मथुरा से तीसरी बार संसद जाने को तैयार जाट बहू हेमामालिनी

  • अब तक 17 बार हुए चुनावों में 12 बार मथुरा से जाट बिरादरी के प्रत्याशी रहे विजेता
  • मथुरा से लगातार दो बार से जीत रही भाजपा सांसद अभिनेत्री हेमामालिनी
  • डबल इंजन के विकास मॉडल से मथुरा लोकसभा सीट एक बार फिर होगा भाजपा का कब्जा

मथुरा। जाटों की बहू ‘ड्रीम गर्ल’ हेमामालिनी को भाजपा ने लगातार तीसरी बार मथुरा लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है। पीएम मोदी की गारंटी और सीएम योगी पर यकीन हेमा मालिनी की हैट्रिक बनाने में सहायक सिद्ध होगी। वहीं अभिनेता धर्मेंद्र की पत्नी होने के नाते, वह मथुरा के लिए एक आदर्श उम्मीदवार हैं, जहाँ जाट मतदाता करीब 35% हैं। इस बार चुनावों में जयंत चौधरी का साथ भी भाजपा को मिलने जा रहा है, इससे मथुरावासियों की बहू हेमा मालिनी की जीत निश्चित मानी जा रही है।

BJP के लिए मथुरा लोकसभा सीट काफी महत्वपूर्ण है। भाजपा इस सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखना चाहती है। इसके लिए पूरी रणनीति के साथ भाजपा ने हेमा मालिनी को मथुरा से तीसरी बार चुनाव मैदान में उतारा है। उन्होंने पिछले दो लोकसभा चुनावों में प्रतिद्वंदियों को कड़ी शिकस्त दी। हेमा मालिनी अभिनेता धर्मेंद्र देओल की पत्नी है। इस नाते मथुरा के लोग उन्हें जाट की बहू ही मानते है। मथुरा जाट बाहुल्य क्षेत्र है। यमुना किनारे बसे मथुरा में करीब 35 फीसदी जाट मतदाता है। मथुरा सीट पर 17 बार चुनाव हुए, जिसमें 12 बार जाट बिरादरी के उम्मीदवार विजयी रहे। 1991 से 1999 तक चार बार मथुरा सीट भाजपा के कब्जे में रही। 2004 में मथुरा सीट कांग्रेस के खाते में चली गई। 2009 में आरएलडी के जयंत चौधरी मथुरा से सांसद बने।

साल 2014 में भाजपा ने हेमा मालिनी को चुनाव मैदान में उतारा। सिने स्टार हेमा ने अपने स्टारडम और मोदी लहर के चलते मथुरा की सीट भाजपा के खाते में आयी। वहीं 2019 में हुए चुनाव में हेमा के पति अभिनेता धर्मेंद्र ने भी उनके लिए प्रचार किया और उनके पक्ष में भारी भीड़ जुटाई थी। डबल इंजन सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं के चलते एक बार फिर 2019 में मथुरा पर कमल खिला और ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी सांसद बनी। हेमा मालिनी ने अपने दोनों कार्यकाल में सक्रिय रही। संसद से लेकर अपने क्षेत्र में भी हेमा लगातार संपर्क में रहीं। राजनीति के जानकारों का मानना है कि हेमा के साथ आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी NDA में शामिल होने के बाद भाजपा को न केवल मथुरा और पश्चिमी यूपी के कुछ हिस्सों में जाट मतदाताओं को अपने पाले में लाने में मदद मिलेगी, बल्कि हरियाणा और अन्य जगहों पर भाजपा को इसका फायदा मिलेगा। दिलचस्प बात यह है कि हेमा ने 2014 में मथुरा सीट पर जयंत को 3 लाख से अधिक मतों से हराया था।

Uttar Pradesh

उत्साहित कांग्रेस यूपी में निकालेगी धन्यवाद यात्रा

उत्साहित कांग्रेस यूपी में निकालेगी धन्यवाद यात्रा रवि प्रकाश महराजगंज। उत्तर प्रदेश में चुनाव जीते और हारे सभी लोकसभा क्षेत्रों में कांग्रेस धन्यवाद यात्रा के जरिए जनता का आभार प्रकट करेगी। इसके लिए प्रति लोकसभा क्षेत्र पांच दिन की यात्रा प्रस्तावित है। इस बात की जानकारी इंडिया गठबंधन के लोकसभा प्रत्याशी रहे कांग्रेस विधायक वीरेंद्र […]

Read More
Loksabha Ran Uttar Pradesh

मोदी के भरोसे जीत की आस से कई सांसद निराश

मोदी के भरोसे जीत की आस से कई सांसद निराश पूर्वांचल और अवध क्षेत्र की जनता ने भाजपा को दिया करारा झटका जनहित के मुद्दों को दरकिनार कर केंद्र सरकार का बखान करना पड़ा भारी राकेश यादव लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी को अपने दम पर बहुमत हासिल करने के मंसूबे पर प्रदेश की जनता ने […]

Read More
Uttar Pradesh

नाबालिग चला रहे ई रिक्शा व आटो

देवांश जायसवाल महराजगंज। नाबालिग आटो और ई रिक्शा चालकों की वजह से दुर्घटना के ग्राफ में इजाफा हो रहा है। मजे की बात है पुलिस और आरटीओ महकमा इस ओर से आंख बंद किए हुए हैं। इससे भी अचरज की बात यह है कि संबंधित विभाग नाबालिगों को धड़ल्ले से ड्रायबरी लाइसेंस जारी कर रहा […]

Read More