मासिक दुर्गाष्टमी आज है, जानिए शुभ तिथि और महत्व व उपाय …

जयपुर से राजेंद्र गुप्ता

प्रत्येक माह के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को दुर्गाष्टमी का व्रत रखा जाता है। इस दिन भक्त मां दुर्गा की विधि-विधान से पूजा करते हैं साथ ही उपवास भी रखते हैं। कहा जाता है मासिक दुर्गाष्टमी का व्रत रखने से मां दुर्गा की कृपा और आशीर्वाद प्राप्त होता है। साथ ही घर में सुख-समृद्धि के लिए दुर्गाष्टमी के दिन मां दुर्गा की विधिवत पूजा-अर्चना भी की जाती है।

मासिक दुर्गाष्टमी की तिथि

दृक पंचांग के अनुसार, पौष मास के शुक्ल की अष्टमी तिथि 18 जनवरी 2024 दिन गुरुवार को पड़ रही है। पंचांग के अनुसार, मासिक दुर्गाष्टमी की शुरुआत 17 जनवरी 2024 बुधवार की रात 10 बजकर 6 मिनट पर हो रही है और समाप्ति 18 जनवरी की रात 8 बजकर 44 मिनट पर होगी।

मासिक दुर्गाष्टमी का महत्व

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मासिक दुर्गाष्टमी को दुर्गा अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन मां दुर्गा के कुछ मंत्रों का जाप किया जाता है। मान्यता है कि जो जातक इस दिन मां दुर्गा के मंत्रों का जाप करते हैं, उन्हें मन की शांति मिलती है साथ ही बुद्धि में विकास होता है। जातक को हर परिस्थिति से उबरने की शक्ति प्राप्त होती है। मां दुर्गा का आशीर्वाद भी मिलता है।

मासिक दुर्गाष्टमी के दिन करें यह उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मासिक दुर्गाष्टमी के दिन मां दुर्गा की पूजा होती है। इस दिन मां दुर्गा को लाल रंग का पुष्प अर्पित करना शुभ माना जाता है। इस दिन मां दुर्गा की पूजा करते समय 3 लौंग अर्पित करने से मां की कृपा प्राप्त होती है। साथ ही हमेशा आशीर्वाद भी बना रहता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, दुर्गाष्टमी के दिन मां दुर्गा की पूजा करते समय कम से कम एक कमल का फुल जरूर अर्पित करना चाहिए। यह बेहद शुभ माना गया है। मान्यता है दुर्गा अष्टमी के दिन मां दुर्गा को चावल से बनी खीर का भोग अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से मनोकामना पूर्ण होती है।

Religion

यदि विवाह में आ रही है बाधा तो करें ये आसान सा उपाय, इन ग्रहों के कारण नहीं हो पाती है शादी

कुछ ग्रहों का यह प्रभाव नहीं होने देता है विवाह, अगर हो भी जाए तो कर देता है तहस-नहस लखनऊ। विवाह बाधा योग लड़के, लड़कियों की कुंडलियों में समान रूप से लागू होते हैं, अंतर केवल इतना है कि लड़कियों की कुंडली में गुरू की स्थिति पर विचार तथा लड़कों की कुंडलियों में शुक्र की […]

Read More
Religion

माघ पूर्णिमा व्रत के दिन शोभन और रवि योग बन रहे हैं,

जयपुर से राजेंद्र गुप्ता इस साल माघ पूर्णिमा का व्रत और स्नान-दान अलग-अलग दिन है। माघ पूर्णिमा का व्रत पहले होगा और माघ पूर्णिमा का स्नान-दान उसके बाद के दिन होगा। दरअसल, पूर्णिमा के व्रत में चंद्रमा की पूजा और अर्घ्य देने की मान्यता है, उसके बिना व्रत पूर्ण नहीं होता है। वहीं पूर्णिमा का […]

Read More
Religion

विश्वकर्मा जयंती आज है जानिए पूजन विधि और महत्व व इतिहास

जयपुर से राजेंद्र गुप्ता विश्वकर्मा जयंती एक महत्वपूर्ण हिंदू त्यौहार है जो भगवान विश्वकर्मा के सम्मान में मनाया जाता है जिन्हें वास्तुकार एवं शिल्पकार माना जाता है। यह त्यौहार मुख्य रूप से कारीगर, मजदूर, इंजीनियर,वास्तुकार, यांत्रिक और कारखाना के श्रमिकों सहित विभिन्न प्रकार के शिल्प कौशल से जुड़े लोगों के द्वारा मनाया जाता है। यह […]

Read More