गाना हुआ लॉन्चः ‘पापा कहते हैं 2.0’ में देखिए आमिर का क्रिएशन और उदित की जादुई आवाज

  • आमिर खान ने लांच किया फ़िल्म श्रीकांत – आ रहा है सबकी आखें खोलने का गाना पापा कहते – 2.0

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता आमिर ख़ान ने राजकुमार राव की फ़िल्म श्रीकांत – आ रहा है सबकी आंखें खोलने का गाना पापा कहते – 2.0 रिलीज किया है। ‘श्रीकांत- आ रहा है सबकी आंखें खोलने’ का दूसरा गाना- ‘पापा कहते हैं 2.0’ को आमिर खान ने लांन्च किया।

गाने के स्टार आमिर खान के साथ-साथ राजकुमार राव, अलाया एफ, शरद केलकर , उदित नारायण , निर्देशक तुषार हीरानंदानी और निर्माता निधि परमार हीरानंदानी की मौजूदगी में एक दृष्टिबाधित बैंड द्वारा लाइव परफॉर्म किया । दृष्टिबाधित बैंड के सदस्यों ने आमिर खान के फेमस सॉंग ‘ऐ मेरे हमसफ़र’ के साथ ‘पापा कहते हैं’ पर भी परफॉर्म किया साथ ही इस गाने पर आमिर ख़ान राजकुमार राव और उदित नारायण भी गुनगुनाते नज़र आये । बैंड के इस लाइव परफॉर्मन्स की फेन्स की जम कर सराहना की।

पापा कहते हैं 2.0 को उदित नारायण ने गाया है, और इसका म्यूजिक आदित्य देव ने रिक्रिएट किया है, जबकि ओरिजिनल म्यूजिक आनंद मिलिंद ने दिया है। गाने के बोल मजरूह सुल्तानपुरी ने लिखे हैं। गुलशन कुमार और टी-सीरीज़ प्रस्तुत टी-सीरीज़ फिल्म्स और चॉक एन चीज़ फिल्म्स प्रोडक्शन एलएलपी, ‘श्रीकांत – आ रहा है सबकी आंखें खोलने’ तुषार हीरानंदानी द्वारा निर्देशित है, भूषण कुमार, कृष्ण कुमार और निधि परमार हीरानंदानी द्वारा निर्मित है। यह फिल्म 10 मई 2024 को अक्षय तृतीया के अवसर पर देशभर में रिलीज होगी। (वार्ता)

Entertainment

संजय बिश्नोई की फिल्म संतोष का काँस फिल्म फेस्टिवल में हुआ ऑफिसियल सिलेक्शन

एमी-विनिंग  सीरीज़ दिल्ली क्राइम और 12वीं फेल का हिस्सा बनने के बाद, संजय बिश्नोई ने अपने नाम में एक और उपलब्धि जोड़ ली है हालही में चल रहे 77वें कान्स फिल्म फेस्टिवल में उन्हें  भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। अभिनेता की फिल्म संतोष को अन सर्टन रिगार्ड कैटेगरी  में प्रतिष्ठित मंच पर प्रदर्शित […]

Read More
Entertainment

बात फिल्म इंड्रिस्ट्री के पहले “एंटी-हीरो” अशोक कुमार की….

शाश्वत तिवारी कलकत्ता से वकालत पढ़े अशोक कुमार को फिल्में देखना बहुत पसंद था। वो क्लास के बाद वे अपने दोस्तों के साथ थियेटर चले जाते थे। तब आई हीरो के. एल. सहगल की दो फिल्मों से वे बहुत प्रभावित हुए – ‘पूरण भगत’ (1933) और ‘चंडीदास’ (1934)। वे तत्कालीन बंगाल में आने वाले भागलपुर […]

Read More
Entertainment

पुण्यतिथि पर विशेषः जब नौशाद ने मुगल-ए-आजम का संगीत देने से कर दिया था मना

पांच मई को दुनिया से रुखसत हुए थे, 25 दिसम्बर 1919 को जन्मे थे नौशाद मुंबई। वर्ष 1960 में प्रदर्शित महान शाहकार मुगल-ए-आजम के मधुर संगीत को आज की पीढ़ी भी गुनगुनाती है लेकिन इसके गीत को संगीतबद्ध करने वाले संगीत सम्राट नौशाद ने पहले मुगल-ए-आजम का संगीत निर्देशन करने से इंकार कर दिया था। […]

Read More