कृषि में युवाओं के लिए है अपार संभावनाएंः डाँ. यूएस गौतम

बांदा । रोजगार प्राप्त करने हेतु कृषि क्षेत्र बहुत ही व्यापक है। कृषि में विभिन्न क्रिया कलापों को संपादित करने हेतु मानव शक्ति की आवश्यकता होती है। प्रशिक्षण प्राप्त युवा कृषि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। बुंदेलखंड परिक्षेत्र में जैविक कृषि की अपार संभावनाएं है। इसके लिए मुख्य रूप से केंचुआ खाद उत्पादन तथा जैविक आदान प्रमुख घटक के रूप में इस ओर महत्वपूर्ण बनाते है।

यह बात कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डाँ. यूएस गौतम ने कौशल विकास कार्यक्रम के अंतर्गत केंचुआ खाद उत्पादक विष्यक तीस दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षुओं से वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय युवाऔं, कृषकों, महिलाओं को तथा अन्य रोजगार इच्छुक छात्रों को विभिन्न विषयों जैसे केंचुआ खाद उत्पादन, मशरूम उत्पादन, बीज उत्पादन, बकरी पालन, माली व अन्य कृषि संबंधी विषयों में रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण वर्ष भर देता है।

आवश्यकता है संपर्क स्थापित करने तथा रूचि दिखाने की। तीस दिवसीय केंचुआ खाद उत्पादक प्रशिक्षण के मुख्य प्रशिक्षक एवं मृदा विज्ञान के डा अरविंद गुप्ता ने बताया कि इस प्रशिक्षण में 25 युवा व कृषक प्रतिभाग कर रहे है। इस प्रशिक्षण में मुख्य रूप से केंचुआ खाद, वर्मी वाश, वेस्ट डीकम्पोसर, जीवामृत्त बनाना सिखाया जा रहा है। इसी क्रम में प्रशिक्षुओं को उनके बौधिक ज्ञान को बढाने के लि कृषि विज्ञान केंद्र गनिबा चित्रकूट का भ्रमण भी कराया गया।

कहा कि प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं से प्रायोगिक अध्ययन के द्वारा विभिन्न पादप अपशिष्टों व अन्य कृषि अपशिष्टों से केंचुआ खाद निर्मित करने की विधि बताई जा रही है। सहायक प्रशिक्षक व मृदा विज्ञान के डा देव कुमार ने बताया कि केंचुआ खाद के प्रमुख घटक, केंचुए की प्रजाति और तैयार उत्पाद की छंटाई जैसी मुख्य जानकारी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जिससे कृषक आसानी से अपने प्रक्षेत्र पर इसका उत्पादन करके प्रयोग कर सकें।

कृषि प्रसार विभाग के विभागाध्यक्ष डा भानु प्रकाश मिश्रा ने बताया कि मिशन एकीकृत औद्यानिक विकास योजना, सुपारी एवं मसाला विकास निदेशालय कोचिकोड केरल के द्वारा वित्त पोषित तथा एग्रीकल्चर स्किल काउंसिल इंडिया द्वारा प्रमाणित प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य केंचुआ खाद उत्पादन कर रोजगार सृजित करना तथा कृषि अपशिष्ट का उपयोग कर अधिक मुनाफा कमाना है। यह प्रशिक्षण मुख्य रूप से कर के सीखें तथा देखकर विश्वास करें के सिद्वांत पर आधारित है।

Covid19 World