कोरोना काल में प्रदेश हिंसा, बलात्कार और हत्या की घटनाओं में हुआ ‘आत्मनिर्भर’ #अजय कुमार लल्लू

  • प्रदेश बना हत्या व बलात्कार का प्रदेश
  • योगी सरकार जंगलराज का पर्याय, प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त, योगी सरकार मस्त

लखनऊ।   उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि एक तरफ कोरोना काल में बाहर से आये मजदूर भाई, बहन रोटी, रोजी के लिए दर-दर भटक रहे हैं, किसानों और छोटे व्यापारियों की जीविका पर लाॅकडाउन की गहरी मार पड़ी है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में सरकार का इकबाल खत्म हो गया है।

कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है। अपराधी सरकार के संरक्षण में खुले आम अपराध कर रहे हैं जबकि आम नागरिक डरा और सहमा हुआ है। लाॅकडाउन की शुरूआत से अब तक प्रदेश में सैंकड़ों हिंसा, हत्या, बलात्कार की घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन पीड़ित परिजनों को न्याय नहीं मिल रहा है।

उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने कहा कि योगी सरकार अब जंगलराज का दूसरा नाम हो गयी है। बलिया से लेकर बुलन्दशहर, देवरिया से लेकर दादरी तक, चित्रकूट से लेकर कानपुर तक हत्या, हिंसा, बलात्कार की घटनाएं चरम पर हैं। योगी के जंगलराज से सर्वाधिक दलित, पिछड़े वर्ग के लोग प्रताड़ित हो रहे हैं। मैंनपुरी में प्रजापति समाज के तीन लोगों को जलाकर मार दिया गया।

अभी तक अपराधियों पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। अम्बेडकरनगर के टाण्डा में पूर्व ब्लाक प्रमुख के बेटे की गोली मारकर हत्या, जौनपुर में निषाद समाज की बेटी के साथ बलात्कार के बाद हत्या, प्रतापगढ़ में भाजपा के कैबिनेट मंत्री मोती सिंह के संरक्षण में दबंगों और स्थानीय पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से पट्टी के किसानों पर अत्याचार और आगजनी, बलिया में बेरिया से विधायक के गुर्गों द्वारा भूपेन्द्र पटेल की हत्या, हमीरपुर में गड़िया लोहार की आठ वर्षीय नाबालिग बेटी की हत्या, कानपुर में दिनदहाड़े युवा पत्रकार शुभममणि त्रिपाठी की भूमाफियाओं द्वारा हत्या जैसे तमाम घटनाएं प्रदेश में योगी सरकार के जंगलराज का पुख्ता सबूत है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एनसीआरबी और मानवाधिकार आयोग के आंकड़ों के अनुसार योगी सरकार में अपराध के आंकड़ों में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। महिलाओं और दलितों पर हुए अपराधों में प्रदेश पहले नम्बर पर पहुंच गया है। उ0प्र0 में हर दो घंटे में एक बलात्कार का केस दर्ज होता है और दिन भर में लगभग 12 केस दर्ज होते हैं।

वर्ष 2019 में जारी एनसीआरबी की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं के खिलाफ 59445 अपराध दर्ज किए गए हैं तथा प्रतिदिन 162 केस दर्ज हुए हैं। महिला अपराध में 7 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है। प्रदेश सरकार द्वारा महिला अपराध को नियंत्रण करने के लिए कोई कार्ययेाजना सामने नहीं आयी है।

कांग्रेस के प्रवक्ता डा. अनूप पटेल ने बताया कि मैनपुरी की घटना पर कांग्रेस द्वारा भेजे गये प्रतिनिधिमंडल ने अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को सौंप दी है। वहीं अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर अम्बेडकर जनपद के इब्राहिमपुर थानान्तर्गत ग्राम अतरौरा तथा अकबरपुर कोतवाली के अन्तर्गत ग्राम मोहनपुर गिरन्ट में हुई दो अलग-अलग हत्या सम्बन्धी घटनाओं में वस्तुस्थिति की जानकारी प्राप्त करने के लिए कांग्रेस पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल कल जायेगा। जिसमें पूर्व विधायक  माधव प्रसाद, प्रदीप कोरी,  राम कुमार पाल,  सुनील पाठक, रामशिरोमणि वर्मा, अमित वर्मा, सुनील मिश्रा, आरिफ आब्दी शामिल हैं।