हार से निराश हूं मगर लड़ना नहीं छोड़ूंगा : नडाल

मेलबर्न। आस्ट्रेलिया ओपन में अमेरिकी प्रतिद्धंदी मैकेंजी मैकडानल्ड से मिली हार से निराश राफेल नडाल ने स्वीकार किया है। कि वह चोटों के कारण मानसिक रूप से कमजोर हुये हैं मगर दुनिया भर में अपने लाखों प्रशसंको को विश्वास दिलाते हैं कि वह अपने करियर को आगे बढ़ाते हुये जुझारू प्रवृत्ति को बरकरार रखेंगे। विश्व के नम्बर दो खिलाड़ी नडाल को अमेरिका के मैकेंजी मैकडानल्ड ने बुधवार को छह-चार,छह-चार और सात-पांच से हराया जिसके बाद नडाल का मौजूदा टूर्नामेट में सफल खत्म हो गया। नडाल दूसरे सेट के बाद हिप और लेग इंजरी से परेशान दिखने लगे थे मगर इसके बावजूद उन्होंने पूरा मैच खेला। हालांकि हार के साथ उन्होने इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से विदाई ली। मैच के बाद नडाल ने कहा,कि मैं अपनी चोट में इजाफा किये बगैर खेलना जारी रखता चाहता था। मै मैच को खत्म करना चाहता था। मैकेंजी ने उच्च स्तरीय खेल का प्रदर्शन किया।

एक लंबे अरसे के बाद मैं अपने मौकों के लिये लड़ रहा था मगर नेट के दूसरी ओर मैकेंजी लाजवाब टेनिस खेल रहा था। मै उसके खिलाफ उम्दा प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था और आखिर में मुझे मैच गंवाना पड़ा मगर मैने मैच के अंतिम लम्हे तक पूरी कोशिश की। वर्ष 2009 और 2022 में आस्ट्रेलियन ओपन के विजेता का बांया कूल्हा पिछले कुछ समय से तकलीफ दे रहा है जिसके कारण उन्हे शाट खेलने में परेशानी हो रही है। जाहिर है, दर्द बढ़ने के साथ ही 22 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता को संन्यास लेने के विचार आने लगे थे।

मैकेंजी को जीत की बधाई देते हुये नडाल ने कहा,कि मैं चोट को और बढ़ाने के पक्ष में नहीं था और अपने मैच को खत्म करना चाहता था। हार के बावजूद मेरे प्रशसंकों ने खड़े होकर मेरा अभिवादन किया जो वाकई जोश भरने के लिये काफी था। आप सिर्फ आखिर तक अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर सकते हैं। जो मैने किया। यही खेल का नियम है।मैंने अपने पूरे टेनिस करियर के दौरान इसका पालन करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा,कि  मुझे टेनिस खेलना पसंद है। मुझे पता है कि यह हमेशा के लिए नहीं है मगर आपको चलते रहना होगा। कभी-कभी हार निराशाजनक होती है। कभी-कभी इसे स्वीकार करना मुश्किल होता है।

कभी-कभी आप चोटों के मामले में इन सभी चीजों के बारे में बहुत थका हुआ महसूस करते हैं मगर इसका यह मतलब नहीं निकालना चाहिये कि मैं अपने जीवन के बारे में शिकायत कर रहा हूं। चोट खेल का हिस्सा हैं मगर मैने हिम्मत नहीं हारी है। मैं मानसिक तौर पर मजबूत बने रहने की कोशिश कर रहा हूं। स्पेन के 36 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा,कि मैं उम्मीद करता हूं कि चोट के कारण मुझे लंबे समय तक कोर्ट से बाहर नहीं रहना पड़ेगा। मैं अपने करियर में कई बार इस प्रक्रिया से गुजरा हूं और मैं इसे जारी रखने के लिए तैयार हूं लेकिन यह आसान नहीं है, इसमें कोई संदेह नहीं है।

homeslider Sports

टेस्ट से पहले ही ऑस्ट्रेलिया को लगा तगड़ा झटका, हेज़लवुड पहले टेस्ट से बाहर

कप्तान रोहित के साथ राहुल कर सकते हैं धमाका सूर्या और किशन जैसे बल्लेबाजों की जगह पक्की नहीं ओपनर शुभमन को मध्यक्रम में जगह मिलने की संभावना बेंगलुरु। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जॉश हेज़लवुड भारत के खिलाफ नौ फरवरी से शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच से चोट के कारण बाहर हो गये हैं। क्रिकेट […]

Read More
Sports

मेसी 2026 विश्व कप तक खेलने पर कर रहे हैं विचार

ब्यूनस आयर्स। अर्जेंटीना फुटबाल टीम के कप्तान लियोनेल मेसी ने कहा है कि वह 2026 फीफा विश्व कप में खेलने पर विचार कर रहे है लेकिन उनकी भागीदारी कई बातों पर निर्भर करेगी। इससे पहले मेसी ने कतर में 2022 विश्व कप फुटबॉल के बाद सन्यास की घोषणा की थी। कतर विश्व कप में अर्जेंटीना […]

Read More
Sports

2007 विश्व कप के हीरो जोगिंदर शर्मा ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास

भिवानी। वर्ष 2007 में टी20 विश्व कप विजेता भारतीय टीम के सदस्य जोगिंदर शर्मा ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की। क्रिकेटर से पुलिस अधिकारी ने बने जोगिंदर ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के सचिव को संबोधित एक पत्र में उन्हें प्रदान किए गए अवसरों […]

Read More