कराची में स्टॉक एक्सचेंज पर हमला, 4 हमलावरों समेत 7 की मौत

नई दिल्ली। दूसरों के लिए गड्ढे खोद रहा पाकिस्तान खुद भी उसमे गिरकर लहूलुहान है। पाक की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली कराची में सोमवार को करीब सुबह 7 बजे आतंकियों ने हमला बोल दिया। इस हमले में 4 आतंकियों समेत 7 लोग मारे गए हैं। शुरुआती ख़बरों के मुताबिक़, हमलावर पार्किंग लॉट के ज़रिए इमारत में घुसे और रास्ता बनाने के लिए ग्रेनेड फेंके।
इमारत के बाहर पुलिस और रेंजर्स की भारी मौजूदगी है। वहीं नज़दीक के ईदी फाउंडेशन के वॉलिंटियर्स भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। संस्था के प्रमुख फ़ैसल ईदी ने कहा कि उन्होंने दो हमलावरों के शव देखे हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा गार्ड समेत तीन घायल लोगों को सिविल अस्पताल ले जाया गया है।

सिंध के एडिशनल आईजी ग़ुलाम नबी मेनन ने बीबीसी से कहा कि हमलावर सिल्वर कोरोला गाड़ी में आए थे और उन्हें गेट पर ही पुलिस ने रोका था। जहां गोलीबारी भी हुई। उन्होंने बताया कि दो हमलावर बाहर गेट पर ही मारे गए और दो अंदर तक जाने में कामयाब रहे, लेकिन उन्हें भी मार दिया गया है। ग़ुलाम नबी ने कहा कि हमलवार मुख्य इमारत के अंदर नहीं घुस पाए और उनके पास से ग्रेनेड, गोला-बारूद और दूसरे हथियार मिले हैं। हालांकि स्टॉक एक्सचेंज के निदेशक अदिब अली हबीब ने जीओ टीवी से कहा कि हमलावर इमारत के ट्रेडिंग हॉल में भी घुस आए थे और उन्होंने गोलीबारी की। इससे अफरा-तफरी मच गई। उनके मुताबिक़, मरने वालों में स्टॉक एक्सचेंज का एक गार्ड है।

सिंध के गवर्नर इमरान इस्माइल ने ट्वीट कर इस हमले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा, “पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर हमले की कड़ी निंदा करता हूं. इसका मक़सद आतंक के ख़िलाफ़ हमारी कठोर जंग को बदनाम करना है। आईजी और सुरक्षा एजेंसियों को ये सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि मुजरिमों को जीवित पकड़ा जाए और उनके संचालकों को ऐसी सज़ा दी जाए, जो उदहारण बने। हम हर क़ीमत पर सिंध की रक्षा करेंगे.”