आभूषण कारोबारी हत्याकांड: तीन गिरफ्तार, भेजे गए जेल

  •  पुरन्दरपुर थाना क्षेत्र के मदरहा ककटही के इटहिया निवासी गुमशुदा आभूषण कारोबारी के हत्या के मामले

महराजगंज । पुरन्दरपुर थानाक्षेत्र में गुमशुदा आभूषण विक्रेता उमेश वर्मा से लूट के बाद हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गुरूवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। घटना में लूटा गया आभूषण भी बरामद कर लिया गया है।
एसपी प्रदीप गुप्ता ने उमेश वर्मा हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए बताया कि पुरन्दरपुर थानाक्षेत्र के मदरहा ककटही टोला इटहिया निवासी उमेश वर्मा 15 नवंबर से लापता हो गया था।

वह छोटे स्तर पर फेरी लगाकर सोने-चांदी का गहना बेचने का काम करता था। इस मामले में उमेश की पत्नी गीता की तहरीर पर केस दर्ज कर पुलिस द्वारा जांच शुरू कर दी गई। उमेश की पत्नी ने बताया कि उसके पति उमेश फेरी लगाकर छोटे-छोटे आभूषण बेचते थे। पन्द्रह नवंबर को उनके मोबाइल नम्बर पर फोन आया। फोन करने वाले ने बताया था कि उसको कुछ गहना खरीदना है। आप घर आ जाइए। इस फोन काल पर उमेश बैग में करीब डेढ़ लाख रुपये का जेवर लेकर फोन करने वाले के घर के लिए निकले। देर शाम तक वह वापस नहीं आए। फोन करने पर उनका मोबाइल स्वीच आफ बताने लगा।

जांच के दौरान पता चला कि बबलू पुत्र सीताराम नि0 कवलपुर थाना बृजमनगंज ने उमेश को फोन करके गहना खरीदने के लिए अपने घर पर बुलाया था। बबलू व उसके साथी उमेश पुत्र मोतीलाल व शैलेन्द्र पुत्र हरि निवासी कवलपुर टोला कुकरहवरे थाना बृजमनगंज ने लूट की नीयत से उमेश की हत्या कर शव को खुर्रमपुर नर्सरी की झाड़ी मे फेंक दिया। उसका गहना व पैसा लूट लिया। इस मामले में एसओजी प्रभारी शशांक शेखर राय ने भी अपनी टीम के साथ जांच शुरू की।

मोबाइल काल डिटेल रिकार्ड को खंगाला गया। उमेश की हत्या के आरोप में पुरन्दरपुर थानाध्यक्ष आशुतोष सिंह ने मोहनापुर चौराहा से बबलू उर्फ शेरबहादुर पुत्र सीताराम , (35), शैलेन्द्र पुत्र हरि(28) व उमेश उर्फ उमाशंकर पुत्र मोतीलाल (31) को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों की निशानदेही पर उमेश वर्मा का शव और लूटा गया गहना व पैसा बरामद कर तीनों को जेल भेज दिया गया।

 

Covid19 World