दो लाख अमेरिकियों के कोरोना से मरने का अनुमान

  • ट्रम्प ने सोशल डिस्टेंसिंग की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ाई

न्यूयॉर्क। दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका में कोरोना से 20,0000(दो लाख)लोगों की मौत होने की आशंका जताई गई है। वहां के शीर्ष स्वास्थ अधिकारी की ओर से जारी बयान के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश मे सोशल डिस्टेंसिंग की अवधि अप्रैल तक बढ़ा दी है।डॉक्टरो ने कहा कि अगर लोगों के जमावड़े को कड़ाई से रोका नही गया तो 10 लाख लोगों की मौत हो सकती है। अमेरिका में इस समय एक लाख 40 हजार लोग संक्रमित हो चुके है और 2000 से ऊपर की मौत हो चुकी है।

इस चेतावनी के बाद अमेरिका में राष्ट्रपति ट्रम्प ने सामाजिक सुरक्षा के दिशा-निर्देशों को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के निदेशक और देश के प्रमुख संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ एंथनी एस फाउसी ने व्हाइट हाउस में ब्रीफिंग के दौरान कहा कि स्थिति गंभीर है। अमेरिका को देश मे कड़े प्रतिबंध लगाने होंगे। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि अगर हम उस सीमा तक संक्रमण कम नहीं कर पाए जो कि हम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो मौतों का आंकड़ा 10 लाख से ऊपर पहुँचने से कोई रोक नहीं सकता।

 

व्हाइट हाउस के कोरोनोवायरस टास्क फोर्स के प्रमुख समन्वयक डॉ डेबोरा एल ब्रिक्स ने कहा कि सरकार के मॉडल का अनुमान लगाने और प्रतिबंध लगाने के बावजूद कोविद -19 का दो लाख से ज्यादा लोगों पर कहर टूटेगा। उन्होंने कहा कि बिना किसी एहतियाती उपाय के, 1.6 मिलियन से 2.2 मिलियन अमेरिकी नागरिक वायरस की जटिलताओं से मर सकते हैं। उनमें से कुछ ने तो आधे अमेरिका के संक्रमित हो जाने का की आशंका व्यक्त की है।

डॉ. बीरक्स ने कहा कि अगर अमेरिकी एक माह और अपने घर मे रहने का जोखिम नही उठाते तो उन्हें मरने से कोई नहीं बचा पायेगा। अमेरिका के लिए यह कयामत साबित होगा। हमने यह निष्कर्ष हजारो वैज्ञानिक सबूतों के परीक्षण के बाद निकाला है।