शांति, प्रेम, सद्भावना और एकता का प्रतीक है तिरंगा

अरुणा देवी कम्प्यूटर सेंटर डड़वा तिवारी बस्ती


बस्ती/रुधौली । अरुणा देवी कम्प्यूटर सेंटर डड़वा तिवारी बस्ती के डायरेक्टर स्वेतांभुज पांडे ने कहा कि तिरंगा शांति, प्रेम ,सद्भावना और एकता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि हमारे महान राष्ट्र को एक संप्रभु,समाजवादी, धर्मनिर्पेक्ष और लोकतांत्रिक गणराज्य के रुप में 26 जनवरी 1950 को देश का संविधान लागू किया था।जिसके बाद से हम एक लंबा सफर तय कर चुके हैं, और आज भारत एक मजबूत और विविध अर्थव्यवस्था,एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और एक जीवंत नागरिक समाज के साथ एक संपन्न लोकतंत्र के रुप में खड़ा है। आज माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अगुआई में देश उन्नति एवं विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा हैं।

हर घर तिरंगा अभियान आजादी का अमृत महोत्सव के तहत भारत की आजादी के 74 साल के गौरवशाली उपलब्धि के उपलक्ष्य में भारत सरकार द्वारा चलाया गया एक अभियान है। 15 अगस्त 2022 को भारत अपनी आजादी का 75 साल पूरा किया। भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए, भारत सरकार ने स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के साथ-साथ भारत के लंबे इतिहास का जश्न मनाने का फैसला किया था। इस राष्ट्रीय त्योहार को मनाने के लिए, विभिन्न कार्यक्रमों की योजना बनाई गई थी, और इस उत्सव को सरकार द्वारा “आजादी का अमृत महोत्सव” नाम दिया गया था। इस उत्सव के तहत होने वाले कार्यक्रमों में से एक “हर घर तिरंगा” है।

हर घर तिरंगा भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित एक अभियान है। यह अभियान आजादी का अमृत महोत्सव के तहत शुरू किया गया है। यह अभियान हर भारतीय से 26 जनवरी को अपने घरों में राष्ट्रीय झंडा फहराने की अपेक्षा करता है। यह सभी देशवासियों में राष्ट्रीय ध्वज के महत्व को फैलाने में मदद करेगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय ध्वज दिवस पर इस अभियान की घोषणा की थी। यह भारतवासियों में ध्वज के प्रति सम्मान व देश के प्रति देश भक्ति की भावना जगाने में मदद करेगा। इस अभियान के दौरान कई प्रेरणात्मक कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। इसका उद्देश्य नागरिकों में देशभक्ति को बढ़ावा देना है। आजादी का अमृत महोत्सव आजादी की 74वीं वर्षगांठ का उत्सव था। जिसके तहत कई कार्यक्रम आयोजित किए गये थे। हर घर तिरंगा अभियान कुछ और नहीं बल्कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत ही एक अभियान है। यह अभियान भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पारित किया गया था। यह अभियान लोगों से 13 से 15 अगस्त 2022 तक अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील किया था । बीते 22 जुलाई 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से इस कार्यक्रम में भाग लेने का अनुरोध किया था। उनके अनुसार “हर घर तिरंगा” अभियान से देशभक्ति की भावना को उच्चतम स्तर तक पहुंचाया जाएगा। यह लोगों के बीच राष्ट्रीय ध्वज के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने में भी सकारात्मक भूमिका निभाया।

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रोत्साहित करना है। इससे न केवल नागरिकों को ध्वज से व्यक्तिगत रूप से जुड़ने में मदद मिलेगी बल्कि राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान भी बढ़ेगा। इस उत्सव केद्वारा स्वतंत्रता सेनानियों को भी सम्मानित किया जा सकता है। इस आयोजन के तहत कई कार्यक्रम और प्रतियोगितायें आयोजित की जायेंगी। किसी देश का आधिकारिक झंडा उस पूरे देश का प्रतीक होता है। यह प्रतीक एक ही छवि में देश के अतीत, वर्तमान और भविष्य को दर्शाता है। जिस तरह एक झंडा किसी देश का प्रतिनिधित्व करता है, उसी तरह हमारा राष्ट्रीय झंडा भारत देश का प्रतिनिधित्व करता है। हमारे लिए हमारे राष्ट्रीय झंडे के बहुत मायने हैं। यह हमें गौरवान्वित महसूस कराता है। हमारे झंडे को और अधिक महत्वपूर्ण बनाने के लिए भारत में एक अभियान “हर घर तिरंगा” शुरू किया गया है।

तिरंगा पर एक नजर

तिरंगा या भारत का राष्ट्रीय ध्वज देश के लोगों के लिए बहुत महत्व रखता है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज शांति, प्रेम और एकता का प्रतीक है। भारत को आजाद कराने में कई स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान गंवाई। यह उनके अमूल्य बलिदान का प्रतिनिधित्व करता है। पहले, झंडे के लिए कई डिजाइन और रंगों का इस्तेमाल किया जाता था। ध्वज का मूल रूप जो आज हम देखते हैं, वह 22 जुलाई 1947 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था। यह पिंगली वेंकय्या द्वारा डिजाइन किया गया था और इसमें केसरिया, सफेद और हरे रंग की तीन समान पट्टियां होती हैं। भारतीय ध्वज संहिता ध्वज के प्रदर्शन और उपयोग को नियंत्रित करती है। राष्ट्रीय ध्वज “तिरंगा” एक स्वतंत्र गणराज्य के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व करता है। हर घर तिरंगा अभियान का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय ध्वज के साथ हमारे संबंध को गहरा करना है। पहले झंडे का इस्तेमाल केवल संस्थागत कार्यों और औपचारिक अवसरों के लिए किया जाता था। घरों और संस्थानों में झंडा फहराने से लोग व्यक्तिगत स्तर पर झंडे से जुड़ सकेंगे। यह अभियान लोगों को हमारे राष्ट्रीय झंडे के महत्व के बारे में जागरूक करने में मदद करेगा।

इस उत्सव को सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि के रूप में भी देखा जा सकता है। हर घर तिरंगा अभियान भारत के नागरिकों के बीच देशभक्ति और राष्ट्रवाद को बढ़ाने में मदद करेगा। यह एक राष्ट्र के रूप में हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाने का भी एक अच्छा तरीका है। परिणामस्वरूप, हमारा हमारे राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान बढ़ेगा। साथ ही, यह अभियान भारतीय नागरिकों को राष्ट्र के प्रति उनकी जिम्मेदारियों की याद दिलाएगा। भारत को आजादी मिलने के बाद पिछले 74 वर्षों में देश ने हर क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति की है। हमारे देश ने ऊपर सूचीबद्ध क्षेत्रों के अलावा विज्ञान और प्रौद्योगिकी, चिकित्सा विज्ञान और कई अन्य क्षेत्रों में भारी प्रगति की है। अब हम अपने विकास के बहुत अच्छे बिंदु पर हैं और इसे मनाने का यह बहुत अच्छा समय है। इस प्रकार, आजादी का अमृत महोत्सव का उत्सव कुछ ऐसा है जिसमें प्रत्येक भारतीय नागरिक को भाग लेना चाहिए और इस पर बहुत गर्व होना चाहिए। एक भारतीय के रूप में इस देश और उत्सव का हिस्सा होने से ज्यादा गर्व की कोई बात नहीं है।  इस अवसर पर टीचर मुन्ना पांडे एवं राम कुमार, विशाल पांडे, आशीष दिवेदी, राम कुमार समेत बड़ी संख्या में छात्र छात्राओं और शिक्षकों ने भाग लिया।

Purvanchal

पुरानी बेस को तोड़े बिना हो रहा था पुल का निर्माण, SP नेता ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

डुमरियागंज-चंद्रदीपघाट मार्ग पर बिथरिया गांव के पास निर्माणाधीन पुल का मामला सिद्धार्थनगर।  करीब 45 करोड़ रुपये की लागत से बन रहा डुमरियागंज-चंद्रदीपघाट मार्ग का निर्माण कार्य अभी पूरा भी नहीं हुआ कि इसके पहले गुणवत्ता सवालों के घेरे में आ गई । सड़क पर बिथरिया गांव के पास बने पुल के पुराने बेस को तोड़े […]

Read More
Purvanchal

CO ट्रैफिक सुनील दत्त दुबे ने उतरवाया मॅडगार्ड, शायराना अंदाज में की कार्रवाई

उमेश तिवारी महराजगंज । सड़क सुरक्षा जागरूकता माह को लेकर रविवार को सीओ ट्रैफिक सुनील दत्त दुबे नगर के मुख्य चौराहा पर वाहन जांच को लेकर सख्त नजर आए। चार पहिया वाहनों में ब्लैक फिल्म व आगे मॅडगार्ड देख सीओ ने गाड़ी रोकी। चालक को दो टूक में निर्देश दिया कि या तो गाड़ी से […]

Read More
Purvanchal

रक्तदान संस्थान से सहायता मिलने के बाद लगातार कर रहा रक्तदान: नवनीत

एक्स-रे टेक्नीशियन की सूचना पर प्रदान हुआ महिला को रक्त प्रतापगढ़। आज रक्तदान संस्थान के अध्यक्ष निर्मल पांडेय के कुशल निर्देशन में संस्थान के सराहनीय कार्यों से प्रेरित होकर नवनीत मिश्रा नामक युवक ने छठवीं बार स्वैच्छिक रक्तदान किया। संस्थाध्यक्ष द्वारा रक्तदाता को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। नवनीत ने कहा कि विगत कुछ […]

Read More