400 साल का इतिहास लेकिन विकास कोसों दूर

 

  • सांई मुहल्ले में लोग नहीं जानते विकास क्या है?

(मो.अशरफ/बृजराज कुमार)
नया लुक, मऊ। आज पूरी दुनियां एक क्लिक पर उपलब्ध है,। जिस दुनिया मे लोग अंतरिक्ष की सैर सैकड़ों साल पहले कर आये, जहाँ मिनटों में लोग सैकड़ो किलोमीटर की दूरी तय कर लेते है, वहीं यदि आपको शहर जाकर अपनी दिनचर्या चलाने के लिए नदी पार कर जाना पड़ता हो, यदि बीमार व्यक्ति को खाट पर लाद कर ले जाना पड़े तो आप क्या कहेंगे। विश्वास नही मानेंगे लेकिन ये सत्य है,। जी हां हम बात कर रहे है मऊ जिले के एक मुहल्ले की। नाम सांई मुहल्ला। आबादी 200 के आस-पास। 30 से 35 कच्चे मकान जो आज तक प्रधानमंत्री आवास की बाट जोह रहे है। कितने ही सांसद- विधायक और चेयरमैन आये और गए लेकिन विकास का पहिया वही रुका रहा। साई मुहल्ले का इतिहास मऊ जिला बनने से पहले से रहा है, लेकिन आज भी उस मुहल्ले में कोई रास्ता नहीँ है। मुहल्ले के लोग बड़ी कठिनाइयों के साथ किसी तरह नदी के बीचों-बीच घुटने तक पानी से होकर गुजरते है। अगर कोई भी व्यक्ति बीमार पड़ जाये तो उसका इलाज़ कराने वहाँ के लोग चारपाई पर उसे लादकर नदी में लगे पानी से होकर नदी पार आते है । 4 सौ साल से बसे इस मुहल्ले में आज तक कोई विकास ही नहीँ हुआ है। वहाँ न रास्ता है और न ही साफ-सफाई की व्यवस्था नगर पालिका द्वारा करायी जाती है। वहाँ के लोगो ने बताया कि साईं मुहल्ला नगर पालिका क्षेत्र में आता है, जो नदी से ठीक सटे ही है। नदी के उस पार बसे लोगो ने बताया कि साई मुहल्ले में नाली की कोई व्यवस्था नहीँ है और न ही नगर पालिका द्वारा साफ-सफाई करायी जाती है, रास्ता न होने से हम लोगो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और नदी में घुटने तक लगे पानी के बीचों-बीच होकर जाना पड़ता है।

मुहल्लेवासियों ने बताया कि हम लोग मजदूरी का काम करते है और अपने परिवार का पालन पोषण करते है। लोगो ने आरोप लगाया कि चुनाव जितने से पहले यहाँ के चेयरमैन वोट मांगने के लिए साईं मुहल्ले में आते है और चुनाव जीतने के बाद इस मुहल्ले में झांकना भी जरूरी नही समझते है। नदी के उस पार बसे साईं मुहल्ले में आज तक कोई सभासद द्वारा साफ-सफाई नहीँ करायी गयी और नाली निकासी न होने से नाले का पानी घर के बाहर इकठ्ठा हो जाता है। जिससे आने जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस सम्बन्ध में घोसी लोकसभा सांसद हरिनारायण राजभर से दूरभाष पर इसकी जानकारी मांगी गयी तो उन्होंने बताया कि यह मुहल्ला हमारे नालेज में नहीँ था। अब हमारे नालेज में आया उसका जाँच करवाकर मुहल्ले में विकास कार्य करवाया जाएगा।

Covid19 World