त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में होगा खिचड़ी मेला, मुख्य सचिव और DJP ने किया गोरखनाथ मंदिर का निरीक्षण

राजीव पांडेय


गोरखपुर। मकर संक्रांति के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर में लगने वाले खिचड़ी मेले की शुरुआत 14 जनवरी से होगी जो एक माह तक चलेगा इस मेले में नेपाल, बिहार, उत्तर प्रदेश एवं देश के विभिन्न प्रदेशों से लाखों श्रद्धालु गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने आते हैं। मेले की तैयारियों का जायजा लेने प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र एवं प्रदेश के DJP डॉ देवेंद्र सिंह चौहान गोरखनाथ मंदिर पहुँचे जहां पर गुरु श्रीगोरक्षनाथ का दर्शन किया उसके बाद गोरखनाथ मंदिर परिसर में खिचड़ी मेले का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था को जांचा और अधिकारियों को निर्देशित किया।

मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने कहा कि खिचड़ी मेले में केवल गोरखपुर के लोग ही नहीं बल्कि आसपास के इलाकों से लाखों श्रद्धालु आते हैं। यहां पर श्रद्धालुओं को अच्छी व्यवस्था मिले साफ सफाई, शौचालय ,मेडिकल एवं सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए हम लोगों ने यहां निरीक्षण किया है। जिस प्रकार से प्रदेश में बदलाव हो रहा है। यहां पर आकर लोगों को बदलते हुए उत्तर प्रदेश का अनुभव होना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के DJP डॉ देवेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि इस बार लाखों की संख्या में लोग यहां आएंगे इसलिए यहां पर पुलिस विभाग द्वारा तीन स्तर की सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है। एक भीड़ नियंत्रण की दूसरी उनके सेफ्टी के लिए और तीसरा उनकी सुरक्षा के लिए इसके अलावा तीन चक्रीय व्यवस्था के अनुरूप पुलिस फोर्स का डेप्लॉयमेंट किया जाएगा। मेले में ATS, STF की भी ड्यूटी लगाई जाएगी। ताकि सुरक्षित त्योहार आम आदमी मना सके।

 

Religion

ऐसी लड़क‌ियां होती है भाग्यशाली, म‌िलता है प्यार और पैसा भी,

समुद्रशास्‍त्र में स्‍त्री पुरुषों के कई शुभ अंग लक्षण बताए गए हैं यानी समुद्रशास्‍त्र के अनुसार स्‍त्री पुरुष के कुछ अंगों और उनकी बनावट को देखकर आप जान सकते हैं क‌ि कौन भाग्यशाली और सुखी व्यक्त‌ि होगा और क‌िसे जीवन में तमाम मुश्क‌िलों का सामना करना होगा। गरुड़ पुराण और भव‌िष्य पुराण में भी इन […]

Read More
Religion

शारीरिक विशेषताओं से जानिए सौभाग्य

जयपुर से राजेंद्र गुप्ता कहते हैं किसी इंसान को देखकर ही उसकी चारित्रिक विशेषताओं का आकलन किया जा सकता है। चेहरा हमारे व्यक्तित्व और स्वभाव का प्रतिनिधित्व करता है। मन के भीतर जो भाव चलते हैं वही चेहरे पर प्रतिबिंबित होते हैं। आइए जानते हैं ज्योतिष के आधार पर मस्तक और बाल की प्रकृति से […]

Read More
Religion

क्या होता है ऋणबंधन? क्या पितरों का ऋण न चुकाने पर मिलता है श्राप?

प्रत्येक मनुष्य जातक पर उसके जन्म के साथ ही तीन प्रकार के ऋण अर्थात देव ऋण, ऋषि ऋण और मातृपितृ ऋण अनिवार्य रूप से चुकाने बाध्यकारी हो जाते है। जन्म के बाद इन बाध्यकारी होने जाने वाले ऋणों से यदि प्रयास पूर्वक मुक्ति प्राप्त न की जाए तो जीवन की प्राप्तियों का अर्थ अधूरा रह […]

Read More