पंजाब पुलिस ने खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के तीन सदस्य को किया गिरफ्तार

चंडीगढ। पंजाब पुलिस ने मंगलवार को दावा किया कि उसने सामाजिक-धार्मिक नेताओं को निशाना बनाने और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों की कोशिश नाकाम करते हुए खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया।

डीजीपी ने कहा कि ये तीनों लोग सोशल मीडिया के जरिये एक दूसरे के संपर्क में आए थे।पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने कहा कि पाकिस्तान, सऊदी अरब और ब्रिटेन में स्थित खालिस्तान समर्थित तत्वों की मदद से राज्य के विभिन्न हिस्सों में चल रहे आतंकी-मॉड्यूल का रविवार को भंडाफोड़ किया गया।

गुप्ता ने यहां एक विज्ञप्ति में कहा कि आरोपियों की पहचान पटियाला के निवासी सुखचैन सिंह, मनसा निवासी अमृतपाल सिंह और अमृतसर निवासी जसप्रीत सिंह के रूप में हुई है। उनके पास से प्वॉइंट 32 बोर की एक पिस्तौल के अलावा सात कारतूस मिले हैं।हाल ही में दिल्ली पुलिस ने हरियाणा के कैथल से उनके एक साथी लवप्रीत सिंह समेत फ्रंट के अन्य सदस्यों को गिरफ्तार किया था।

उन्होंने कहा कि इसके बाद वे पाकिस्तान स्थित आकाओं के संपर्क में आए, जिन्होंने उन्हें सामाजिक-धार्मिक नेताओं को निशाना बनाने और पंजाब में शांति में भंग करने के लिये उकसाया। विज्ञप्ति में कहा गया है कि अमृतपाल सिंह ने अपने षडयंत्र को आगे बढ़ाने के लिए सुखचैन और लवप्रीत को प्रेरित किया।उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच में पता चला है कि उनके आकाओं ने भविष्य की तैयारियों के लिये उन्हें पाकिस्तान आने का न्योता दिया था।

इनमें से सऊदी अरब में स्थित एक विदेशी आका ने उन्हें योजना को अंजाम देने के बाद पनाह दिलाने का वादा किया था।
इस संबंध में पटियाला के समाना के सदर थाने में गैर-कानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1967 तथा शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।