Center in action regarding Corona : चीन में हाहाकार के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने की हाईलेवल की मीटिंग, देश में भी लग सकती हैं पाबंदियां

शंभू नाथ गौतम


कुछ दिनों पहले तक देश में कोरोना को लेकर न तो मीडिया में खबरें थी न ही इतने केस आ रहे थे । वहीं पूरे देश भर में लोग इस महामारी को भूल कर निश्चिंत हो गए थे। ‌ लेकिन एक बार फिर कहानी चीन से ही शुरू हुई है। हालांकि इस वायरस ने चीन को पूरी तरह चपेट में ले लिया है। तीन दिनों से चाइना में लगातार हर रोज हो रही हजारों मौतें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बन रहीं हैं। सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहे हैं उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है। चीन में एक बार फिर जबरदस्त दहशत का माहौल है। जिनपिंग सरकार एक बार फिर इस महामारी के आगे नतमस्तक हो गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक घरों, अस्पतालों सड़कों पर चीन में लोग तड़प-तड़प कर मर रहे हैं। चीन के बाद जापान, दक्षिण कोरिया, अमेरिका और ब्राजील में भी कोरोना के नए वैरिएंट ने हाहाकार मचाया हुआ है। चीन से आई रिपोर्ट के बाद केंद्र सरकार 2 दिनों से एक्शन मोड में आ गई है। मंगलवार शाम को केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर आगाह किया। उसके बाद बुधवार दोपहर राजधानी दिल्ली में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने दो घंटे हाईलेवल की मीटिंग की। मीटिंग से जो संकेत मिले हैं वह बता रहे हैं कि आने वाले दिनों में देश में कड़े फैसले सामने आ सकते हैं। ‌

इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि 25 दिसंबर क्रिसमस डे और नए साल के जश्न को देखते हुए केंद्र सरकार एक बार फिर से मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग समेत कई आदेश जारी कर सकती है। बता दें कि भारत में काफी दिनों से लोगों ने मास्क पहनना छोड़ दिया है। मीटिंग में देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की गई। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ भारती पवार समेत स्वास्थ्य विभाग के तमाम अधिकारी मौजूद रहे। इस बैठक में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल, कोविड-19 वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा, ICMR के डीजी डॉ. राजीव बहल, जैव प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव डॉ. राजेश गोखले और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के डॉ. अतुल गोयल शामिल हुए। केंद्र सरकार की मीटिंग के बाद उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड समेत कई राज्य भी कोरोना को लेकर तैयारी में जुट गए हैं। ‌

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा-कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है…

बैठक के बाद मनसुख मंडाविया ने ट्वीट कर बताया कि कुछ देशों में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए एक्सपर्ट के साथ बैठक की। अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधितों को सतर्क रहने और निगरानी तेज करने के निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। मीटिंग के बाद नीति आयोग के डॉ. वीके पॉल ने लोगों से भीड़भाड़ में मास्क लगाने की सिफारिश की है। ये गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों और बुजुर्गों के लिए बेहद जरूरी है। अभी केवल 27% आबादी ने ही बूस्टर डोज ली है।

यह खुराक लेना सभी के लिए अनिवार्य है। उधर, चीन में कोरोना के चलते बिगड़ते हालात को देखते हुए कांग्रेस समेत कुछ राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने चीन ने आने वाली फ्लाइट पर रोक लगाने की मांग की है। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि चीन में कोरोना की स्थिति सचेत करने वाली है। भारत सरकार को जल्द से जल्द चीन से आने वाली सभी फ्लाइट पर रोक लगानी चाहिए। इतना ही नहीं अमेरिका, जापान और कोरिया में बढ़ते हुए केसों को देखते हुए और नए वैरिएंट की आशंका के बीच भारत सरकार को नई कोविड प्रोटोकॉल जारी करना चाहिए। इसके अलावा टीएमसी सांसदों ने भी कोरोना के चलते चीन से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगाने की मांग की है।

स्वास्थ्य मंत्री ने पत्र लिखकर राहुल गांधी से भारत जोड़ो यात्रा रोकने की अपील की…

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने पत्र लिखकर राहुल गांधी से भारत जोड़ो यात्रा रोकने अपील की है। स्वास्थ्य मंत्री के जवाब में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में लिखा, राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा 21 दिसंबर की सुबह पूरी हो गई पर यहां उमड़ी भारी भीड़ से भाजपा एवं मोदी सरकार इतनी घबरा गई है कि स्वास्थ्य मंत्री 20 दिसंबर को राहुल गांधी को राजस्थान में कोविड प्रोटोकॉल की पालना करने हेतु पत्र लिख रहे हैं।

यह स्पष्ट दिखाता है कि भाजपा का उद्देश्य बढ़ते जनसमर्थन से घबराकर भारत जोड़ो यात्रा को डिस्टर्ब करने का है। अशोक गहलोत ने पीएम मोदी की रैली का जिक्र करते हुए लिखा, दो दिन पहले प्रधानमंत्री  ने त्रिपुरा में रैली की थी जहां किसी भी कोविड प्रोटोकॉल की पालना नहीं हुई। कोविड की दूसरी लहर में पीएम ने बंगाल में बड़ी रैलियां की थीं‌। अगर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का उद्देश्य राजनीतिक ना होकर उनकी चिंता जायज है तो उन्हें सबसे पहला पत्र प्रधानमंत्री को लिखना चाहिए था। बता दें कि चीन में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कोहराम फिर से देखने को मिला है। अस्पताल हो या फिर श्मशान संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। हैरत की बात है वायरस के ओमीक्रॉन का जो सब-वैरिएंट त्राहिमाम मचा रहा है।

International National

कनाडा की विदेश मंत्री “मेलानी जोली” का भारत दौरा

शाश्वत तिवारी कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली भारत यात्रा के दौरान अपने भारतीय समकक्ष डॉ. एसo जयशंकर के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगी। मंत्रालय की माने तो दोनों विदेश मंत्रियों के बीच एहम मुद्दों को लेकर द्विपक्षीय वार्ता होगी। कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली भारत की दो दिवसीय यात्रा पर सोमवार को नई दिल्ली […]

Read More
homeslider Sports

टेस्ट से पहले ही ऑस्ट्रेलिया को लगा तगड़ा झटका, हेज़लवुड पहले टेस्ट से बाहर

कप्तान रोहित के साथ राहुल कर सकते हैं धमाका सूर्या और किशन जैसे बल्लेबाजों की जगह पक्की नहीं ओपनर शुभमन को मध्यक्रम में जगह मिलने की संभावना बेंगलुरु। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जॉश हेज़लवुड भारत के खिलाफ नौ फरवरी से शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच से चोट के कारण बाहर हो गये हैं। क्रिकेट […]

Read More
homeslider International

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का दुबई में निधन

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल (सेवानिवृत्त) परवेज मुशर्रफ का दुबई के एक अस्पताल में निधन हो गया है। वह 79 वर्ष के थे। जिओ समाचार चैनल के अनुसार मुशर्रफ के परिवार ने रविवार को इसकी पुष्टि की। पूर्व सैन्य शासक का दुबई के अमेरिकी अस्पताल में बीमारी का इलाज चल रहा था। मुशर्रफ का […]

Read More