UPPSC परीक्षा में विद्या भारती के पूर्व छात्रों ने लहराया परचम

क्षेत्रीय संगठन मंत्री ने चयनित छात्रों को दी शुभकामनाएं,


लखनऊ। विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षण संस्थान विश्व का सबसे बड़ा गैर सरकारी शैक्षिक संगठन है, जो पिछले कई दशकों से पूरे देश में लाखों छात्रों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार और उनके सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पबद्ध है। वर्तमान में पूरे देश में विद्या भारती के 13 हजार औपचारिक व 12 हजार अनौपचारिक शिक्षण संस्थान हैं। लगभग 25 हजार शिक्षण संस्थान विद्या भारती के निर्देशन में चल रहे हैं, जिनमें लगभग 35 लाख भैया-बहिन, लगभग 1.5 लाख समर्पित एवं परिश्रमी आचार्यों के मार्गदर्शन में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश, जिसमें उत्तर प्रदेश के 49 जिले आते हैं। तीन लाख 25 हजार भैया-बहिन, 12 हजार आचार्यों के मार्गदर्शन में 1052 सरस्वती विद्या मंदिरों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश के इन विद्यालयों के 16 भैया-बहिन UPPSC में चयनित हुए हैं, जिससे पूरे विद्या भारती परिवार, अभिभावकों, छात्रों, आचार्यों एवं प्रबंध समिति के सदस्यों में उत्साह व उमंग का माहौल है।

विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय संगठन मंत्री हेमचन्द्र ने UPPSC में चयनित सभी छात्रों एवं उनके अभिभावक, आचार्यों को शुभकामनाएं एवं बधाई दी। उन्होंने कहा कि विद्या भारती के संस्थानों से निकले पूर्व छात्र देश-विदेश में विभिन्न क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और राष्ट्र के विकास में अपना योगदान कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी विद्या भारती के कई पूर्व छात्रों  ने UPPSC में चयनित होकर संस्थान एवं सरस्वती विद्या मंदिर का नाम रौशन किया है।

UPPSC में चयनित आलोक सिंह (रानी रेवती सरस्वती विद्या निकेतन, राजापुर, प्रयागराज), गौरव त्रिपाठी (जय बजरंग विद्या मंदिर, रामनगर, अम्बेडकरनगर), अभिषेक त्रिपाठी (आनंदी देवी सरस्वती विद्या मंदिर, सीतापुर), संदीप त्रिपाठी (सरस्वती विद्या मंदिर, तुलसी नगर, अयोध्या), श्रद्धा उपाध्याय (सरस्वती विद्या मंदिर, टांडा, अम्बेडकरनगर), प्रतीक्षा त्रिपाठी (सरस्वती विद्या मंदिर, लहरपुर, सीतापुर), ज्योति जैन (सरस्वती विद्या मंदिर, रामसनेही घाट, सुमेरपुर, बाराबंकी), संस्कृति गुप्ता (सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, बारीनाथ, जौनपुर), हिमांशु द्विवेदी (ज्वाला देवी सरस्वती विद्या मंदिर, सिविल लाइन्स, प्रयागराज), दिनेश मिश्र (नागाजी सरस्वती विद्या मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, माल्देपुर, बलिया), मनीष मिश्र (सरस्वती विद्या मंदिर, तेतरी बाजार, सिद्धार्थनगर), निधि पटेल (सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, VIP रोड, फतेहपुर), स्वेता त्रिपाठी ( सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, VIP रोड, फतेहपुर), दिवाकर पटेल (सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, कर्वी, चित्रकूट) और UPPSC-J में चयनित अलका मौर्या (जय बजरंग विद्या मंदिर, रामनगर, अम्बेडकरनगर) व अभिषेक त्रिपाठी (सरस्वती विद्या मंदिर तुलसीनगर, अयोध्या) के पूर्व छात्र हैं।

Central UP

कल से सजेगा रवीन्द्रालय चारबाग में किताबों का मेला

कला संस्कृति साहित्य की थीम भरेगी मेले में नया उत्साह होंगे भव्य साहित्यिक, सांस्कृतिक और प्रतियोगितात्मक आयोजन लखनऊ। रवीन्द्रालय चारबाग लान में दो मार्च से प्रारम्भ होने वाला लखनऊ पुस्तक मेला इस बार कई मामलों में विशिष्ट होगा। इसबार पुस्तक मेले की थीम कला संस्कृति साहित्य रखी गयी है। नयी पुरानी किताबों के इस निःशुल्क […]

Read More
Central UP

डॉ. वर्तिका शुक्ला को मिली PHD की उपाधि

लखनऊ। डॉ एसपी शुक्ला की पुत्री वर्तिका शुक्ला को महर्षि यूनिवर्सिटी ऑफ इनफर्मेशन टेक्नोलॉजी महर्षि नगर आईआईएम रोड, लखनऊ से Electronics & Communication Engg. में PHD डिग्री अवार्ड की है। वर्तिका शुक्ला एक प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्य कर रही है उनका रिसर्च टॉपिक INDEX MODULATION AND CHANNEL CODING TECHNIQUES […]

Read More
Central UP

कलयुगी पत्नी की हकीकत: पति को उतारा मौत के घाट

इंदिरा नगर क्षेत्र में हुई घटना का मामला ए अहमद सौदागर लखनऊ। बीते दिनों अपनों के हाथों अपनों की हुई कई संगीन घटनाओं के मामले शांत भी नहीं पड़े थे कि अब राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर क्षेत्र में मामूली कहासुनी के बाद कलयुगी पत्नी ने सिलबट्टे से वारकर पति को मौत के घाट उतार […]

Read More