कोरोना से संबंधित इन 10 बातों पर दें ध्यान

नया लुक डेस्क। कोरोना वायरस को लेकर हर पल एक नई खबर आपके सामने होती है। इस वायरस के बढ़ते कहर के बीच ये खबरें आप पर गहरा असर डालती हैं। ऐसे में कई खबरें आप तक झूठी भी पहुंचती हैं और आप उन्हें सही समझ लेते हैं। हम आपको ऐसी ही कई चर्चित खबरों के बारे में बताने जा रहे हैं जो हैं तो फेक लेकिन लोगों के द्वारा खूब शेयर की गईं। पढ़ें ये खबरें-

1- कई लाशों वाली इटली शहर की तस्वीर।
सच्चाई – एक फिल्म कांटेजिअन का सीन है।

2- 498/- का जिओ का फ्री रीचार्ज।
सच्चाई – कंपनी ने ऐसा कोई दावा नहीं किया है।

3- कई लोग जमीन पर पडे सहायता के लिए चिल्ला रहे हैं।
सच्चाई – वर्ष 2014 के एक आर्ट प्रोजेक्ट की तस्वीर है।

4- डॉ रमेश गुप्ता की किताब जंतु विज्ञान में कोरोना का इलाज है।
सच्चाई – नहीं है।

5- मेदांता हास्पिटल के डाॅ नरेश त्रेहान की नेशनल इमर्जेंसी की अपील।
सच्चाई – डॉ त्रेहान ने कोई अपील नहीं की।

6- एक कपल की तस्वीर जो 134 पीड़ितों का इलाज करने के बाद संक्रमण का शिकार हो गए।
सच्चाई – तस्वीर किसी डॉक्टर कपल की नहीं है। एयरपोर्ट पर एक जोड़े की है।

7- कोविड 19 कोरोना की दवा।
सच्चाई – यह दवा नहीं, जांँच किट है।

8- कोरोना वायरस का जीवन 12 घंटे तक।
सच्चाई – 3 घंटे से 9 दिन तक।

9- रूस में 500 शेर सड़कों पर।
सच्चाई – एक फिल्म का सीन है।

10- इटली की ताबूत वाली तस्वीर।
सच्चाई – यह 7 वर्ष पुराने एक हादसे की तस्वीर है, कोरोना से इसका कोई संबंध नहीं है।