युवक की मौत के मामले की निष्पक्ष जांच हो : नित्यानंद

  • अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता समर्थन में आए
  • सीएमओ सहित स्टॉप को बर्खास्त करने की मांग की
  • स्वास्थ्य मंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा

विपिन श्रीवास्तव

सिद्धार्थनगर। जिला अस्पताल में हुई युवक के मौत के मामले की जांच के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता समर्थन में आ गए हैं। सीएमओ सीएमएस सहित स्टॉप के अन्य लोगों को बर्खास्त करने की मांग की है। बृहस्पतिवार को कलेक्ट्रेट परिसर में बैठक करके विरोध जताया। स्वास्थ्य मंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।

जिला संयोजक नित्यानंद ने कहा की जिला अस्पताल में डुमरियागंज थाना क्षेत्र के 1 गांव निवासी एक 32 वर्षीय युवक ने इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया। मगर चिकित्सकों द्वारा इलाज नहीं किया गया। आग्रह पर डीएम से लिखित पत्र लाने के बाद ही इलाज की बात कर रहे थे। इस बीच युवक की मौत हो गई थी। इसमें पूरे स्वास्थ्य महक में की लापरवाही है। मामले की जांच करते हुए दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए और उन्हें बर्खास्त किया जाए। 48 घंटे में अगर कार्रवाई नहीं हुई तो संगठन आंदोलन को बाध्य होगा। इस दौरान संगठन के राजन द्विवेद्वी, संगठन मंत्री आकर्षण, प्रियांशु त्रिपाठी, विपुल शुक्ल, जतिन चौबे आदि मौजूद रहे।