भाजपा सरकार की योजनाओं को प्रदेश की जनता ने नकारा!

  • भाजपा सरकार की योजनाओं को प्रदेश की जनता ने नकारा!
  • सविधान बचाओ, महंगाई और बेरोजगारी मुद्दो ने बिगाड़ा भाजपा का गणित
  • प्रदेश के चुनाव परिणाम से इंडिया गठबंधन के हौसले बुलंद

राकेश यादव

लखनऊ। केंद्र की भाजपा सरकार ने देश को चांद पर पहुंचाया! जिस सरकार ने करोड़ों हिंदुओ की आस्था राम मंदिर बनवाया! देश के करोड़ों गरीब को मुफ्त राशन दिया और करोड़ों महिलाओं को गैस कनेक्शन दिया। उस सरकार के इन जनहितकारी योजनाओं को खासकर प्रदेश की जनता ने सिरे से ही नकार दिया। इस सच की पुष्टि प्रदेश के लोकसभा चुनाव के परिणाम करते नजर आ रहे है। चुनाव परिणामों से भाजपा खेमे में खलबली मची हुई है वही इससे इंडिया गठबंधन के हौसले बुलंद हो गए है।

केंद्र की भाजपा सरकार ने करोड़ों गरीबों को मुफ्त राशन और उज्जवला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन देकर मतदाताओं को आकर्षित करने का प्रयास किया। देश एवं प्रदेश की गरीब जनता अपने पाले में लाने के लिए करोड़ों परिवार को शौचालय दिए गया। आम जनमानस को प्रभावित के लिए जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाया। इन कार्यों का फायदा मिलने के बजाय आज उस पार्टी को खासकर प्रदेश में इसके नुकसान का सामना करना पड़ा।

त्वरित टिप्पणी :अयोध्या की दर्दनाक पराजय, उत्तर प्रदेश में खिसकती जमीन और भाजपा

देश में हुए लोकसभा चुनाव के मंगलवार को मतगणना के बाद परिणाम घोषित किए। चुनाव में मुख्य मुकाबला एनडीए और इंडिया के बीच रहा। केंद्र की एनडीए सरकार जनहित योजनाओं के साथ राम मंदिर निर्माण के सहारे चुनाव वैतरणी पार करने जुगत में थी। लोकसभा चुनाव के परिणामों खासकर प्रदेश की जनता ने केंद्र सरकार की योजनाओं और कार्यों को सिरे से ही नकार दिया। आलम यह रहा कि जिस लोकसभा क्षेत्र में राम मंदिर का निर्माण कराया गया वहां की जनता ने भी भाजपा प्रत्याशी का समर्थन नहीं किया और उसको भी हार का सामना करना पड़ा। प्रदेश के चुनाव परिणामों से इंडिया गठबंधन के नेताओ में नई ऊर्जा का संचार किया वहीं एनडीए खेमे में हड़कंप जरूर मचा दिया है। चुनाव के पहले से जो दल प्रदेश में 80 की 80 सीट जीतने का दावा कर रहा था वह एक्जिट पोल के दावों पर भी खरा नहीं उतर पाया। अब परिणामों को लेकर तमाम तरह के कयास जरूर लगाए जा रहे है।

बॉक्स

अधूरा रह गया हैट्रिक मारने का सपना

पिछले दो लोकसभा चुनावों में राजधानी लखनऊ जिले की दोनों लखनऊ और मोहनलालगंज सीट पर भाजपा का कब्जा था। इस बार के चुनाव में लखनऊ लोकसभा सीट पर पिछले चुनाव में बंपर वोट से जीत हासिल करने वाले राजनाथ सिंह ने काफी कम मार्जिन से जीत हासिल की। वहीं मोहनलालगंज सीट पर हैट्रिक का ख्वाब देख रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर को बुरी हार का सामना कर इस सीट को गंवाना पड़ा। चर्चा है कि जनता से दूरी बनाए रखने वाले सांसद से इस बार जनता ने ही उनसे दूरी बना ली

पंकज चौधरी ने सातवीं बार जीत कर रच दिया इतिहास,दूसरी बार लगाया जीत की हैट्रिक, विरोधी पस्त

Loksabha Ran

नई सरकार और परदे के पीछे की पूरी पटकथाः ऑफेंसिव डिफेंस के साथ एक बार फिर मोदी पूरी ताकत से एक्शन में

(शाश्वत तिवारी) जल्दबाजी में एक लाख रुपये का फैसला करना कांग्रेस को पड़ा भारी मुस्लिम महिलाओं ने रात में ही कर ली थी साढ़े आठ हजार लेने की तैयारी अखिलेश भी नहीं समझ पाए मोदी और शाह की चाल, फंस गए नीतीश और नायडु लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद यह स्पष्ट हुआ कि भाजपा […]

Read More
Loksabha Ran

विशेष लोकसभा चुनाव  2024: कमाल के निकले यूपी के शहजादे

अकेले पूरी भाजपा पर पड़े भारी, राहुल अखिलेश की जोड़ी से हारे भगवाई  यशोदा श्रीवास्तव उत्तर प्रदेश में भाजपा को क्यों झेलनी पड़ी शर्मनाक हार? वह भी तब जब मोदी के चार सौ पार के ऐलान में यूपी की 80 की 80 सीट भी शामिल थी। यहां अयोध्या भी है,काशी,मथुरा भी है और ये सबके […]

Read More
Loksabha Ran

अमित शाह के गेम प्लान के कारण BJP को इस लोकसभा चुनाव में हुआ बड़ा नुकसान

योगी आदित्यनाथ की बात न मानना आज पड़ गया महंगा विधानसभा चुनाव के पहले एक बार फिर से साथ आए संगठन और सरकार भारतीय जनता पार्टी (BJP)  ने उत्तर प्रदेश (UP) में 10 साल का सबसे खराब प्रदर्शन किया है। यहां न केवल सीटों में गिरावट आई, बल्कि वोट प्रतिशत भी पार्टी के पक्ष में […]

Read More