पुस्तक मेला समितियों की आँनलाइन गतिविधियां

  • नवरात्र पर छाये कलष, वेदी, व्यंजन की रंग
  • प्रतियोगिताओं का दूसरा चरण प्रारम्भ

लखनऊ । राष्ट्रीय पुस्तक मेला समिति और लखनऊ पुस्तक मेला समिति की ओर से संयुक्त रूप से प्रतियोगिताओं व संगोष्ठी इत्यादि की गतिविधियों का 27 अक्टूबर तक आँनलाइन चलने वाला दूसरा चरण आज से प्रारम्भ हो गया। इससे पहले प्रथम चरण में पहली से 11 अक्टूबर तक विविध प्रतियोगिताएं आयोजित की गई थीं। संयोजिका ज्योति किरन ने बताया कि बच्चों के वर्गों में पूर्विका, शाम्भवी, षिवान्या, आयुषी और माही चैबे आदि बच्चों ने नवरात्र के संग विजया दषमी को षामिल करते हुए कलष, वेदी, देवी के विविध रूपों के चित्रों को बनाकर भेजा। महिलाओं के वर्ग में ज्यादा उत्साह दिखा।

मुम्बई से सुधा त्रिपाठी व सृष्टि के साथ ही बिलासपुर की रीता बरसैंया ने कलष और सजी हुई माता की चैकी, नूतन वषिष्ठ ने वेदी की सुंदर तस्वीर, संगीता पाल ने नवरात्र व्यंजन तैयार करके चित्र भेजा। इसके अलावा अवंतिका, निर्मला खत्री, रजनी सोनकर, सुरेखा वर्मा आदि महिलाओं ने भी प्रतिभाग कर चित्र भेजे। महिलाओं के अतिरिक्त युवकों में अनुपम श्रीवास्तव ने भी देवी के दिव्य स्वरूप का अपना बनाया स्केच भेजा।

दूसरे चरण की इन प्रतियोगिताओं के बारे में मेला समिति के मनोज सिंह चंदेल ने बताया कि बच्चों गायन, वादन, नृत्य, लेखक, चित्रकला, फैंसी डेªस आदि के प्रतियोगिताओं के साथ दूसरे चरण में नवरात्र पर कलष सज्जा, रंगोली, पकवान, देवीगीत व भजन गायन, परिधान के संग देवी रूप धारण इत्यादि की प्रतियोगिताएं हैं।

इन प्रतियोगिताओं में 5 से 10 वर्ष, 11 से 15 वर्ष व 16 से 20 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों के संग ही हर आयुवर्ग की महिलाओं का महिला वर्ग भी शामिल किया गया है। प्रतियोगी प्रतियोगिताओं के बारे में मोबाइल नम्बर- 9415910781 में जानकारी ले सकते हैं। प्रतिभागियों को अपनी क्लिप फंक आर्ट बाई हार्ट या स्टूडेण्ट आर्ट बाई हार्ट फेसबुक पेज पर शेयर कर सकते हैं।