाज कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) असीम अरुण ने कहा कि हम अपने कार्य को सिर्फ़ करें नहीं बल्कि पूरे मनोयोग के साथ उसको पूर्ण करें। आज समय तकनीकी के साथ आगे बढ़ने का है, तभी सारी चीज़ें आसान होंगी। अरुण ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों को चाहिए कि अपने जूनियर अधिकारियों को बेहतर कार्य के लिए प्रोत्साहित करें। ताकि नए अधिकारियों की क्रिएटिविटी का भरपूर उपयोग किया जा सके। बैठक के दौरान समस्त विभागीय योजनाओं की प्रगति, संचालन में आ रही समस्याओं, उनके निराकरण संबंधी कार्य योजना एवं नवाचार के सम्बन्ध में जनपद, मण्डल व मुख्यालय स्तर के अधिकारियों की टीम द्वारा प्रस्तुतीकरण किया गया। वृद्धावस्था पेंशन योजना अंतर्गत आधार प्रमाणीकरण, फैमिली आईडी,एल. जी. मैपिंग एवं आधार बेस्ड भुगतान को शत- प्रतिशत किए जाने की आवश्यकता एवं प्रक्रिया के संबंध में अवगत कराते हुए बताया गया कि विगत वर्ष में 12 लाख नवीन लाभार्थियों को पेंशन योजना में शामिल किया गया है।

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना में आवेदन की नई व्यवस्था के अंतर्गत आधार प्रमाणीकरण, आय व मृत्यु प्रमाण पत्र का ऑनलाइन वेरिफिकेशन कर पारदर्शी प्रक्रिया से आधार बेस्ड पेमेंट सुनिश्चित किया जाएगा।छात्रवृत्ति योजना में आधार बेस्ड उपस्थिति, अभिलेखों के ऑनलाइन सत्यापन एवं शैक्षिक सत्र के देर से प्रारंभ होने व रिजल्ट देर से आने जैसी समस्याओं पर चर्चा की गई। साथ ही योजनांतर्गत शिकायत निवारण प्रणाली के अंतर्गत हेल्प लाइन विकसित की जाएगी। अत्याचार उत्पीड़न पर आर्थिक सहायता में NIC द्वार  पोर्टल विकसित किया गया है, जिसमें एससी/एसटी एक्ट के अंतर्गत दर्ज एफआईआर की सूचना सीधे प्राप्त हो जायेगी एवं ससमय आर्थिक सहायता उपलब्ध करा दी जाएगी।

सर्वोदय विद्यालयों में कुशल मॉनिटरिंग एवं संचालन हेतु प्रकोष्ठ का गठन किए जाने के साथ ही टीसीएस सीएसआर ग्रुप, खान अकादमी, एम्बाइब, टैब-लैब इत्यादि के माध्यम से तकनीकी आधारित आधुनिक शिक्षा पद्धति का प्रयोग किया जा रहा है एवं जेईई, नीट इत्यादि प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क कोचिंग की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। बैठक में समाज कल्याण राज्यमंत्री संजीव कुमार गोंड, उपाध्यक्ष अनुगम विश्वनाथ, आयुक्त, समाज कल्याण हेमंत राव,  प्रमुख सचिव, समाज कल्याण डॉ. हरिओम, सचिव समाज कल्याण समीर वर्मा, निदेशक, समाज कल्याण, पवन कुमार व विभाग के मुख्यालय, मंडल  व जनपद स्तरीय अधिकारी सम्मिलित हुए।

Raj Dharm UP

योगी सरकार ने की ‘मेरी बस, मेरी सड़क’ पहल की शुरुआत

नगर परिवहन को उन्नत बनाने के लिए नगरीय परिवहन निदेशालय और सीईईडब्ल्यू ने की पहल राज्य में एक सतत नगरीय परिवहन को प्रोत्साहित करना है पहल का मुख्य उद्देश्य सीएबीएच परियोजना के तहत तीन स्वतंत्र शोध अध्ययनों को भी किया गया प्रकाशित लखनऊ, 19 जून। आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के साथ ही आने-जाने के […]

Read More
Raj Dharm UP

और तगड़ी होगी सीएम योगी की सुरक्षा व्यवस्था

– मुख्यमंत्री के साथ ही राज्यपाल और अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए अत्याधुनिक उपकरण खरीदेगी यूपी पुलिस – एक करोड़ रुपये से अधिक के उपकरण खरीदेगी यूपी पुलिस, सुरक्षा में इस्तेमाल होंगे 91 नये अत्याधुनिक उपकरण – प्रदेश भ्रमण, रैलियों, धार्मिक स्थलों, कुंभ मेला सहित महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा को […]

Read More
Raj Dharm UP

भगवान बुद्ध की असाधारण जीवन यात्रा के संस्मरणों को प्रदर्शित करेगी योगी सरकार

–उत्तर प्रदेश के बौद्ध विरासत स्थलों के माध्यम से भगवान बुद्ध की स्मृति में ‘द बोधि यात्रा 2024’ का नई दिल्ली में होगा आयोजन -बौद्ध तीर्थयात्रियों को उत्तर प्रदेश में आकर्षित करने की मंशा से एक दिनी इंटरैक्टिव व कल्चरल सेशन का हो रहा है आयोजन -सीएम योगी की मंशा अनुसार उ.प्र पर्यटन विभाग ने […]

Read More