सरकारी विभाग ही लगा रहे बिजली वितरण निगम को चूना, हरकत में आए ऊर्जा मंत्री

  • 31 मार्च तक नही किया भुगतान तो कार्यवाही के लिए रहे तैयार
  • विधायक संजय कुमार जायसवाल के सवालों के बाद एक्शन में दिखे ऊर्जा मंत्री,विभागों को थमाई नोटिस

राहुल शुक्ल

बस्ती।जहां तक देखा जाता रहा है बिजली विभाग के प्रबंध निदेशक एवं ऊर्जा मंत्री द्वारा बकाए बिल के भुगतान हेतु नए-नए योजनाओं का उद्घाटन किया जाता रहा है। जिससे सुलभता से जनता के बकाया बिजली के बिल का भुगतान आसानी से कराया जा सके, लेकिन विधुत विभाग के निदेशक महोदय या ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अभी तक अपनी नजर को सरकारी विभागों की तरफ टेढ़ा नहीं किया था। आज जब सदन में बकायेदारों से वसूली की योजनाओं पर बहस चल रही थी उसी समय वहां पर जनप्रतिनिधि के तौर पर मौजूद विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने ऊर्जा मंत्री से कुछ सवालात कर लिए जोकि आम जनता को सिर्फ परेशान करने मात्र से अथवा सरकारी विभागों पर अपनी दृष्टि केंद्रित ना करने की मुख्य वजह था। जिससे विधायक जी के सवालों के बाद ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने लगभग सभी सरकारी बकायेदारों को 31 मार्च तक की नोटिस थमा दिया, और साथ ही साथ यह आदेश भी दे दिया कि यदि 31 मार्च तक सरकारी विभागों के बकाए का भुगतान नहीं किया जाता है तो विभागीय विधिक कार्रवाई के लिए समस्त विभाग तैयार रहें इसमें किसी प्रकार की भी लापरवाही क्षम्य ना होगी ।क्योंकि नित नए योजनाओं को लागू कर जिस प्रकार ऊर्जा मंत्री पावर सेक्टर को ऊपर उठाने की जुगत में लगे हुए हैं वहीं उसी के उलटे सरकारी विभाग उतनी ही बिजली विभाग की लुटिया डुबोने में अपना पूरा सहयोग करते दिख रहे है फिरहाल विधायक संजय जयसवाल का मुख्य मानना था कि यदि विद्युत विभाग अपने साधारण बकायेदारों उपभोक्ताओं से अपने शक्तियों का प्रयोग कर बकाए की वसूली करता है तो क्यों ना सरकारी विभागों के भी बकाया की वसूली को पूरा किया जाए इसी को देखते हुए फिलहाल ऊर्जा मंत्री ने लगभग सभी सरकारी विभागों को 31 मार्च तक की नोटिस थमा दिया है साथ ही साथ ही यह भी आदेश दे दिए हैं कि यदि 31 मार्च तक विभागीय बकाए की धनराशि को जमा नहीं किया जाता है तो विभागीय कार्रवाई के लिए तैयार रहें ।

संजय ने कहा सिर्फ साधारण उपभोक्ताओं पर ही शक्ति क्यो

हाल ही में चलने वाली योजनाओं पर अगर बात करें तो विद्युत विभाग द्वारा कई ऐसी योजनाओं का संचालन किया गया जिसमें आम जनमानस के अवैध कनेक्शनों से लेकर अन्य अवैध कारनामों तक बड़ी संख्या में जुर्माने अथवा कनेक्शन को काटकर करवाई को पूरा किया गया, बावजूद इसके विभागीय अमले के अफसरों ने सरकारी विभागों की सुध तक नहीं ली। जिसके बाद सदन में चर्चा के दौरान ही विधायक संजय जायसवाल ने अपनी बात रखते हुए जनता की समस्याओं को साझा किया साथ ही साथ उन्होंने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से सरकारी विभागों में बिजली के बकाए बिलों के भुगतान हेतु दबाव बनाए जाने के लिए भी सिफारिश की ।जिसके चलते ऊर्जा मंत्री ने लंबी बकाए सूची में आने वाले समस्त विभागों को 31 मार्च तक नोटिस थमा कर बिजली के बकाया के भुगतान का अनुरोध किया,और साथ ही साथ यह भी स्पष्ट किया यदि 31 मार्च तक बकाए का भुगतान नहीं होता है तो समस्त विभागों पर विद्युत विभाग द्वारा नियमों के आधार पर सख्त कार्रवाई भी की जाएगी