फर्जी शस्त्र लाइसेंस मामले में मुख्तार को उम्रकैद की सजा

वाराणसी। माफिया से नेता बने मुख्तार अंसारी को वाराणसी की एक विशेष अदालत ने 33 साल से अधिक पुराने फर्जी शस्त्र लाइसेंस मामले में बुधवार को आजीवन कारावास और 2.02 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। अभियोजन सूत्रों ने कहा कि अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अवनीश गौतम की MP-MLA  अदालत ने मंगलवार को मुख्तार को दोषी ठहराया था। अदालत ने बुधवार को सजा सुनाई। उन्होंने कहा कि मुख्तार को वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत में पेश किया गया, जो वर्तमान में बांदा जेल में बंद हैं।

अभियोजन पक्ष ने कहा कि जून 1987 में मुख्तार ने तत्कालीन जिला मजिस्ट्रेट, गाजीपुर के कार्यालय में डबल बैरल बंदूक के लाइसेंस के लिए एक आवेदन प्रस्तुत किया था। उन्होंने कहा, “मुख्तार पर यह आरोप लगाया गया कि कर्मचारियों की मिलीभगत से उसने जिलाधिकारी और तत्कालीन पुलिस अधीक्षक (SP) के फर्जी हस्ताक्षर के जरिए लाइसेंस अर्जित किया था। सूत्रों ने बताया कि फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद दिसंबर 1990 में मुख्तार समेत पांच नामजद लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। जांच के बाद 1997 में मुख्तार और आयुध लिपिक गौरी शंकर श्रीवास्तव के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया गया। इस बीच मुकदमा चलने के दौरान आरोपी गौरी शंकर की मृत्यु हो गई थी।

अभियोजन सूत्रों ने कहा कि मुख्तार को भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 467/120 बी (आपराधिक साजिश के साथ मूल्यवान सुरक्षा की जालसाजी) के तहत आजीवन कारावास और एक लाख रुपये के जुर्माने के साथ सात साल की कैद की सजा सुनाई गई है। इसके अलावा धोखाधड़ी के तहत 50,000 रुपये, धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी के तहत सात साल की कैद और 50,000 रुपये का जुर्माना और शस्त्र अधिनियम के तहत छह महीने की कैद और 2,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। उन्होंने बताया कि सभी सजाएं एक साथ चलेंगी और आरोपी द्वारा जेल में बिताया गया समय सजा में जोड़ा जाएगा।

गौरतलब है कि यह दूसरी बार है जब मुख्तार को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इससे पहले पिछले साल जून में उन्हें कांग्रेस के उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय राय के भाई अवधेश राय की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। अब तक मुख्तार को आठ मामलों में सजा हो चुकी है।

Central UP

जेल अफसरों की लापरवाही से फरार हो गया बंदी

बिजनौर जेल प्रशासन के अधिकारियों का अजब गजब कारनामा जेल के अंदर बंदी के पास मोबाइल फोन मिलने से मचा हड़कंप 20 दिनों में दो घटनाओं ने खोली जेल के सुरक्षा दावों की पोल राकेश यादव लखनऊ। बिजनौर जिला जेल में घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही है। चुनाव आचार संहिता के दौरान […]

Read More
Central UP

राजधानी का एक अनूठा केंद्र, जहां आकर शरण पा जाते हैं विकलांग

हाथ-पैर से लाचार 58 विकलांग हैं मदर टेरेसा के करूणालय में विकलांगों के लिए कुछ करने से आत्मसंतोष मिलता हैः डॉ रवि अंत्येष्टि स्थल या विकलांगों के बीच जाने से ही आत्मज्ञान फूटता हैः मोहिता मदर टेरेसा की संस्था करूणालय मे विकलांगों के दर्शन मात्र से ही खुल जाती हैं आंखें विजय श्रीवास्तव लखनऊ। भारत […]

Read More
Central UP

बहुजन साहित्य दे सकता समाज को नयी दिशा: इं•भीमराज

मेधावी छात्र और छात्राओं का हुआ सम्मान मेडल और साइकिल पाकर खुश हुए मेधावी छात्र लखनऊ। बोधिसत्व बाबा साहब टुडे मासिक पत्रिका का स्थापना दिवस एवं डॉ अंबेडकर महासभा के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित पुस्तक विमोचन और वर्ष 2023-24 में हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट के मेधावी छात्र-छात्राओं का अभिनंदन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन […]

Read More