प्रतिबंधित होने के बावजूद फ्लाइट में कंगना की फोटो खींचने पहुंचे मीडियाकर्मी, इंडिगो को चेतावनी

प्रमुख संवाददाता

नयी दिल्ली। सुशांत केस में बाद मीडिया में सबसे पहले खबर देने की होड़ पर पिछले कई दिनों से लगातार सवाल उठ रहे हैं। पिछले दिनों इंडिगो की फ्लाइट से चंडीगढ़ से मुंबई जा रही बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की फ्लाइट में फोटोग्राफी के लिए मीडिया कर्मियों के बीच मची अफरातफरी मच गयी थी। इसी बीच विमान में कोरोना प्रोटोकॉल तथा सुरक्षा नियमों का पालन नहीं होने और अफरा-तफरी मचने से नाराज विमानन नियामक डीजीसीए ने इंडिगो को चेतावनी दी है। डीजीसीए ने कहा कि यदि सरकारी नियमों के खिलाफ एयरक्राफ्ट में किसी को भी फोटो लेते हुए पाया गया तो दो हफ्ते के लिए उस रूट पर फ्लाइट के परिचालन को रद्द कर दिया जाएगा।

नागर विमानन महानिदेशालय ने शनिवार को बयान में एयरलाइन कंपनियों को याद दिलाया कि एयरक्राफ्ट रूल्स 1937 के नियम 13 के तहत फोटोग्राफ्री से जुड़ा है, कोई भी व्यक्ति फ्लाइट में फोटो नहीं लेगा। डीजीसीए ने कहा कि अगर कोई फोटोग्राफी करता पाया गया तो उस मार्ग में उड़ान को 2 सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया जाएगा।
डीजीसीए ने जोर देते हुए कहा कि अक्सर देखा गया है कि यथोचित प्रयासों में कमी के कारण एयरलाइंस इन नियमों का पालन करने में नाकाम साबित होती हैं। डीजीसीए ने विमान परिचालकों को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि अब से इस तरह का उल्लंघन होता है तो उस स्थिति में फ्लाइट का परिचालन उस रूट पर अगले 15 दिन के लिए रद्द कर दिया जाएगा.। फ्लाइट के परिचालन को तभी बहाल किया जाएगा जब एयरलाइन कंपनी उल्लंघन के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सभी जरूरी दंडात्मक कार्रवाई करेगी। इससे पहले, डीजीसीए ने इंडिगो को चंडीगढ़-मुंबई की उसकी उड़ान में मीडियाकर्मियों द्वारा सुरक्षा और सामाजिक दूरी के नियमों के कथित उल्लंघन के लिए एक रिपोर्ट सौंपने को कहा था। यह घटना उस वक्त हुई थी, जब उड़ान से कंगना रनौत ने यात्रा की थी। वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘हमने ऐसे कुछ वीडियो देखे हैं जिसमें मीडियाकर्मी बुधवार को 6ई264 उड़ान में एक दूसरे से बहुत सटकर खड़े थे। यह सुरक्षा और सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन की तरह है। हमने विमानन कंपनी इंडिगो को इस घटना पर एक रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

इस मामले पर बयान के लिए पीटीआई-भाषा के आग्रह पर इंडिगो ने कहा, ‘‘हमने 9 सितंबर को चंडीगढ़ से मुंबई के लिए 6ई264 उड़ान से संबंधित मामले में डीजीसीए को अपना बयान दे दिया है। विमानन कंपनी ने कहा, ‘‘हम फिर से दोहराना चाहेंगे कि हमारे पायलट के साथ ही चालक दल के सदस्यों ने तस्वीरें खींचने पर रोक, सामाजिक दूरी का पालन करने और सुरक्षा बनाए रखने के लिए घोषणा करने समेत सभी जरूरी नियमों का पालन किया था। इंडिगो ने कहा कि उसने उड़ान के बाद इस मामले का रिकॉर्ड तैयार करने के लिए जरूरी प्रक्रिया का भी पालन किया।