कानपुर शेल्टर होमः संक्रमित निकली 9 और किशोरियां, हड़कंप

  • संक्रमितों की संख्या 66 पहुंची, प्रशासन के हाथ-पांव फूले

नया लुक ब्यूरो

कानपुर। पिछले कई दिनों से चर्चा में रहा कानपुर राजकीय बालिका संरक्षण गृह से बड़ी खबर ये है कि यहां 9 और किशोरियां संक्रमित निकली हैं। संक्रमित किशोरियों के साथ दूसरी संवासंनियों को भेजने पर शेल्टर होम प्रशासन पर कई बार सवाल उठ चुके हैं। 9 और संक्रमित मिलने के बाद यहां संक्रमितों की संख्या 66 हो गयी है।

कानपुर राजकीय बालिका संरक्षण गृह में सोमवार को 9 और लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। इससे पहले यहां 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव मिली चुकी हैं। इस तरह यहां से अब तक कुल 66 किशोरियां संक्रमित निकल चुकी हैं। कांशीराम संयुक्त चिकित्सालय के कोविड हॉस्पिटल में भर्ती राजकीय बाल गृह बालिका की कई लड़कियों के सैंपल दोबारा जांच के लिए भेजे गए थे. बालिकाओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।

बता दें कि कानपुर शेल्टर होम उस वक्त चर्चा में आया था जब यहां की 57 किशोरियों में से 2 किशोरियां गर्भवती पायी गयी थीं। इनमें से एक लड़की एचआईवी और एक हैपिटाइटिस से संक्रमित निकली। लडकियों के गर्भवती होने के बाद प्रशासनिक हलको में हड़कंप मचा गया और सियासी घमासान की शुरूआत हो गयी। कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी इस प्रकरण पर लगातार योगी सरकार पर हमलावर रही। सपा प्रमुख अखिलेश ने भी इस मुद्दे पर योगी सरकार को जमकर घेरा। वही राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने शेल्टर होम जाकर इस मामले की जांच की और उत्‍तर प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी को नोटिस भेजा था। चौतरफा घिरने और इस मुद्दे पर सरकार की किरकिरी होने के कारण सरकार ने कानपुर के जिला प्रोबेशन अधिकारी अजीत कुमार और शेल्टर होम की अधीक्षिका को पिछले दिनों निलंबित कर दिया था।