सरकार ने ईंधन निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर में कटौती की, घरेलू कच्चे तेल पर शुल्क बढ़ाया

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में नरमी को देखते हुए डीजल और एटीएफ (विमान ईंधन) पर अप्रत्याशित लाभ कर में कटौती की है। हालांकि घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर शुल्क बढ़ा दिया है। एक आधिकारिक अधिसूचना के मुताबिक, डीजल के निर्यात पर कर जहां 11 रुपये से घटाकर पांच रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है, वहीं ATF पर इसे खत्म करने का फैसला लिया गया है। इसी तरह, पेट्रोल के निर्यात पर शून्य कर जारी रहेगा।

अधिसूचना के अनुसार, घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर कर 17,000 रुपये प्रति टन से बढ़ाकर 17,750 रुपये प्रति टन कर दिया गया है। यह कदम ओएनजीसी और वेदांता लिमिटेड जैसे उत्पादकों को प्रभावित कर सकता है। भारत ने पहली बार एक जुलाई को अप्रत्याशित कर लाभ लगाया था। इसी के साथ वह उन देशों में शामिल हो गया था, जो ऊर्जा कंपनियों के मुनाफे पर कर लगाते हैं। हालांकि, तब से अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में गिरावट आने लगी है, जिससे तेल उत्पादकों और रिफाइनरी, दोनों के मुनाफे में कमी दर्ज की गई है।

सरकार ने एक जुलाई को पेट्रोल और एटीएफ के निर्यात पर छह रुपये प्रति लीटर तथा डीजल के निर्यात पर 13 रुपये प्रति लीटर की दर से कर लगा दिया था। इसके अलावा कच्चे तेल के घरेलू स्तर पर उत्पादन पर 23,250 रुपये प्रति टन की दर से कर लगाया गया था। (भाषा)

Biz News Business

पेट्रोल-डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्ली।  पेट्रोल और डीजल के दाम मंगलवार को स्थिर रहे।  इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) की एक अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल 96.72 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर पर बेचा गया। मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 106.31 रुपये जबकि डीजल 94.27 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है। चेन्नई में […]

Read More
Biz News Business homeslider International

चाइनीज मोबाइल कंपनियों के खिलाफ़ एक्शन में ED, लंबे समय से टैक्स चोरी और नाज़ायज तरीके से विदेशों में पैसे भेजने के आरोप,

नया लुक ब्यूरो पिछले दो वर्षों में गलवान में भारत और चीन के बीच का सैन्य तनाव आर्थिक मोर्चे पर भी दिखा है। भारत सरकार चाइनीज कंपनियों के खिलाफ उनकी गलतियों पर सख्त कार्रवाई कर रही है और मोबाइल कंपनियों Xiaomi, Vivo और Oppo पर टैक्स चोरी के गंभीर आरोप हैं। इसको लेकर कंपनियों के […]

Read More
Biz News Business

सुप्रसिद्ध चरखा लोगो और खादी मार्क पर KVIC का अधिकार: दिल्ली उच्च न्यायालय

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने एक आदेश में कहा कि खादी ट्रेडमार्क और चरखा लोगो सुप्रसिद्ध हैं और इसपर खादी विकास और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) का अधिकार है। KVIC बीते माह दिल्ली उच्च न्यायालय गयी थी जिसमें ‘खादी बाय हेरिटेज’ नामक एक निजी संस्था के खिलाफ स्थायी निषेधाज्ञा, लागत और नुकसान भरपाई की मांग […]

Read More