गर्म पानी के साथ लें किशमिश, मौजूद एंटीऑक्सीडेंट झट से बढ़ाएगा इम्युनिटी, जानें और भी इसके फायदे

नया लुक डेस्क। कोरोना संक्रमण तेजी से चारों ओर फैल रहा है। ऐसे में अपनी इम्यूनिटी को और ज्यादा मजबूत रखना बहुत जरूरी है। जिसके लिए आपको रोजाना की सामन्य डाइट से थोड़ा आगे बढ़कर प्रयास करने होंगे। ​​लोग ये कर भी रहे हैं। लेकिन इसके लिए कड़वे काढ़े का सहारा सबसे ज्यादा लोगों को है। पर हम आज आपको स्वाद देने के साथ इम्यूनिटी बढ़ाने वाली किशमिश के बारे में बताएंगे। वैसे सूखे अंगूरों को किशमिश कहा जाता है। इसमें जिंक, कैल्शियम, विटामिन और कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर के बेहतर कामकाज के लिए जरूरी हैं। एक अध्ययन के अनुसार, रोजाना एक मुट्ठी किशमिश खाने से कई गंभीर समस्याओं से राहत मिल सकती है। वैसे तो इसे कई तरह से खाया जा सकता है, लेकिन इसे गुनगुने पानी के साथ लें। जिससे आपकी इम्यूनिटी तो बढ़ेगी ही साथ ही और कई तरह के फायदे भी मिलेंगे।

 

इम्यूनिटी बढ़ाने में सहायक : किशमिश खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो इम्यूनिटी को बूस्ट करता है। यह विटामिन सी का बेहतर स्रोत है।

एसिडिटी : बहुत से लोगों को को एसिडिटी की समस्या होती है, उन्हें किशमिश और उसके भिगोए पानी का सेवन जरूर करना चाहिए। इसमें मौजूद रेशे पेट की सफाई करके गैस से छुटकारा दिलाते हैं। कब्ज एक ऐसी परेशानी है जो शरीर में कई बड़ी बीमरियां पैदा करने की वजह होती है लगातार कुछ दिनों तक किशमिश के सेवन करने से पेट में पाचन क्रिया सही हो सकती है और कब्ज की परेशानी दूर होती है।

थकान और कमजोरी : सारा दिन कामकाज करने की वजह से थकान होना तो आज कल एक आम बात है। ऐसे में हर रोज सुबह इसके पानी का सेवन करने से शारीरिक कमजोरी और थकान दूर होती है और हमारे शारीर को आराम मिलता है।

आखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक : किशमिश विटामिन ए की कमी पूरी करने के कारण यह आंखों की रोशनी बढ़ाता है।

खून की कमी : जिन लोगों के शरीर में खून की कमी होती है उनके लिए यह बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद आयरन और कॉपर शरीर में खून की कमी को दूर करते हैं। किशमिश पर भी यह लागू होता है। लौह तत्वों के अलावा इसमें बी-कॉम्प्लेक्स भी होने के कारण शरीर इसे अच्छी प्रकार से अवशोषित कर पाता है। इस प्रकार एनीमिया ठीक करने में यह बेहद कारगर होता है।

शरीर में आती है ताकत : किशमिश शरीर में पाचन क्रिया को नियमित करता है जिससे शरीर को भोजन के सभी पोषण मिलते हैं। इससे शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है ।

मजबूत हड्डियां : किशमिश हड्डियों को भी मजबूत बनाने में सक्षम होती है। जोड़ों के दर्द, घुटनों के दर्द के लिए किशमिश का सेवन करना काफी लाभदायक रहेगा।

लीवर बनता है मजबूत : किशमिश हड्डियों को मजबूत ही नहीं करती है बल्कि इसमें मौजूद विटामिन ए, विटामिन बी कंपलेक्स और सेलेनियम शरीर में होने वाले गुप्त रोगों, कमजोर लीवर और कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाने का काम करते हैं।

पाचन रहता है दुरुस्त : अगर आप पाचन तंत्र की समस्या से परेशान रहते हैं तो इसमें फाइबर की मात्रा होने के कारण या पाचन को दुरुस्त करता है।

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में सहायक : किशमिश में फाइबर के साथ और भी कई अन्य तत्व मौजूद होते हैं जो कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करते हैं और दिल की बीमारियों से भी बचाव करते हैं। हाई ब्लड प्रेशर के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है। इसमे पाए जाने वाला पोटैशियम तत्व हाइपरटेंशन से बचाव करता है।

इसका जरूर रखें ध्यान

डायबिटीज में किशमिश के सेवन से थोड़ा परहेज करना चाहिए। किशमिश खाने से न सिर्फ ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है बल्कि डायबिटीज का खतरा भी बढ़ सकता है। शुगर के मरीजों को ड्राई फ्रूट्स का सेवन ही कम करना चाहिए। खासकर किशमिश को खाने से बचना चाहिए। क्योंकि ये ताजा फलों का कांसन्ट्रेटिड फॉर्म होता है। अंगूर और किशमिश में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा में काफी फर्क होता है।