बेपरवाह पुलिस : बदमाशों के निशाने पर बाराबंकी

  • नहीं थम रही बड़ी वारदात
  • सूबे में क्रिमिनल बेखौफ, अपराध बेकाबू

ए अहमद सौदागर

लखनऊ। बाराबंकी की पुलिसिंग में अपराध बेकाबू हैं। अपराधी बेखौफ हैं। बाराबंकी के पुलिस तंत्र का अपराधियों पर कोई नियंत्रण ही नहीं है।
बाराबंकी जिले के फतेहपुर कस्बे ब्रह्मानी टोला निवासी व्यापारी धनेन्द्र जैसे हाईप्रोफाइल मामले हों या फिर 28 दिसंबर 2015 को आगरा जिले में पशु व्यापारी रफीक कुरैशी के यहां हुई दो करोड़ की डकैती का मामला। पुलिस पर लगातार सवालिया निशान के घेरे में है।

बाराबंकी जिले के टिकैत गंज में रहने वाले बर्तन कारोबारी शिवकुमार व उनके परिवार को बंधक बनाकर डकैतों ने एक करोड़ की डकैती डाली तो फिर पुराने जख्मों को ताज़ा कर दिया। पुराने जख्मों को बाराबंकी वासी भुला भी नहीं पाए थे कि इसी जिले में हथियार बंद बदमाशों ने एक करोड़ की डकैती डालकर पुलिस को खुली चुनौती दे डाली।

यूपी पुलिस की कार्यशैली पर गौर करें तो घर छह फरवरी 2016 को बेखौफ डकैतों ने मेथा के बड़े कारोबारी धनेन्द्र कुमार जैन के यहां परिवार को बंधक बनाकर ढाई करोड़ की डकैती डाली थी। यही नहीं आगरा जिले में पशु कारोबारी रफीक कुरैशी के बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाकर दो करोड़ की डकैती डालकर पुलिस को खुली चुनौती दी थी। यह तो महज बानगी भर है इससे पहले भी बदमाशों ने यूपी के अलग-अलग जिलों में कई बार कई संगीन घटनाओं को अंजाम देकर चुनौती दे चुके हैं, जिसमें राजधानी लखनऊ भी शामिल है।

Raj Dharm UP

राष्ट्रपति व PM को मेल भेजकर की जा रही पुरानी पेंशन बहाली की मांग

अभियान में अर्द्धसैनिक बलों समेत देश के शिक्षक, कर्मचारी शामिल लखनऊ। NMOPS  के राष्ट्रीय अध्यक्ष व अटेवा के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बन्धु ने बताया कि पूरे देश मे 19 से 25 फरवरी तक ईमेल के माध्यम से राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से अर्द्धसैनिक बलों समेत देश के शिक्षकों, कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली की मांग […]

Read More
Raj Dharm UP

कांग्रेसियों ने फिर सपा अध्यक्ष को दिया न्याय यात्रा का निमंत्रण

सपा प्रवक्ता ने की अखिलेश यादव के यात्रा में शामिल होने की पुष्टि लखनऊ। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से कल कांग्रेस और सपा के गठबंधन की घोषणा होने के बाद गुरुवार को कांग्रेस नेताओं ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। […]

Read More
Raj Dharm UP

कारागार विभाग में प्रमोशन के बाद भी नहीं होते स्थानातरण!

प्रोन्नत पाए कर्मियों के लिए आला अफसरों का आदेश ठेंगे पर एक परिक्षेत्र में 15=20 साल से जमे कई वरिष्ठ व प्रधान सहायक राकेश यादव लखनऊ। प्रदेश के कारागार विभाग में आला अफसरों के आदेश का कोई मायने ही नहीं है। इस विभाग में अधिकारियों के आदेश का अनुपालन ही नहीं होता है। विभाग में […]

Read More