Many allegations made today from both sides : पहलवानों और बृजभूषण शरण सिंह की लड़ाई के बीच खेल मंत्रालय ले सकता है बड़ा फैसला

पिछले तीन दिनों से यौन शोषण के मामले में पहलवानों और भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष और भाजपा के सांसद बृजभूषण शरण सिंह के बीच जारी लड़ाई का फैसला अभी तक नहीं हो सका है। शुक्रवार को दोनों ओर से घमासान और तेज हो गया है। ‌जहां एक और पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ से बृजभूषण शरण सिंह को हटाने के लिए पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरे हैं। दिल्ली का जंतर मंतर कुश्ती का अखाड़ा बन गया है। वहीं दूसरी ओर बृजभूषण शरण सिंह ने साफ तौर पर कह दिया है कि वह इस्तीफा नहीं देंगे। तीन दिन से बृजभूषण शरण के इस्तीफे की मांग कर रहे महिला और पुरुष पहलवानों ने भारतीय ओलिंपिक संघ में यौन शोषण की शिकायत की है। खेल मंत्रालय ने लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी इन पहलवानों से बातचीत की। गुरुवार को खेल मंत्री अनुराग ठाकुर की पहलवानों के साथ चार घंटे बैठक चली थी।

अनुराग ठाकुर अभी बृजभूषण के जवाब का इंतजार कर रहे हैं। भारतीय कुश्ती महासंघ को हटाने की मांग में प्रदर्शन कर रही पहलवान विनेश फोगाट ने एक बार फिर आगे आकर मीडिया से अपनी बात कही। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि ये हमारे आत्मसम्मान की लड़ाई है। हिंदुस्तान के पहलवान डरने वाले नहीं हैं। इसके साथ ही उन्होंने एफआईआर का जिक्र करते हुए कहा कि हम अभी एफआईआर नहीं कर सकते हैं। कुश्ती महासंघ प्रमुख बृजभूषण पर तीखा प्रहार करते हुए विनेश ने कहा कि बृजभूषण चुप क्यों नहीं हो रहे हैं। ये सिर्फ मेरा नहीं बल्कि कई लड़कियों का मामला है। विनेश ने कहा, लड़कियों का हैरसमेंट होता था। सुबूत के तौर पर हमारे पास हैरसमेंट का ऑडियो भी है। विनेश ने कहा, आज शाम को हमारी मीटिंग है। सरकार के समक्ष हम अपनी सारी मांगें रख रहे हैं। विनेश का कहना है कि हम यहां आत्म सम्मान की लड़ाई के लिए आए हैं। उन्‍होंने कहा कि हमारे परिजन भी हमारा साथ दे रहे हैं और उनका कहना है कि जो हुआ वैसा किसी एक लड़की के साथ नहीं हुआ, बहुत सारी लड़कियां हैं, जिन्‍हें प्रताड़ित किया जा रहा था।

भारतीय संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण के खिलाफ अब कई और खिलाड़ियों ने मोर्चा खोल दिया है। हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के कई खिलाड़ियों ने मैच खेलने से इनकार कर दिया है। आधा दर्जन से ज्यादा खिलाड़ी बिना मैच खेले वापस जा रहे हैं। इन खिलाड़ियों का कहना है कि वह अपनी स्वच्छा से मैच नहीं खेल रहे हैं और प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दिल्ली के जंतर-मंतर जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर यौन शोषण के आरोपों में घिरे भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने शुक्रवार को इस्तीफा देने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, ‘मैं मुंह खोल दूंगा तो सुनामी आ जाएगी। मेरे समर्थन में भी कई खिलाड़ी हैं। मैं शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा।’ सूत्रों की माने तो खेल मंत्रालय भारतीय कुश्ती महासंघ पर डायरेक्ट एक्शन नहीं ले सकता है, लेकिन इंडियन ओलिंपिक संघ फेडरेशन को भंग कर सकता है।

वहीं दूसरी ओर आज शाम करीब छह बजे अनुराग ठाकुर के आवास पर खेल सचिव सुजाता चतुर्वेदी मिलने पहुंचीं हैं। वहीं प्रदर्शनकारी पहलवान खेल मंत्री से दिल्ली स्थित आवास पर मिलने पहुंचे हैं। वहीं दूसरी ओर TMC सांसद महुआ मोइत्रा की तरफ से बीजेपी पर निशाना साधा गया है। उन्होंने कहा है कि ये कैसी पार्टी है जो अपने एक सांसद के खिलाफ व्हिप भी जारी नहीं कर सकती है। अगर बृजभूषण छूट गए तो वापस कुर्सी संभाल लेंगे, खेल मंत्री को उनका इस्तीफा लेना चाहिए।

Delhi

मोदी की काशी यात्रा

डॉ दिलीप अग्निहोत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की काशी यात्रा के कई रोचक संदर्भ है। वह अयोध्या धाम में श्रीराम मन्दिर प्राण प्रतिष्ठा के एक माह पूरे होने पर काशी पहुँचे। इसके पहले उन्होंने मेहसाणा गुजरात में एक मन्दिर का उद्घाटन किया। करीब चैदह सौ करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का शुभारंभ किया। इसी प्रकार काशी […]

Read More
Delhi

सुप्रीम कोर्ट ने ‘वीडियो रीट्वीट-मानहानि’ मामले में केजरीवाल को दी अंतरिम राहत

नई दिल्ली । उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को यूट्यूबर ध्रुव राठी की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आईटी सेल से संबंधित कथित अपमानजनक वीडियो को ‘रीट्वीट’ करने के आरोप में निचली अदालत में चल रही मानहानि मामले में राहत देते हुए संबंधित कानूनी कार्यवाही पर 18 मार्च तक रोक लगा दी। न्यायमूर्ति […]

Read More
Delhi

कानून के समक्ष समानता के बिना लोकतंत्र नहीं : धनखड़

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने सोमवार को कहा कि कानून के समक्ष समानता के बिना कोई भी लोकतंत्र जीवित और विकसित नहीं हो सकता। धनखड़ ने मिजोरम विश्वविद्यालय के 18वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि अब कानून के समक्ष समानता जमीनी हकीकत है और जो लोग खुद को कानून से ऊपर […]

Read More