एक्सपोर्ट के लिए उठाई चीनी मार्केट में बेंचकर लगाया करोड़ों का चूना!

चीनी मिलों को भुगतान के लिए संघ को दिए गए चेक हुए बाउंस

FIR दर्ज पर संघ के चेक लेने वाले दोषी अफसरों पर नही हुई कोई कार्रवाई


आरके यादव


लखनऊ। चीनी मिलों से एक्सपोर्ट के लिए उठाई गई चीनी को स्थानीय मार्केट में बेंच दिया गया। यह बात सुनने में भले ही अटपटी लगे किंतु सच है। यही नहीं एक्सपोर्ट के नाम पर उठाई गई चीनी के भुगतान के लिए नियमों को ताक पर रखकर जो पोस्ट डेटेड चेक दिए वह भी बाउंस हो गए। फर्म के इस कारनामें से चीनी मिलों को करोड़ों का चुना लगा दिया। इस मामले में अपर मुख्य सचिव गन्ना विकास एवं चीनी ने प्राथमिकी तो दर्ज कराने का निर्देश दिया किंतु चीनी मिल संघ के चेक लेने के दोषी अफसरों के खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

मामला वर्ष 2020-2021 का है। इस वित्तिय वर्ष में चीनी एक्सपोर्ट के लिए टेंडर प्रक्रिया हुई। इस प्रक्रिया में मेर्सस वेंकटेश्वर ग्लोबल प्राइवेट को ठेका दिया गया। विभागीय जानकारों के मुताबिक चीनी एक्सपोर्ट का ठेका लेने वाली फर्म ने चीनी मिल गजरौला, सिमीखेड़ा, तिलहर, नानपारा और सम्पूर्णानगर से चीनी का उठान किया। सूत्रों का कहना है कि फर्म ने चीनी को एक्सपोर्ट करने के बजाए मिलों से उठाई गई चीनी को स्थानीय मार्केट में बेंच दिया। बताया गया है कि उठाई गई चीनी का भुगतान नियमानुसार RTGS  या फिर बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से किए जाने की व्यवस्था है। फर्म ने चीनी भुगतान के लिए संघ को पोस्ट डेटेड चेक दिया। भुगतान के लिए संघ के लिए दिये गये चेक बाउंस हो गया।’

पेराई सत्र में चीनी मिलों का होगा चक्का जाम!

सूत्रों का कहना है कि चीनी एक्सपोर्ट के इस मामले की जानकारी होने पर अपर मुख्य सचिव गन्ना विकास एवं चीनी ने फर्म के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का आदेश दिया। किं तु चीनी मिल सरकारी संघ के दोषी अफसरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। चीनी एक्सपोर्ट में हुए गोलमाल के समय तैनात निवर्तमान एमडी विमल दुबे, प्रधान प्रबंधक हर्षवर्धन कौशिक, अतुल खन्ना समेत कई जिम्मेदार अफसरों में कई रिटायर हो गए तो कई अन्यत्र स्थानांतरित कर दिए गए।। इस सम्बंध में जब संघ के प्रबंध निदेशक रमाकांत पांडेय ने बताया कि इस मामले में शासन व पुलिस स्तर पर कार्रवाई हो रही है। उन्होंने बताया कि शासन ने इस मामले की जांच ईओडब्ल्यू को सौंपी गई है।

एक्सपोर्ट में हुए गोलमाल की EOW की जांच जारी

एक्सपोर्ट के इस मामले की जांच EOW  को सौंपी गई। करीब दो साल पहले सौंपी गई EOW  की जांच अभी जारी है। इस जांच में कार्रवाई करना तो दूर की बात अभी तक किसी से पूछताछ तक नहीं की गई। जांच के बाद दोषी फर्म और संघ के अधिकारियों पर कब तक कार्रवाई होगी। इसको लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। यह मामला संघ के अधिकारियों में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसको लेकर तमाम तरह की अटकले लगाई जा रही हैं।

Raj Dharm UP

CM संवाद से साध रहे हैं ट्रिपल इंजन की सरकार का लक्ष्य

नगर निकायों के चुनावों में प्रबुद्ध सम्मेलन को योगी ने बनया सबसे प्रभावी हथियार बातचीत के साथ विकास योजनाओं की सौगात भी, लखनऊ । नगर निकाय के चुनावों के लिए पिछले दिनों आरक्षण की घोषणा हो चुकी है। शीघ्र ही इस बाबत अधिसूचना भी जारी हो जाएगी। केंद्र एवं प्रदेश की तरह नगर निकायों में […]

Read More
Raj Dharm UP

CM योगी से भेंट कर अभिभूत हुईं मिलिंडा गेट्स, यूपी के ग्रोथ मॉडल को सराहा

भारत ही नहीं दुनिया के लिए मॉडल है उत्तर प्रदेश: मिलिंडा गेट्स संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए BMGF का रचनात्मक सहयोग उपयोगी: CM स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण व कृषि आदि क्षेत्रों में यूपी को लॉजिस्टिक और टेक्निकल सपोर्ट बढ़ाएगा गेट्स फाउंडेशन महिला सशक्तिकरण के लिए CM योगी की नीतियों ने साबित किया महिलाएं भी […]

Read More
Raj Dharm UP

बाबरी विध्वंस की बरसी पर अयोध्या में हाई अलर्ट की घोषणा, चप्पे-चप्पे पर तैनात हुई पुलिस

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में छह दिसंबर यानी बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी को देखते हुए हाई अलर्ट की घोषणा की गई है। बता दें कि आज ही के दिन साल 1992 को बाबरी मस्जिद गिराई गई थी। इस बीच मथुरा में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जहां चप्पे-चप्पे पर पुलिस […]

Read More