भाजपा के विभाजन विभीषिका पर कार्यक्रम

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

भाजपा ने पूरे उत्तर प्रदेश में “विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस” पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए।इसके अंतर्गत मौन जुलूस, संगोष्ठी के अलावा विभीषिका पर आधारित चित्र प्रदर्शनी लगाई। इसमें लोगों का उत्साह दिखाई दिया। भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने  मौन जुलूस निकालकर विभाजन विभीषिका में  जान गवाने वाले लाखों भारतीयों संघर्ष व बलिदान को स्मरण का स्मरण किया। क्रूरता और नरसंहार से रक्त रंजित इतिहास तथा करोड़ो लोगों के विस्थापन तथा बलिदान की त्रासदी पर संगोष्ठियों के माध्यम से चर्चा की गई।

इसके साथ ही सभी जिलों में प्रदर्शनी लगाकर चित्रों, पोस्टर तथा चलचित्र के माध्यम से नई पीढ़ी के समक्ष देश के विभाजन की विभीषिका को प्रदर्शित किया गया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष  भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने वाराणसी तथा प्रदेश महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह मऊ में मौन जुलूस में सम्मिलित हुए तथा संगोष्ठी व प्रदर्शनी में विभाजन की विभीषिका पर संवाद किया। उपमुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य ने प्रयागराज महानगर तथा बृजेश पाठक ने लखनऊ महानगर पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बाराबंकी में विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के तहत आयोजित मौन जुलूस, संगोष्ठी व प्रदर्शनी में सहभागिता की।

Raj Dharm UP

मुख्यमंत्री का फरमान अतिक्रमण करने वालों पर पड़ा भारी

सरकार का हाईटेक पुलिसिंग पर भी रहा जोर अकबरनगर तो एक नमूना और भी कई इलाके एलडीए व नगर निगम के निशाने पर चलता रहा बुलडोजर और देखते रह गए लोग ए अहमद सौदागर लखनऊ। सरकार ने बीते कुछ सालों में पुलिस को आधुनिक और संसाधन संपन्न बनाने में सफल नज़र आई। यूपी बेहतर कानून-व्यवस्था […]

Read More
Raj Dharm UP

संपूर्ण मानवता के कल्याण के मार्ग को प्रशस्त करता है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसः सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राजभवन प्रांगण में आयोजित सामूहिक योगाभ्यास में लिया हिस्सा योग मानवता के अनुकूल है, यदि हम खुद को और पूरी मानवता को इससे जोड़ते हैं तो यह पूर्वजों और विरासत के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा होगीः मुख्यमंत्री पीएम मोदी के विजन और प्रयासों का […]

Read More
Raj Dharm UP

कायम हुआ सत्ता का इकबाल, पूरे देश में बाबा की बमबम

न कोई चिल्ल-पों न कोई करुण पुकार केवल बुल्डोजर की जय-जयकार राजधानी की करुण आवाज मैं यूपी की राजधानी हूं। लखनऊ। मेरी पहचान नवाब नगरी की भी रही है। मैं ही उत्तर प्रदेश की सत्ता चलाती हूं। वो सत्ता, जिसका इकबाल कभी-कभी ही बुलंद हो सका। मैं गवाह हूं, उन मुख्यमंत्रियों के, जो सत्ता को […]

Read More