अभी भी प्रदेश के 43 लाख लोग कंटेनमेंट जोन में

लखनऊ। कोरोना महामारी को रोकने के लिए प्रदेश में जगह—जगह कंटेनमेंट जोन बनाए गये थे। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस महामारी के प्रकोप से दूर रखने में सुविधा हो। प्रदेश में अब कुल 863 हॉटस्पॉट यानी कंटेनमेंट जोन हैं। जो 485 थाना क्षेत्र में हैं। जहां कुल 7 लाख 80 हजार मकान हैं। इनमें 43 लाख लोग कंटेनमेंट जोन में हैं। यह जानकारी आज उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने जारी की है।

क्या है कोरोना हॉटस्पॉट या कंटेनमेंट जोन

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए कुछ इलाकों को हॉटस्पॉट बनाए गए हैं। ये ऐसे इलाके हैं जहां छह या उससे ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हैं और जहां संक्रमण के तेजी से फैलने की ज्यादा संभावना है। दिल्ली में बुधवार को 20 इलाको और उत्तर प्रदेश के 15 जिलों में 104 हॉटस्पॉट को चिन्हित किया गया है जिन्हें पूरी तरह से सील कर दिया है। फिलहाल ये आदेश 15 अप्रैल तक जारी रहेंगे। इसी के साथ इन दोनों राज्यों में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है।