कमल खिला और डूब गया गैंगस्टर अतीक अहमद का सितारा..

रंजन कुमार सिंह


प्रयागराज जिले की पश्चिम विधानसभा सीट बाहुबली नेता अतीक अहमद के कारण चर्चित रही है। इस सीट पर 80 के दशक से लेकर 2006 तक अतीक अहमद का वर्चस्व और प्रभाव रहा। माफिया से नेता बने अतीक अहमद यहां से पांच बार विधायक रहे। उनके सामने कोई भी दूसरा प्रत्याशी टिक ना सका। फिर अतीक अहमद फूलपुर से सांसद चुने गए तो इस सीट पर उपचुनाव हुए। जिसमें समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी राजू पाल ने जीत दर्ज की। इस जीत को अतीक अहमद पचा नहीं पाए और एक षड्यंत्र के तहत राजू पाल की हत्या कर दी गई। इस हत्या के आरोप में अतीक अहमद जेल भी गए। इस सीट पर 2017 में लाल बहादुर शास्त्री के नाती सिद्धार्थ नाथ सिंह ने पहली बार कमल खिलाया।

राजनीतिक इतिहास

इस सीट के राजनीतिक इतिहास की बात करें तो साल 1974 में शहर पश्चिमी सीट से जनसंघ के तीरथलाल विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे। 1977 के विधानसभा चुनाव में हबीब अहमद यहां से विधायक चुने गए। 1984 में यहां के लोगों ने रामगोपाल यादव को विधायक बनाया। 1989 के विधानसभा चुनाव में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी अतीक अहमद चुनाव जीतकर विधायक बने तो वह यहां से 2002 तक लगातार चुनाव जीतते रहे। वह यहां से पांच बार विधायक निर्वाचित हुए। साल 2004 के लोकसभा चुनाव में फूलपुर संसदीय सीट से अतीक अहमद सांसद निर्वाचित होकर लोकसभा पहुंचे तो शहर पश्चिमी की सीट खाली हो गई। उपचुनाव में अतीक ने इस सीट से भाई अशरफ को चुनाव लड़ाया, लेकिन अतीक अहमद के ही करीबी रहे गैंगस्टर राजू पाल ने बसपा के टिकट पर चुनाव लड़कर अशरफ को शिकस्त दे दी।

2017 में ये रहे नतीजे

सिद्धार्थ नाथ सिंह BJP   85,518   25,336

रिचा सिंह       सपा    60,182

पूजा पाल       बसपा   40,499

अतीक अहमद का ऐसा रहा सफर

1989 में इस विधानसभा सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अतीक अहमद की पहली जीत हुई। उन्होंने कांग्रेस के पूर्व विधायक गोपाल दास को 8000 मतों से हराया।

1991 में फिर निर्दल प्रत्याशी के रूप में अतीक अहमद जीते। इस बार उन्होंने BJP के रामचंद्र जायसवाल को 15743 मतों से हराया।

1993 में अतीक अहमद तीसरी बार विधायक चुने गए। इस बार उन्होंने BJP के तीरथ राम कोहली को हराया।

1996 में चौथी बार अतीक अहमद समाजवादी पार्टी से चुने गए। इस बार उन्होंने BJP के तीरथ राम कोहली को हराया।

2002 में अपना दल से अतीक अहमद पांचवी बार विधायक चुने गए। इस बार समाजवादी पार्टी के गोपाल दास यादव दूसरे स्थान पर रहे। फिर अतीक अहमद के फूलपुर से सांसद चुने जाने के बाद यह सीट खाली हो गई। जिसके बाद 2004 में हुए उपचुनाव में बसपा के राजू पाल विधायक चुने गए।

2007 के उपचुनाव में राजू पाल की हत्या के बाद सहानुभूति की लहर में बहुजन समाज पार्टी ने उनकी पत्नी पूजा पाल को टिकट दिया, जिसमें वह जीत गई। पूजा ने समाजवादी पार्टी के खालिद अजीम उर्फ अशरफ को 10322 मतों से हराया।

2012 के विधानसभा चुनाव में पूजा पाल दूसरी बार निर्वाचित हुई। इस बार उन्होंने अतीक अहमद को 8885 मतों से हराया।

वहीं 2017 में मोदी लहर में इस सीट पर भी पहली बार कमल खिला। भाजपा प्रत्याशी सिद्धार्थ नाथ सिंह ने जीत दर्ज की। उन्होंने समाजवादी पार्टी की रिचा सिंह को 25336 मतों से हराया।

जिले में सबसे अधिक मतदाता,

मतदाताओं का समीकरण देखें तो जिले में सबसे अधिक मतदाता इसी सीट पर हैं। चार लाख 50 हजार से  अधिक मतदाताओं वाले इस सीट पर करीब 85 हजार मुस्लिम मतदाता हैं। पिछड़ी जातियां 65 हजार, दलित 60 हजार, पाल 40 हजार, पटेल 30 हजार, मौर्य 35 हजार, वैश्य 30 हजार, ब्राह्मण 20 हजार मतदाता है।

Raj Dharm UP

राजधानी में बदमाश बेखौफ, अपराध बेकाबू-लखनऊ के गाजीपुर में पूर्व आईएएस की पत्नी की हत्या

लूट के विरोध में महिला की हत्या किए जाने की आंशका  घर में घुसकर बेरहमी से किया कत्ल, गले पर कसाव के निशान पति के घर लौटने पर हुई घटना की जानकारी, इलाके में सनसनी, पुलिस मौके पर ए अहमद सौदागर लखनऊ। राजधानी में बुजुर्ग अपने ही घरों में महफूज नहीं हैं।बदमाशों ने एक बार […]

Read More
Lifestyle Uttar Pradesh

केन मां कहे पुकार – टूट रही जीवन की धार आप सब मिलकर मुझे बचाओ: महेश प्रजापति

बांदा, 22 मई 2024 मीडिया प्रभारी मितेश कुमार ने प्रेस नोट के माध्यम से अवगत कराया कि विश्व हिंदू महासंघ गौ रक्षा समिति के तत्वाधान में केन जल आरती कार्यक्रम का भव्य आयोजन भक्तों के द्वारा किया गया। मीडिया प्रभारी मितेश कुमार ने बताया कि गर्मी का माहौल काफी बढ़ता दिख रहा है जिसके अंतर्गत […]

Read More
Raj Dharm UP

अमीनाबाद में व्यापारियों ने किया योगी का स्वागत

लखनऊ। अमीनाबाद सभा में पहुंचे योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करते अमीनाबाद संघर्ष समिति के सदस्य अमीनाबाद में राजनाथ सिंह के समर्थन में सभा में शामिल हुए उतर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ  से मिले अमीनाबाद संघर्ष समिति के पदाधिकारियों के अनुसार योगी आदित्यनाथ से मिलकर पदाधिकारियों ने खुशी जाहिर की व अमीनाबाद आने पर […]

Read More