मीठा-मीठा गप, कड़वा-कड़वा थू, चीन के शर्मनाक इतिहास से डरते हैं शी जिनपिंग, बदलने के लिए बनाया ये प्लान

उमेश तिवारी


काठमांडू /नेपाल। चीन में एक समय किंग राजवंश का साम्राज्य था। यह दुनिया की सबसे महान शक्तियों में से एक था। एशिया के अंदर तक यह फैला था। इसकी आर्थिक समृद्धि और सैन्य शक्ति से दुनिया जलती थी। लेकिन इसकी सफलता के बावजूद राज्य में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार, कमजोर शासन, आंतरिक विद्रोह और विदेशी आक्रमण हुआ जो इसके पतन का कारण बना। 20 वीं शताब्दी की शुरुआत इस राजवंश के अंत का प्रतीक है। किंग राजवंश की अलगाववादी नीति देश के पतन के लिए जिम्मेदार मानी जाती है। लेकिन अब शी जिनपिंग इतिहास को दोबारा से लिखना चाह रहे हैं। वह राजवंश को महान बताने की कोशिश में जुट गए हैं।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग के वैचारिक और राजनीतिक अधिकार को मजबूत करने के लिए इतिहास को बदलने की कोशिश हो रही है। इस काम के लिए हाल ही में एक इतिहासकार का प्रमोशन किया गया है। इतिहासकार गाओ जियांग को नए साल से पहले चाइनीज एकेडमी आफ सोशल साइंसेज CASS का अध्यक्ष बनाया गया है। CASS शीर्ष राष्ट्रीय अनुसंधान संस्थान है जो कम्युनिस्ट पार्टी की विचारधारा तैयार करता है और नेताओं को नीति निर्माण की सलाह देता है।

विचारधारा के हिसाब से लिखा जाता है इतिहास

द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक चाइनीज एकेडमी आफ हिस्ट्री के 2019 के लान्च पर भी गाओ जियांग अध्यक्ष थे। इस मौके पर शी जिनपिंग ने कहा था कि उनका लक्ष्य चीनी विशेषताओं को बढा़ना है। शंघाई यूनिवर्सिटी आफ पालिटिकल साइंस एंड ला के पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर चेन डायिन ने कहा कि CASS एक एकेडमिक संस्थान होने से ज्यादा चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की विचारधारा तैयार करने वाली संस्थान है। उन्होंने आगे कहा, ‘शी को अपनी विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए चीनी इतिहास को फिर से लिखने वाले विशेषज्ञों की जरूरत है।’

इतिहास बदलती रही है कम्युनिस्ट पार्टी

शी जिनपिंग इतिहास को अत्यधिक विवादास्पद मुद्दा मानते हैं। उन्होंने हमेशा कम्युनिस्ट पार्टी को सूट करने वाली विचारधारा पर जोर दिया है। जब से उन्होंने सत्ता संभाली है, तब से इतिहासकारों पर जोर है कि वह पार्टी की छवि बिगाड़ने वाले इतिहास को मिटा दें। 2016 में अधिकारियों ने जबरन एक राजनीतिक मैग्जीन का प्रबंधन अपने हाथ में ले लिया, जो सही इतिहास की जानकारी छापता था। 2017 में चीन ने आधिकारिक इतिहास को चुनौती देने वालों को दंडित करने के लिए कानून बनाया। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का इतिहास है कि वह लगातार इतिहास को बदलती है।

International

लुंबिनी विकास कोष के उपाध्यक्ष ने किया मोरारी बापू का स्वागत

गौतम बुद्ध का दर्शन पाना मेरे लिए सौभाग्य की बात: मोरारी बापू उमेश तिवारी लुंबिनी/नेपाल। नेपाल के लुंबिनी में रामकथा करने के लिए सोमवार को पहुंचे मोरारी बापू ने भगवान गौतम बुद्ध के जन्मस्थली माया देवी मंदिर का दर्शन किया। बुद्ध जन्मस्थली का दर्शन करने के बाद मोरारी बापू ने कहा कि गौतम बुद्ध की […]

Read More
International National

कनाडा की विदेश मंत्री “मेलानी जोली” का भारत दौरा

शाश्वत तिवारी कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली भारत यात्रा के दौरान अपने भारतीय समकक्ष डॉ. एसo जयशंकर के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगी। मंत्रालय की माने तो दोनों विदेश मंत्रियों के बीच एहम मुद्दों को लेकर द्विपक्षीय वार्ता होगी। कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली भारत की दो दिवसीय यात्रा पर सोमवार को नई दिल्ली […]

Read More
International Purvanchal

बौद्ध धर्म से जुड़े संगठनों ने लुंबिनी में राम कथा के विरोध में किया प्रदर्शन

कई संगठनों ने किया रामकथा प्रवचन का समर्थन उमेश तिवारी नौतनवा /महराजगंज। बौद्ध धर्म से जुड़े संगठनों ने नेपाल के लुंबिनी में होने वाले रामकथा प्रवचन के विरोध में प्रदर्शन किया है। रुपन्देही जिले के भैरहवा में सड़क पर उतर कर बौद्ध धर्म के अनुयायियों ने मंगलवार से होने वाले राम कथा के विरोध प्रदशर्न […]

Read More