पेराई सत्र 2018-19 का गन्ना मूल्य भुगतान न करने पर चिलवरिया चीनी मिल प्रबंधन पर लटकी कार्यवाही की तलवार

गोण्डा। देवीपाटन मण्डल के आयुक्त महेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में आयुक्त शिविर कार्यालय पर गन्ना मूल्य भुगतान, गन्ना पेराई, चीनी उत्पादन एवं चीनी परता आदि की प्रगति, गन्ना सर्वेक्षण की प्रगति तथा चीनी मिलों के सहयोग से कराए गए सैनीटाइजेशन की प्रगति आदि की गहन समीक्षा की गई। बैठक में आयुक्त ने गन्ना पेराई सत्र 2019-20 में गोण्डा जनपद की चीनी मिल मैजापुर की देश में सर्वाधिक चीनी रिकबरी 12.54 प्रतिशत होने पर प्रशंसा की। बैठक में बताया गया कि किसानों के हित में शासन के निर्देशानुसार लाॅक डाउन के समय भी चीनी मिलों द्वारा गन्ना पेराई करके गत वर्ष 773 लाख कुन्तल के सापेक्ष 779.81 लाख कुन्तल गन्ने की पेराई की गई है।

UP में लागू ESMA, 6 महीने तक हड़ताल नहीं कर सकेंगे कर्मचारी

आयुक्त ने गन्ना मूल्य भुगतान पेराई सत्र 2018-19 में जनपद बहराइच की चीनी मिल चिलवरिया पर 3407.79 लाख रूप्यका गन्ना मूल्य भुगतान अभी तक शेष होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देश दिए कि इनके विरूद्ध रिकबरी की कार्यवाही के लिए विवरण तैयार कर उनके समक्ष आगामी 25 मई तक प्रस्तुत किया जाय। इसी प्रकार आयुक्त ने गन्ना मूल्य भुगतान पेराई सत्र 2019-20 में चीनी मिल कुन्दरखी गोण्डा तथा इटईमैदा बहराइच का भुगतान प्रतिशत मात्र क्रमशः 13.82 प्रतिशत एवं 14.43 प्रतिशत होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए इनके विरूद्ध भी कार्यवाही हेतु प्रस्ताव तैयार कर उनके समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त ने इस सत्र में परसेन्डी चीनी मिल का भुगतान प्रतिशत 98.94 होने पर संतोष व्यक्त करते हुए अन्य चीनी मिलों से भी अपेक्षा की है कि इस पेराई सत्र में गन्ना मूल्य का भुगतान शत-प्रतिशत करना सुनिश्चित किया जाय। इस सम्बन्ध में चीनी मिल जरवल रोड बहराइच द्वारा आश्वस्त किया गया कि उनके द्वारा आगामी माह तक गन्ना मूल्य का शत-प्रतिशत भुगतान कर दिया जाएगा।

बैठक में उपायुक्त गन्ना हरपाल सिंह ने बताया कि लाॅक डाउन के समय भी मण्डल की सभी चीनी मिलें चलती रहीं और बिना किसी भेदभाव के समस्त क्षेत्र के गन्ने का क्रय व पेराई हुई। इस दौरान सैनीटाइजेशन एवं सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन किया गया। उन्होंने बताया कि बलरामपुर परसेन्डी और चिलवरिया मिल सैनीटाइजर व एथनाॅल बनाकर तथा दतौली मनकापुर चीनी मिल द्वारा एथनाॅल बनाकर मांग के अनुसार शत-प्रतिशत आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। उन्होने बताया कि चीनी मिलों के सहयोग से मण्डल में 167 गांवों, 31 कस्बों तथा 215 कार्यालयों को भी सैनीटाइज किया गया है। बैठक में उपायुक्त गन्ना हरपाल सिंह, जिला गन्ना अधिकारी गाोण्डा ओपी सिंह, बलरामपुर आर0एस0 कुशवाहा, बहराइच एसके मौर्या तथा चीनी मिलों के प्रबन्धक तथा अन्य प्रतिनिधि व सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।