पेट्रोलियम मंत्रालय ने भारत में रूसी कच्चे तेल के आयात-निर्यात पर CREA की रिपोर्ट को किया खारिज

भारत।  पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने बुधवार को CREA (सेंटर फॉर रिसर्च ऑन एनर्जी एंड क्लीन एयर) की भारत की रूस से सस्ती कीमत पर कच्चे तेल की खरीदी संबंधित रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। इस रिपोर्ट के माध्यम से आरोप लगाया गया है कि भारत उन पाँच देशों में शामिल है, जिन्होंने रूस से कच्चे तेल का आयात किया और उसे रिफाइन करके यूरोपियन यूनियन और कुछ G-7 देशों को निर्यात कर दिया। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए ट्विटर के माध्यम से कहा, “सेंटर फॉर रिसर्च ऑन एनर्जी एंड क्लीन एयर की रिपोर्ट, विश्व में चौथे सबसे बड़े तेल शोधक देश भारत की छवि को धूमिल करने का एक भ्रामक प्रयास है। यह वैश्विक स्तर पर आपूर्ति माँग की गतिशीलता और एक प्रमुख रिफाइंड प्रोडक्ट के निर्यातक के तौर पर भारत के लंबे इतिहास की समझ की कमी को दर्शाता है।

दरअसल, हेलसिंकी स्थित सीआरईए ने एक मई को एक रिपोर्ट में कहा कि भारत, चीन सहित शीर्ष उन पाँच देशों में शामिल है, जो सस्ते रूसी कच्चे तेल की खरीदी कर रहा है और इसे रिफाइंड पेट्रोलियम उत्पादों में परिवर्तित कर  यूरोप और सात देशों में निर्यात कर रहा है। इसका जवाब देते हुए पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने कहा कि एक संप्रभु देश के रूप में, भारत अंतर्राष्ट्रीय कानून की शर्तों के तहत वस्तुओं का आयात या निर्यात करने के लिए स्वतंत्र है, और उसके वैध कारोबार को लॉन्ड्रोमैट (धुलाई की मशीन) कहने का तात्पर्य एक “अवैध” गतिविधि से है, जिस पर भारत कड़ी आपत्ति जताता है।

मंत्रालय ने कहा, “रूस या अन्य स्थानों से 60 डॉलर प्रति बैरल से कम कच्चे तेल का आयात किसी भी अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध के तहत नहीं आता है। दुनिया भर में रिफाइनर से डीजल खरीदने पर ‘गठबंधन देश’ द्वारा कोई आत्म-प्रतिबंध भी नहीं लगाया है। ‘व्हाइटवाश्ड आयल’ जैसे शब्द का उपयोग करना कपट पूर्ण शरारत को दर्शाता है। मंत्रालय ने आगे कहा, “भारत आयात के माध्यम से रूस सहित कई देशों से अपनी ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति करता है, जो जगज़ाहिर है और न ही इसे लेकर भारत को कोई खेद है, जैसा कि विगत वर्ष के कई मंत्रिस्तरीय बयान स्पष्ट करते हैं।

Biz News Business

भूटान को आर्थिक संकट से बाहर निकालेगा भारत

थिम्पू। भूटान में भारत सरकार द्वारा समर्थित आर्थिक प्रोत्साहन कार्यक्रम (ESP) आधिकारिक तौर पर लॉन्च हो गया है। भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग टोबगे ने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान 15 अरब डॉलर के ESP की घोषणा की। भूटान में भारत के राजदूत सुधाकर दलेला ने लॉन्च के समय ESP की पहली किश्त के लिए […]

Read More
Biz News Business

निसान मोटर इंडिया ने स्माइल ट्रेन के साथ बदला 290 बच्चों का जीवन

कारपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत निसान ने बढ़ाया बड़ा कदम बिजनेस संवाददाता नई दिल्ली। निसान मोटर इंडिया ने स्माइल ट्रेन इंडिया के साथ अपनी सफल कारपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (CSR) के लिए साझेदारी की है। इसके तहत बच्चों और उनके परिवारों के साथ नई दिल्ली के संत परमानंद अस्पताल में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस […]

Read More
Business

पेंशन निधि विनियामक एवं विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष ने पेंशन योजना पर कही दो टूक

अब समय है कुछ नया करने का, केवल एक सामाजिक सुरक्षा योजना पर निर्भरता नाकाफी: मोहंती पुणे। पेंशन निधि विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) के अध्यक्ष दीपक मोहंती ने कहा कि एक मजबूत सेवानिवृत्ति कोष के निर्माण के लिए केवल एक सामाजिक सुरक्षा योजना पर निर्भर रहना नाकाफी है। मोहंती ने कॉर्पोरेट के साथ सेवानिवृत्ति […]

Read More