पाकिस्तान में हनुमान पर विवादित पोस्ट के बाद मुस्लिम पत्रकार गिरफ्तार

उमेश तिवारी

काठमांडू/नेपाल। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पुलिस ने एक पत्रकार को भगवान श्री हनुमान के अपमान के आरोप में ईशनिंदा कानून के तहत गिरफ्तार किया है। मीरपुरखास शहर के सेटेलाइट थाने में इस संबंध में एक मुकदमा भी दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता रमेश कुमार का कहना है कि वो लुहाना पंचायत मीरपुरखास के उपाध्यक्ष है। उनका दावा है कि 19 मार्च को वो अपने दोस्तों के साथ थे तभी उन्होंने देखा कि असलम बलोच नाम के एक स्थानीय पत्रकार ने भगवान श्री हनुमान की एक तस्वीर अपने फेसबुक पन्ने और व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर की है। रमेश कुमार ने अपनी शिकायत में कहा है कि भगवान हनुमान की ये तस्वीर साझा करके असलम बलोच ने उनकी और उन जैसे अन्य हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत किया है।

उन्होंने दावा किया ये तस्वीर शेयर करके धर्मों के बीच वैमनस्यता फैलाने और क़ानून व्यवस्था को खराब करने का प्रयास भी किया गया। सेटेलाइट पुलिस थाने ने रमेश कुमार की शिकायत पर असमल बलोच के ख़िलाफ़ पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 295ए और 153ए के तहत मुक़दमा दर्ज कर लिया। पाकिस्तान दंड संहिता के तहत धारा 295ए के तहत उन लोगों को सजा देने का प्रावधान है, जो जानबूझकर दो धर्मों के बीच वैमनस्यता फैलाने का प्रयास करते हैं। धार्मिक भावनाएं आहत करने पर भी इस धारा के तहत दस साल तक की सज़ा का प्रावधान है। पाकिस्तान में आमतौर पर ईशनिंदा के मुकदमे अल्पसंख्यक धर्मों के लोगों के खिलाफ दर्ज होते रहे हैं। लेकिन कुछ ऐसे उदाहरण भी हैं।

जब बहुसंख्यक मुसलमान समुदाय के लोगों पर भी ईशनिंदा के मामले दर्ज हुए हैं। पाकिस्तान के हिंदू समुदाय के लोगों ने इस सोशल मीडिया पोस्ट का विरोध किया था। वहीं सिंधी मुसलमानों ने भी इसे लेकर चिंताएं जाहिर की थीं। अल्पसंख्यक मामलों के प्रांतीय मंत्री ज्ञानचंद इसरानी ने सिंध के इंसपेक्टर जनरल से संपर्क किया और एसएसपी मीरपुरखास से भी बात की। उन्होंने पत्रकार को तुरंत गिरफ्तार करने के आदेश भी जारी किए। प्रांतीय मंत्री का कहना है कि किसी को भी किसी के धर्म का अपमान करने की इजाजत नहीं दी जाएगी और ऐसे कृत्यों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के भगवान का अपमान किया गया है जिससे हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं. सिंध को पाकिस्तान में धार्मिक सहिष्णुता का केंद्र भी माना जाता है।

मंत्री का कहना है कि हो सता है कि राज्य में शांति को भंग करने के लिए किसी साजिश के तहत ये काम किया गया हो। वहीं पुलिस हिरासत में असलम बलोच का एक वीडियो बयान भी सामने आया है जिसमें उन्होंने हिंदू समुदाय से माफी मांगी है।बलोच ने दावा किया है कि उन्होंने खुद वो पोस्ट नहीं की थी, वो किसी ने उनके साथ शेयर की थी जिसे उन्होंने आगे शेयर कर दिया। असलम बलोच का कहना है कि वो हमेशा से हिंदू धर्म के कार्यक्रमों में हिस्सा लेते रहे हैं। वहीं शिकायतकर्ता का कहना है कि हो सकता है कि ये कोई साजिश हो। पाकिस्तान में हिंदुओं की सबसे बड़ी आबादी सिंध प्रांत में ही रहती है। सिंध की 70 फीसदी हिंदू आबादी मीरपुरख़ास में रहती है। मीरपुरखास मंडल में सीमावर्ती जिला थरपारकर, उमरकोट और संघर आते हैं। इन जिलों की सीमाएं भारत से लगी हैं।

International

भारत के सहयोग से नेपाल में बने 3 स्कूलों का उद्घाटन

भारत के सहयोग से नेपाल में बने 3 स्कूलों का उद्घाटन नई दिल्ली। भारत की वित्तीय सहायता से बीते सप्ताह नेपाल के तीन अलग-अलग स्थानों पर 3 स्कूल भवनों का उद्घाटन हुआ। ‘नेपाल-भारत विकास सहयोग’ के तहत निर्मित इन स्कूल भवनों का उद्घाटन भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने स्थानीय नेताओं के साथ संयुक्त रूप से […]

Read More
International

नेपाल जाने वाले वाहनों में फिर चलने लगा कटिंग का खेल

हाफने लगा नौतनवा सोनौली मार्ग, लग रहा है लंबा-लंबा जाम पुलिस एवं उनके दलालों के मिली भगत से शुरू हो गया है कटिंग का कार्य देवांश जायसवाल महराजगंज। नेपाल जाने वाले भारी वाहनों की लंबी कतार और उसके धूएं आस पास के नागरिकों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। इसी के साथ पुलिस की मदद […]

Read More
International

नेपाल के डांग जिले में भारत की आर्थिक सहायता से दो स्कूल का उद्घाटन

काठमांडू। भारत सरकार की वित्तीय सहायता से नेपाल के डांग जिले में दो स्कूल भवनों का उद्घाटन किया गया। काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास के अनुसार, हाल ही में डांग के लमही नगरपालिका क्षेत्र में श्री बाल जनता माध्यमिक विद्यालय और डांग के घोराही उप महानगरीय शहर में श्री पद्मोदय पब्लिक मॉडल सेकेंडरी स्कूल भवन का […]

Read More