RBI के निर्णय, वाहन बिक्री और PMI आंकड़ों पर रहेगी बाजार की नजर

मुंबई। दुनिया के प्रमुख केंद्रीय बैंकों के ब्याज दर में कटौती करने की उम्मीद के बीच स्थानीय स्तर पर रिजर्व बैंक (RBI) के वैकल्पिक निवेश फंड (AIF) में ऋणदाताओं के निवेश नियमों में ढील दिए जाने के बाद वित्तीय स्थिति मज़बूत होने की बदौलत बीते सप्ताह एक फीसदी से अधिक चढ़े घरेलू शेयर बाजार की अगले सप्ताह RBI के नीतिगत निर्णय, वाहन बिक्री और PMI आंकड़ों पर नजर रहेगी। बीते सप्ताह बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 819.41 अंक अर्थात 1.13 प्रतिशत की छलांग लगाकर सप्ताहांत पर 73651.35 अंक पर पहुंच गया। साथ ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 230.15 अंक यानी 1.04 प्रतिशत की तेजी के साथ 22326.90 अंक पर रहा।

समीक्षाधीन सप्ताह में दिग्गज कंपनियों की तरह मझौली और छोटी कंपनियों में भी जमकर लिवाली हुई। इससे बीएसई का मिडकैप 520.89 अंक अर्थात 1.34 प्रतिशत मजबूत होकर सप्ताहांत पर 39322.12 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह स्मॉलकैप 395.07 अंक यानी 0.92 प्रतिशत उछलकर 43166.34 अंक हो गया। विश्लेषकों के अनुसार, वित्त वर्ष 2023-24 घरेलू बाजार के लिए एक फायदेमंद साल रहा। लार्जकैप ने 33 प्रतिशत का पर्याप्त रिटर्न दिया। मिडकैप में 56 प्रतिशत की वृद्धि हुई और स्मॉल कैप ने प्रभावशाली 63 प्रतिशत के साथ उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। वर्ष के दौरान देश का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का पूर्वानुमान तिमाही आधार पर 6.4 प्रतिशत से बढ़ाकर 7.3 प्रतिशत कर दिया गया। कॉर्पोरेट आय वृद्धि में तेजी आई।

इस दौरान प्रत्यक्ष निवेश के साथ-साथ एमएफ के माध्यम से निवेश द्वारा समर्थित खुदरा प्रवाह मजबूत बना रहा। घरेलू निवेशकों द्वारा रखे गए ट्रेडिंग खातों की संख्या 16.7 करोड़ तक पहुंच गई, जो बढ़ती बाजार भागीदारी को रेखांकित करती है। इसके अलावा मंदी का सामना कर रहे अन्य उभरते बाजारों की तुलना में भारत के बेहतर आर्थिक प्रदर्शन से उत्साहित विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने शुद्ध खरीददारी गतिविधि में सुधार दिखाया। वहीं, 20 मार्च तक भारी बिकवाली के में साल का अंत धीमी गति से हुआ। फिर भी, हाल के कारोबारी सत्रों में बाजार में कुछ राहत मिली है क्योंकि लीवरेज्ड बिकवाली का दबाव कम हो गया है और खरीददारी गतिविधि में सुधार हुआ है।

अप्रैल के आने वाले पहले सप्ताह में अमेरिका और भारत में PMI, फैक्ट्री ऑर्डर और अमेरिका में बेरोजगारी डेटा जैसे महत्वपूर्ण आंकड़े जारी होने वाले हैं। इसके अलावा RBI की अगले सप्ताह 03-05 अप्रैल को द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक होने वाली है। बाजार सहभागी नीतिगत दरों के संबंध में विशेष रूप से RBI से मिलने वाले संकेतों की बारीकी से निगरानी करेंगे। इसके अलावा बाजार की नज़र 31 मार्च को समाप्त होने वाली चौथी तिमाही के कंपनियों के परिणाम पूर्वानुमानों पर रहेगी। बीते सप्ताह होली और गुड फ्राइडे पर अवकाश के कारण बाजार में तीन दिन कारोबार हुआ, जिनमें से दो दिन तेजी जबकि एक दिन गिरावट रही। विश्व बाजार के मिलेजुले रुख के बीच स्थानीय स्तर पर आईटी, टेक, बैंकिंग, एफएमसीजी और वित्तीय सेवाएं समेत सात समूहों में हुई बिकवाली से मंगलवार को सेंसेक्स 361.64 अंक की गिरावट लेकर 72,470.30 अंक पर आ गया। साथ ही निफ्टी 92.05 अंक टूटकर 22,004.70 अंक पर बंद हुआ।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार जारी गिरावट और स्थानीय स्तर पर चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में चालू खाता घाटा कम होने से रिलायंस, मारुति, HDFC  बैंक, एलटी, NTPC और टाटा स्टील समेत अठारह दिग्गज कंपनियों में करीब चार प्रतिशत की तेजी से बुधवार को सेंसेक्स 526.01 अंक की छलांग लगाकर 72,996.31 अंक और निफ्टी 118.95 अंक उछलकर 22,123.65 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह दुनिया के प्रमुख केंद्रीय बैंकों के ब्याज दर में कटौती करने की उम्मीद में विश्व बाजार के सकारात्मक रुझान के बीच स्थानीय स्तर पर RBI के वैकल्पिक निवेश फंड में ऋणदाताओं के निवेश नियमों में ढील दिए जाने के बाद वित्तीय स्थिति में तेजी आने की बदौलत हुई चौतरफा लिवाली से गिरिवर को सेंसेक्स 655.04 अंक की छलांग लगाकर 73,651.35 अंक पर बंद हुआ। साथ ही निफ्टी 203.25 अंक उछलकर 22,326.90 अंक हो गया।(वार्ता)

Business

वरिष्ठ नागरिकों के लिए चुनिंदा श्रेणियों में ब्याज दरों में 60 बेसिस प्‍वॉइंट तक की बढ़ोतरी

  पुणे/मुंबई। देश के सबसे बड़े फाइनेंशियल सर्विसेज ग्रुप में शामिल, बजाज फिनसर्व की सहायक कंपनी बजाज फाइनेंस लिमिटेड ने अपने ज्यादातर अवधि वाले फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) की ब्याज दरों में बढ़ोतरी करने की घोषणा की है। कंपनी ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए 25 से 35 महीने की अवधि की FD के लिए ब्याज दरों […]

Read More
Biz News

खुदरा महंगाई और तिमाही नतीजे से तय होगी बाजार की चाल

मुंबई। विश्व बाजार के मिलजुले रुख के बीच स्थानीय स्तर पर हुई लिवाली की बदौलत बीते सप्ताह आधे प्रतिशत से अधिक की तेजी में रहे घरेलू शेयर बाजार की अगले सप्ताह चाल अमेरिकी फेड रिजर्व के ब्याज दरों को लेकर रुख, खुदरा महंगाई और कंपनियों के तिमाही नतीजे से तय होगी। बीते सप्ताह बीएसई का […]

Read More
Business

RBI रेपो रेट स्थिरः डेवलपर्स ने कहा-RBI के फैसले से मार्केट में आएगा बूम

रेपो रेट में फिर बदलाव न होने से रियल एस्टेट सेक्टर ने किया स्वागत डेवलपर्स ने कहा-रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के इस फैसले से मिलेगा बूस्ट विजय शंकर झा नई दिल्ली। रियल एस्टेट सेक्टर ने रेपो दरों को 6.5 फीसदी पर अपरिवर्तित रखने के भारतीय रिजर्व बैंक के फैसले का स्वागत किया है। इस […]

Read More