पाकिस्तान पर कंगाली पड़ रही भारी, गृह युद्ध’ से बस एक कदम दूर है

  • भारत से दुश्मनी साधते-साधते खुद गर्त में चला गया पाकिस्तान
  • 65 लाख बेरोजगार युवा भारत के लिए भी होंगे पाक जैसे देश के लिए मुसीबत
  • पाकिस्तान में संगठित अपराध बढ़ने का खतरा, भारत में आना चाहते हैं अधिकांश लोग

उमेश तिवारी

काठमांडू/नेपाल। भारत से दुश्मनी साधते-साधते पाकिस्तान (#pakistan) कंगाल हो गया। इतना कंगाल कि अब आटे के लिए देश में जंग चल रही है। दो वक्त की रोटी वहां लोगों को नहीं मिल रही है। भारत (#India) में रहने वाले अपने-अपने परिजनों से बुलाने की गुहार लोग लगा रहे हैं। कई लोग आने का जुगाड़ भी लगा रहे हैं। पाकिस्तान में बढ़ रहा आर्थिक संकट अब बड़े पैमाने पर बेरोजगारी को दावत दे रहा है। इसके कारण पाकिस्तान में स्थिति और भी ज्यादा खराब हो सकती है। विशेषज्ञों को इस बात का डर है कि अगर बेरोजगारी बढ़ती रही तो पाकिस्तान में क्राइम (#Crime) भी बढ़ेगा। पाकिस्तान में 2023 में लगभग 65 लाख बेरोजगार होंगे।

पाकिस्तान में आर्थिक संकट (#EconomicProblem) के कारण सबसे ज्यादा आम लोग परेशान हैं। महंगाई अपने चरम पर है, जिससे लोग खाने-पीने का सामान नहीं खरीद पा रहे हैं। इस बीच बेरोजगारी भी लगातार बढ़ती जा रही है। हर रोज हजारों पाकिस्तानी अपनी नौकरी खो रहे हैं। साल 2023 में भी लाखों लोगों की नौकरियां जाने की आशंका है। पाकिस्तानी अखबार डान की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2023 में बेरोजगारों (#Unemployment) की कुल संख्या 62.5 लाख के करीब हो सकती है। पाकिस्तान में कुल कार्यबल का यह 8.5 फीसदी है।

पाकिस्तान अब कचरे में तलाश रहें पेट भरने का संसाधन

अगर यह आंकड़ा बढ़ता है तो नौकरी (#Job) जाने वालों और नई नौकरी खोजने वालों की संख्या बढ़ेगी। पाकिस्तान की सरकार IMF की शर्तों को पूरा करने के लिए जल्द ही एक मिनी बजट पेश करना चाहती है। ये मिनी बजट पाकिस्तान के लिए एक बड़ा झटका साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए क्यों मिनी बजट में अगर #IMF की सिफारिशें मानी गई तो गैस, बिजली पेट्रोलियम समेत तमाम सामान की कीमतें बढ़ेंगी। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी इस कारण घटेगा। 13 जनवरी के आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान के पास अब सिर्फ 4.6 बिलियन डालर का विदेशी मुद्रा भंडार है।

पाकिस्तान में संगठित अपराध बढ़ने का खतरा

इसलिए सरकार जल्द से जल्द IMF की ओर से पैकेज की उम्मीद कर रही है। पाकिस्तान के सबसे खास मित्र राष्ट्र भी मदद से पीछे हट चुके हैं। ऐसे में तय है कि शहबाज सरकार मिनी बजट को टाल नहीं सकती। मिनी बजट का आना सीधे तौर पर बेरोजगारी में वृद्धि होगी। पाकिस्तान में 25 करोड़ लोग रहते हैं। इनमें से 62.5 लाख वयस्क ऐसे हैं, जो काम करने को तैयार हैं, लेकिन उनके पास कोई नौकरी नहीं होगी। ये आंकड़ा पाकिस्तान में संगठित अपराध बढ़ने का भी खतरा पैदा करेगा। बेरोजगार युवा पाकिस्तान की नाक में तो दम करेंगे ही, लेकिन भारत के लिए भी दिक्कतें पैदा करेंगे।

भारत के लिए भी हो सकती है मुश्किल

पाकिस्तान में आतंकी संगठन भारत के खिलाफ साजिश रचने के लिए ऐसे युवाओं को खोजते हैं जिन्हें थोड़े से पैसे के लालच में आतंकी बनाया जा सके। अगर इतनी बड़ी आबादी बेरोजगार होगी तो इनमें कई लोग ऐसे भी होंगे जो अपने परिवार को पालने के लिए आतंकी बनना स्वीकार करेंगे। 2023 में तो पाकिस्तान के आर्थिक हालत सुधरते नहीं दिख रहे हैं। यानी साल 2024 भी पाकिस्तान के लिए अच्छा नहीं रहेगा। पाकिस्तान में पिछले कुछ महीनों से रिफाइनरी, कपड़ा, लोहा, आटोमोबाइल और उर्वरक से जुड़े उत्पाद बंद होने की कगार पर पहुंच गए हैं।

International

भगवान भरोसे है नेपाल की हवाई यात्रा

प्लेन से नेपाल जाने में डर रहे लोग, पोखरा हादसे के बाद हवाई यात्रा करने वालों की कांप रही है रूह पर्यटन उद्योग को बड़ा झटका उमेश तिवारी काठमांडू / नेपाल । नेपाल विमान हादसे ने नेपाल जाने वाले पर्यटकों के बीच डर बैठा दिया है। लोग पोखरा जाने का अपना प्लान कैंसिल कर रहे […]

Read More
International

कंगाली की राह पर पाकिस्तान

चला था भारत को तबाह करने अब खुद हो गया कंगाल! पाकिस्तान में आंटे के लिए मची घमासान दुनिया देखकर हुई हैरान उमेश तिवारी काठमांडू/नेपाल।  वर्ल्ड बैंक की एक रिपोर्ट कहती है कि पाकिस्तान ने विकास में अपनी क्षमता का इस्तेमाल ही नहीं किया। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान मे लगभग 1500-1600 मेगावाट बिजली सौर ऊर्जा […]

Read More
homeslider International

कर्तव्य पथ पर भारत ने थल से लेकर आसमान तक किया शौर्य-पराक्रम का प्रदर्शन, विभिन्न राज्यों की झांकी रही आकर्षण का केंद्र, देखें तस्वीरें

राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश भर में गणतंत्र दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। ‌ कर्तव्य पथ सांस्कृतिक विविधता और कई अन्य अनूठी पहलों का गवाह बना। इस बार गणतंत्र दिवस पर मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी मुख्य अतिथि थे। गणतंत्र दिवस की परेड में पहली बार केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की पूरी महिला […]

Read More