कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के 17 मंडलों में किया धरना-प्रदर्शन

लखनऊ। लोकतंत्र की बलपूर्वक हत्या कर संवैधानिक प्रक्रिया को कमजोर करने की कोशिश योगी सरकार कर रही है। प्रदेश में बेवजह जनमानस को प्रताड़ित कर जबरन बिना FIR के फर्जी मुकदमें ठोंककर गिरफ्तार कर जेल में डाल रही है।  कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम की बगैर FIR और फर्जी मुकदमे में असंवैधानिक तरीके से गिरफ्तारी के विरोध में आज अनु0जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष  आलोक प्रसाद के निर्देशानुसार प्रदेश के 17 मंडलों में धरना-प्रदर्शन कर महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से प्रेषित किया गया।

प्रदेश के 17 मंडलों में धरना-प्रदर्शन कर महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन DM को सौपा ज्ञापन

आलोक प्रसाद ने बताया कि संविधान में प्रदत्त अधिकारों के तहत कदम उठाते हैं तो योगी सरकार की पुलिस परेशान व प्रताड़ित कर अंकुश लगातार तानाशाही प्रक्रिया के तहत कार्रवाई करती है जिसमें आज फैजाबाद में अनु0जाति विभाग के उपाध्यक्ष  तनुज पुनिया ज्ञापन देने जा रहे थे जिन्हें बीच में ही रोककर हाईवे पर पटरंगा थाने में रोक लिया गया। इसके अलावा मेरठ में भी अनु0जाति विभाग के पदाधिकारियों के साथ अमानवीय व्यवहार कर उन्हें प्रदर्शन कर ज्ञापन देने से रोका जा रहा है।

आलोक प्रसाद ने बताया कि कानपुर में बदमाशों द्वारा 8 पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या किये जाने पर कार्यक्रम स्थगित कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। उन्होने कहा कि भक्षकों ने रक्षकों पर धावा बोलकर बेरहमी से हत्या कर यह साबित कर दिया है कि योगी सरकार का इकबाल खत्म हो गया है। रक्षक ही असुरक्षित हैं माफियाओं और अराजकतत्वों का बोलबाला है। लगता है कि इन्हें सत्ताधारियों का संरक्षण प्राप्त है। पुलिसकर्मियों की हत्या से योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह खड़ा हो गया है।

सिद्धिश्री बताया कि आगामी 06 जुलाई को अनु0जाति विभाग की कार्यकारिणी की बैठक प्रदेश अध्यक्ष श्री आलोक प्रसाद की अध्यक्षता में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आहूत की गयी है जिसमें विभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद ब्रजलाल खाबरी, अनु0जाति विभाग के प्रभारी प्रदीप नरवाल जी सहित सभी प्रदेश पदाधिकारीगण मौजूद रहेंगे।